विशेष कहानियाँ

2019 की तीसरी तिमाही के 5 शीर्ष मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मुकाबले

सितम्बर 28, 2019

2019 की तीसरी तिमाही में तय हुए सभी ONE Championship मुकाबलों के दौरान रिंग में साल के कुछ सबसे रोमांचक मुकाबले भी हुए। बहुत सी रोमांचकारी लड़ाइयां शक्तिशाली स्ट्राइकिंग, दांतों तले ऊंगली दबा लेने वाले दांव-पेंच और हार के कगार पर पहुंच कर अप्रत्याशित जीत ने एथलीटों जिगर और इच्छा को दर्शाया।

ये हैं जुलाई और सितंबर 2019 के बीच हुई पांच सर्वश्रेष्ठ मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मैच-

#1 टिंग और आबे के बीच कांटे का मुकाबला

हर एक औंस ने ईवी टिंग “ई.टी.” को ONE: MASTERS OF DESTINY में दाइची आबे के खिलाफ मुश्किल शुरुआत से उबारने और साहस के साथ एक रोमांचक मुकाबले में जीत हासिल करने का साहस दिया।

पनक्रेज वेल्टरवेट वर्ल्ड चैंपियन आबे ने अपने तेज दाहिने हाथ का उपयोग करके कीवी-मलेशियाई को पहले स्टेंजा में कैनवास पर गिरा दिया। जब उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी के नजदीक जाने की कोशिश की तो ठोकरों का कुशल इस्तेमाल किया और उसे नीचे दबा दिया। इससे “ई.टी.” लड़खड़ा गया था लेकिन उसकी सहनशीलता ने उसे खेल में बनाए रखा। फिर एक कठोर ओवरहैंड के साथ उसने वापसी की।

मलेशिया के कुआलालंपुर में प्रशंसकों के शोर के बीच उन्होंने शुरुआती फ्रेम के अंत में प्रहारों का बराबर जवाब दिया। अंत में दोबारा शुरुआत करने के बाद कुछ घातक दांव-पेंच और स्ट्राइकिंग से वे आबे से बेहतर स्थिति में आ गए।

टिंग ने एक दाहिने हाथ के वार से अपने विरोधी को गिराते हुए फिर से मोर्चा संभाल लिया। फिर ग्राउंड और पाउंड के साथ और दबाव बना दिया। राउंड में सिर्फ 16 सेकंड बचे होने के कारण उनके मुक्कों ने आबे के बचाव को तोड़ दिया। इससे उन्हें पीछे की ओर ले जाने का मौका मिल गया। फिर रेयर-नेक्ड चोक लगाकर शानदार जीत हासिल कर कुआलालंपुर में जीत का रिकॉर्ड 10-0 पहुंचाया।

#2 अल्वारेज और फॉलेयांग के खतरनाक 136 सेकंड्स

यह मुकाबला आधे राउंड से भी कम समय तक चला। लेकिन एडी अल्वारेज “द अंडरग्राउंड किंग” और एडुअर्ड फॉलेयांग “लैंडस्लाइड” ने  ONE: DAWN OF HEROES पर अपने ONE लाइटवेट वर्ल्ड ग्रां प्री सेमीफ़ाइनल मैच में जबरदस्त एक्शन दिखाया।

फिलीपीनो मनीला में फिलीपीयंस ने अपने घरेलू दर्शकों के सामने धमाकेदार प्रदर्शन किया। इससे पहले की अल्वारेज उसे लो किक से कैनवास पर गिराता उसने अल्वारेज को सख्त बाएं हुक के निशाने पर ले लिया। इससे “अंडरग्राउंड किंग” दर्द से बिलबिला उठा था। इस आघात से उबरने में उसे कुछ सेकंड लगते, लेकिन तब तक फॉलेयांग ग्राउंड और पाउंड के इस्तेमाल करने के लिए खड़ा था।

हालांकि अमेरिकी फाइटर उसके हमले से बच गया। उसने “लैंडस्लाइड” की आक्रामकता का इस्तेमाल करते हुए एक स्वीप मारा और शीर्ष स्थिति हासिल की। इसके बाद अल्वारेज जल्दी आगे बढ़े और फॉलेयांग की पीठ पर चढ़ गए। यहां उन्होंने 2:16 मिनट पर रेयर नेक्ड चोक देकर एक अप्रत्याशित जीत हासिल की।

#3 ताकेनाका ने इस्सा पर उत्कृष्ट संघर्ष से दर्ज की जीत

डाइची ताकेनाका और लिएंड्रो इस्सा “ब्रोडिंयो” ने 2 अगस्त को ONE: DAWN OF HEROES पर बेंटमवेट प्रतियोगिता में जीत के लिए एक-दूसरे पर हर पैंतरे का इस्तेमाल किया। शुरुआती फ्रेम में जमीन पर वे दोनों आगे-पीछे चल रहे थे। ताकेनाका ने मैट पर आक्रामक हमलों से ब्राजीलियाई जीयू-जित्सु विश्व चैंपियन को चौंका दिया। हालांकि इस्सा ने आखिरकार पहल करते हुए अपने सर्वश्रेष्ठ कौशल के साथ उस पर काबू पा लिया।

इवॉल्व प्रतिनिधि को एक सब्मिशन नहीं मिल सकता है। जबकि प्रतिद्वंदी पर तेज स्ट्राइकिंग से ताकेनाका का आत्मविश्वास बढ़ गया। “ब्रोडिन्हो” ने उसे बाहर निकाल दिया लेकिन जापानी एथलीट ने उसे पंच मारना जारी रखा। उसने अंतिम स्टेंजा में अपने प्रतिद्वंद्वी पर छलांग लगाते हुए एक सुपरमैन पंच मारा और फिर ग्राउंड पर हमलों के साथ एक आकर्षक लड़ाई खत्म हुई।

#4 शानदार फ्लाइवेट सेमीफाइनल

प्रशंसकों को डैनी किंगड “द किंग” और रीस मैकलेरन “लाइटनिंग” के बीच 15 मिनट का बवंडर देखने की उम्मीद थी। ONE: DAWN OF HEROES के मंच पर ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री सेमीफाइनल प्रतियोगिता में उन्हें यह देखने को मिला।

वुशू स्टाइलिस्ट किंगड ने जल्दी-जल्दी अपने भारी हमले करने की कोशिश की, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई ग्रैप्लर की कुश्ती और बीजेजे एक्यूमैन ने उन्हें मैट पर मुकाबला करने का आमंत्रण दिया और पहले और दूसरे राउंड में कई सब्मिशन के प्रयासों के साथ चुनौती दी।

टीम लाकी का व्यक्ति हर मुश्किल स्थिति से बच गया लेकिन पांच मिनट शेष रहते उसे जीत के लिए कुछ विशेष करने की जरूरत थी। मॉल ऑफ एशिया एरिना में अपने हमवतन की खुशी के लिए उन्होंने यही किया।

टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने के लिए उन्होंने उग्रता को बढ़ाया, स्थिति के खेल को नियंत्रित किया और रेजर-थिन विभाजित निर्णय के लिए अंतिम घंटी तक ग्राउंड और पाउंड का लगातार कठोर प्रहार ने उसे ढीला कर दिया।

#5 रोथना और बलार्ट ने रिंग में जीत के लिए लगाया हर दाव

ONE: DREAMS OF GOLD में फ्लाइवेट मुकाबले में चान रोथना के स्ट्राइकिंग गेम ने गुस्तावो बलार्ट “एल ग्लेडियाडोर” के उत्कृष्ट आक्रामक हमलों को काफी हद तक रोके रखा। कम्बोडियन ने हर मौके का फायदा उठाने की कोशिश की लेकिन ओलंपिक पहलवान का क्लोज-रेंज गेम बहुत मजबूत था। पहले दो राउंड में उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी को रिंग के चारों तरफ फेंका।

हालांकि सेलपाक के व्यक्ति ने अपनी कुन खमेर क्षमता से विश्वास नहीं खोया और धैर्य ताकत ने उन्हें जीत की राह दिखाई। “एल ग्लेडियाडोर” के निरंतर आक्रमण ने उन्हें अंतिम राउंड में फीका कर दिया। रोथाना में अभी भी मुकाबला करने की ताकत थी।

उसने अपने क्यूबा के प्रतिद्वंद्वी को मात देने के लिए मुक्कों, किक, घुटनों और कोहनी के प्रहार करने शुरू कर दिए। इसने किसी तरह उसे अंतिम घंटी में पहुंचा दिया। रोथना का देर से वापसी करना उनके लिए भारी पड़ गया। यह जजों के स्कोरकार्ड में दर्ज हो गया और प्रतियोगिता को निर्णय से जीतने के लिए काफी था। इसे आने वाले कई सालों तक याद किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: ONE: CENTURY PART II के नायकों के 5 बेहतरीन प्रदर्शन