मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

साल 2020 के पहले 3 महीने के टॉप-5 मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मुकाबले

साल 2020 के पहले 3 महीने में ONE ने 4 इवेंट्स का आयोजन किया है और हर इवेंट के मैच कार्ड से हमें जबरदस्त मार्शल आर्ट्स एक्शन देखने को मिला।

बैंकॉक में हुई साल की शुरुआत और सिंगापुर में आयोजित हुए हालिया इवेंट तक ONE एथलीट्स ने साल के पहले 3 महीने में अपना बेस्ट प्रदर्शन करने की कोशिश की है।

हम जनवरी से लेकर मार्च तक ग्लोबल स्टेज पर किए गए मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट्स द्वारा टॉप-5 प्रदर्शन से आपको अवगत कराने वाले हैं।

#1 कोयोमी मत्सुशीमा vs किम जे वूंग

ONE: WARRIOR’S CODE में कोयोमी मत्सुशीमा को खुद को बेहतर प्रतिद्वंदी के रूप में साबित करना था और “द फाइटिंग गॉड” किम जे वूंग पर स्टॉपेज से जीत दर्ज कर ऐसा करने में सफलता प्राप्त की है।

मार्टिन “द सीटू-एशियन” गुयेन के खिलाफ ONE फेदरवेट वर्ल्ड टाइटल मुकाबले में हार के बाद जापानी स्टार की रिंग में वापसी हुई थी और चैंपियनशिप मैच में मिली हार के बाद उन्होंने खुद को कमजोर नहीं पड़ने दिया, इसी कारण शानदार स्ट्राइकिंग और ताकतवर रेसलिंग गेम के सहारे उन्हें अपने दक्षिण-कोरियाई प्रतिद्वंदी पर जीत मिली थी।

ये एकतरफा मुकाबला तो बिल्कुल नहीं था क्योंकि “द फाइटिंग गॉड” ने खुद को कभी कमजोर नहीं पड़ने दिया और कई बार दमदार स्ट्राइक्स के सहारे उनकी इस मैच में वापसी भी हुई।

खैर, दूसरे राउंड के अंतिम क्षणों में मत्सुशीमा ने अपने प्रतिद्वंदी को राइट हैंड लगाकर मैट पर गिराने में सफलता पाई और काफी हद तक ये नॉकडाउन मैच का निर्णायक पहलू भी साबित हुआ। उसके तुरंत बाद दोबारा राइट हैंड से किम एक बार फिर नीचे गिर पड़े और इस बार मत्सुशीमा ने मौके को भुनाते हुए ग्राउंड एंड पाउंड अटैक किया और इस फेदरवेट कॉन्टेस्ट को जीता।

ये भी पढ़ें: शानदार जीत के बाद टोनन और थान ली का सामना करना चाहते हैं मत्सुशीमा

#2 जोशुआ पैचीओ vs एलेक्स सिल्वा

ONE: FIRE AND FURY में हुए ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड टाइटल मुकाबले में जोशुआ “द पैशन” पैचीओ और एलेक्स “द लिटल रॉक” सिल्वा आमने-सामने आए। बेस्ट स्ट्राइकर और बेस्ट ग्रैपलर के बीच 5 राउंड तक चले इस धमाकेदार मुकाबले ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींचने में सफलता पाई।

एक तरफ डिफेंडिंग वर्ल्ड चैंपियन पैचीओ पंच, किक्स और नी स्ट्राइक्स पर ज्यादा ध्यान दे रहे थे, वहीं सिल्वा का लक्ष्य अपने प्रतिद्वंदी को ग्राउंड गेम में हराने का था।

अटैक करते समय “लिटल रॉक” को कई बार स्ट्राइक्स झेलनी पड़ रही थीं लेकिन उन्होंने आगे बढ़ना नहीं छोड़ा और “द पैशन” को सबमिशन के प्रयासों से खुद को बचाने के लिए मजबूर किया।

ये कह पाना मुश्किल था कि मैच चैंपियन के पक्ष में जाने वाला है या चैलेंजर के पक्ष में लेकिन आखिर में Team Lakay की दमदार स्ट्राइक्स निर्णायक साबित हुईं उन्हें विभाजित निर्णय से जीत मिली।

ये भी पढ़ें: जोशुआ पैचीओ ने वर्ल्ड टाइटल डिफेंड करने के लिए सामने आईं चुनौतियों के बारे में बात की

#3 डैनी किंगड vs शी वेई

ONE Warrior Series से आए “द हंटर” शी वेई ने डेवलपमेंट लीग में अपने हर एक प्रतिद्वंदी को हार का स्वाद चखाया था। लेकिन डैनी “द किंग” किंगड को ONE: FIRE AND FURY में डेब्यू कर रहे उभरते हुए सितारे का सामना करने में कोई डर महसूस नहीं हो रहा था।

Team lakay के स्टार को अपने चीनी प्रतिद्वंदी की ताकत के सामने ज्यादा दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ा। वेई एक बार अटैक कर रहे थे तो किंगड सूत समेत उसका जवाब दे रहे थे। पहले राउंड में उन्होंने लेफ्ट हुक से वेई क्षति पहुंचाई, लो किक्स से तंग किया और नीचे गिराने में भी सफलता पाई।

“द हंटर” खुद भी आक्रामक रुख अपनाए हुए थे, हालांकि उन्हें वुशु स्पेशलिस्ट की किक्स से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आखिरी राउंड में उनके पास जितनी भी एनर्जी बची हुई थी उसका पूरा इस्तेमाल किया।

आखिर में ये उन्हें जीत दिलाने के लिए नाकाफी साबित हुआ और किंगड ने सर्वसम्मत निर्णय से जीत दर्ज की।

#4 टिफनी टियो vs अयाका मियूरा

ऐसे बहुत कम ही एथलीट रहे हैं जो अयाका मियूरा के स्कार्फ होल्ड सबमिशन मूव से बाहर निकलने में सफल रहे हों लेकिन ONE: KING OF THE JUNGLE में टिफनी “नो चिल” टियो ने जापानी ग्रैपलर के सबमिशन मूव्स से लगातार खुद को बचाए रखा और जबरदस्त अंदाज में वापसी करते हुए मैच को अपने नाम किया।

मियूरा जब अपनी ट्रेडमार्क पोजिशन में आईं तो एक समय ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे मैच पहले राउंड में ही समाप्त हो जाएगा। आर्म-ट्रायंगल चोक के सामने “नो चिल” मजबूती से डटी रहीं।

Tribe Tokyo MMA की प्रतिनिधि दूसरे और तीसरे राउंड में भी आगे बढ़कर टेकडाउन का प्रयास कर रही थीं लेकिन जैसे-जैसे टियो को उन प्रयासों को विफल करने में सफलता मिल रही थी वैसे-वैसे उनका आत्मविश्वास भी बढ़ने लगा था। मियूरा स्कोरकार्ड में आगे रहने की पूरी कोशिश कर रही थीं लेकिन इसी दौरान उन्हें दमदार स्ट्राइक्स का सामना करना पड़ा।

तीसरे राउंड में मैच “नो चिल” के कंट्रोल में आ चुका था और उनकी जापानी प्रतिद्वंदी हार की स्थिति में नजर आने लगी थीं। जब उन्होंने आखिरी बार टेकडाउन का प्रयास किया तो Team Highlight Reel की स्टार ने जबरदस्त तरीके से अटैक किया और मियूरा उससे खुद को बचाने में सफल नहीं हो पा रही थीं। टियो ने ग्राउंड एंड पाउंड अटैक के साथ मैच को अंतिम रूप दिया था।

ये भी पढ़ें: टिफनी टियो ने लंबे समय बाद वापसी और शानदार जीत के बारे में बात की

#5 इत्सुकी हिराटा vs नायरीन क्राओली

ONE: WARRIOR’S CODE में इत्सुकी “स्ट्रॉन्ग हार्ट फाइटर” हिराटा ने अपने अनडिफ़ेटेड रिकॉर्ड को 6-0 पर पहुंचाने में सफलता पाई थी लेकिन ये उनके लिए सबसे कठिन परीक्षा साबित हुई थी।

हालांकि, नायरीन क्राओली को कुछ ही समय पहले पता चला था कि उन्हें जापानी एथलीट हिराटा का सामना करना है। इसके बावजूद वो हिराटा को 3 राउंड तक पुश करने वाली पहली एथलीट बनी थीं। उन्होंने अपनी बेहतरीन किकबॉक्सिंग स्किल्स से पहले राउंड में हिराटा के लिए काफी मुश्किलें खड़ी कीं और यहाँ तक कि उनकी बैक को भी निशाना बनाया।

टोक्यो की उभरती हुई स्टार ने जल्द ही अपने जूडो गेम पर ध्यान देना शुरू कर दिया जिससे कीवी एथलीट संघर्ष करती हुई नजर आने लगी थीं। क्राओली कई बार सबमिशन से हारते-हारते बचीं लेकिन किसी तरह वो मैच को तीसरे राउंड तक खींचने में सफल रहीं।

तीसरे राउंड में क्राओली के पास जितनी भी एनर्जी बची हुई थी, उन्होंने उसका प्रयोग कर मैच में वापसी करने की कोशिश की लेकिन जब हिराटा ने उन्हें टेकडाउन किया तो उनकी आखिरी उम्मीदों पर भी पानी फिर गया था। हिराटा ने अपनी प्रतिद्वंदी को नीचे गिराने के बाद ग्राउंड एंड पाउंड अटैक किया और TKO से जीत दर्ज की और इसी के साथ उनका फिनिशिंग रेट भी 100 प्रतिशत है।

ये भी पढ़ें: इत्सुकी हिराटा मुश्किल वक्त से उबरकर बनीं स्ट्रॉन्ग हार्ट फाइटर