मॉय थाई

सैम-ए ने कड़ी मेहनत के बाद मिली सफलता के बारे में बात की

सैम-ए गैयानघादाओ मॉय थाई इतिहास के सबसे महान एथलीटों में से एक हैं लेकिन अपने 25 साल के करियर में जो उन्होंने त्याग किए हैं, उनके बिना इतनी सफलता नहीं मिल सकती थी।

ONE: KING OF THE JUNGLE में होने वाले पहले ONE स्ट्रॉवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल मुकाबले में थाईलैंड के 36 वर्षीय एथलीट का सामना रॉकी ओग्डेन से होने वाला है। उन्हें टॉप पर पहुंचने के लिए बहुत सी चीजों का त्याग भी करना पड़ा है।

हालांकि, अब वो जानते हैं कि उन्होंने अपने परिवार को गरीबी के दौर से बाहर निकाल लिया है इसलिए Evolve टीम के मेंबर को त्याग का अच्छा फल मिला है।

उन्होंने कहा, “मेरे त्याग मेरे लिए अच्छे ही साबित हुए हैं और ये चीज मुझे हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती रहती है।”

“बचपन में भी मैं फाइट कर पैसा कमाने की कोशिश करता था और उसका फल मुझे अब मिलना शुरू हुआ है।”

9 साल की उम्र में ट्रेनिंग शुरू करने के बाद ही सैम-ए ने अपना लक्ष्य तय कर लिया था। अन्य बच्चों की तरह सैम-ए के जीवन में भी एक समय था, जब वो दोस्तों के साथ मस्ती करना चाहते थे लेकिन सफलता पाने के लिए उन्हें एक ही जगह ध्यान लगाए रखना था।

उन्होंने आगे बताया, “कभी-कभी मेरा भी खेलने का मन करता था लेकिन मैं कभी ऐसा नहीं कर पाया क्योंकि स्कूल के बाद मुझे ट्रेनिंग करनी होती थी।”

“दूसरे बच्चे स्कूल के बाद खेलने जाते थे लेकिन मैंने एक अलग ही रास्ता चुना हुआ था और उसी पर आगे बढ़ना था। जल्दी ही मुझे मेहनत का फल भी मिलने लगा था, केवल 10 साल की उम्र में मुझे एक बहुत बड़े जिम में ट्रेनिंग करने का मौका मिल रहा था।

“मॉय थाई में आज भी मेरे कई दोस्त हैं। मैं फाइट कर पैसे कमा रहा था। मुझे इसमें मजा भी आ रहा था क्योंकि स्कूल में मेरे पास स्नैक्स खरीदने के लिए अपने दोस्तों से ज्यादा पैसे हुआ करते थे इसलिए जिंदगी एक तरीके से सुचारू रूप से चल रही थी। कभी-कभी मेरा भी मन करता था कि मैं दूसरे बच्चों के साथ खेलने जाऊं लेकिन मुझे ट्रेनिंग पर भी ध्यान देना था।”



उस समय सैम-ए लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे, वो लगातार मेलों और त्यौहारों में जाते थे जिससे उन्हें रीज़नल सर्किट पर मौका मिल सके।

इसका मतलब ये था कि वो नया साल, Songkran, Loi Krathong और दूसरे त्यौहार नहीं मना सकते थे क्योंकि एक एथलीट को इस समय अपने करियर के सबसे व्यस्त कार्यक्रम से गुजरना होता है।

उन्होंने माना, “किशोरावस्था में मुझे कभी-कभी अपने दोस्तों से जलन होती थी।”

“वो कॉन्सर्ट में जाया करते थे और मुझे जल्दी सोना होता था लेकिन हमेशा मैं इस सोच को दूर करने में सफल रहा। वो सभी त्याग मेरे लिए अच्छे ही साबित हुए हैं और मैं कभी भी बाहर जाकर फाइट कर सकता था। वैसे भी मुझे बाहर घूमना ज्यादा पसंद नहीं है इसलिए मेरे लिए खुद को बाहर जाने से रोक पाना आसान था। मुझे अकेले में खुद के साथ समय बिताना ज्यादा पसंद है।”

वो एक ही चीज पर फ़ोकस कर आगे बढ़ रहे थे लेकिन अपने करियर में आगे बढ़ने के लिए साकोन नाखोन से बैंकॉक शिफ्ट होना उनके लिए बिल्कुल भी आसान नहीं था। इस बार वो ना तो मस्ती कर सकते थे और इसके साथ-साथ उन्हें परिवार से भी दूर रहना पड़ रहा था।

इतनी मुसीबतें भी उनके बड़े मार्शल आर्टिस्ट बनने के सपने को तोड़ने के लिए नाकाफ़ी साबित हो रही थीं।

उन्होंने कहा, “बैंकॉक शिफ्ट होना मेरे लिए सबसे कठिन परिस्थितियों में से एक था। मैं अपने परिवार से दूर था और एक अलग ही वातावरण में आकर रहना भी मुश्किल था।”

“मैं प्राकर्तिक दृश्यों को याद कर रहा था और बैंकॉक के ट्रैफिक की आवाज मुझे बिल्कुल भी पसंद नहीं थी। वो मेरे लिए काफी कठिन समय था और मैं हमेशा अपने बच्चों और बीवी के बारे में सोचता रहता था। ये मेरे लिए बहुत बड़ा मौका था और घर पर रहकर मैं कुछ हासिल नहीं कर पाता इसलिए मुझे उनसे दूर रहना ही पड़ा।

“मुझे खुद को हमेशा ये याद दिलाना होता था कि मैं यहाँ काम के लिए आया हूँ और जैसे ही मेरा मैच होगा उसके बाद मैं करीब 1 हफ्ते तक घर जा सकूंगा। ये चीजें मुझे लगातार प्रोत्साहित कर रही थीं और ये ही चीजें थीं जिनके ऊपर मैं निर्भर था।”

इस मेहनत और प्रतिबद्धता के कारण वो वर्ल्ड चैंपियन भी रहे हैं और शायद ही कोई दूसरा एथलीट उनकी महानता की बराबरी कर पाए। फिर एक ऐसा भी समय आया जब उनका करियर आगे बढ़ने के बजाय पीछे का रुख करने लगा था और उन्हें Evolve टीम में एक नई जॉब ऑफर की गई।

इस बार उन्होंने थाईलैंड से सिंगापुर का सफर कोचिंग देने के लिए तय किया था लेकिन अपने परिवार से दूर रहने के बजाय सैम-ए का कहना है कि अब उन्हें पहले से कहीं अधिक अच्छा महसूस हो रहा है।

उन्होंने कहा, “मैं Evolve टीम में Petchyindee Academy से ज्यादा अच्छा महसूस कर रहा हूँ क्योंकि मैं अपने परिवार के साथ वीडियो चैट कर सकता हूँ और तस्वीरें भी भेज सकता हूँ। मैं अपनी पत्नी और बेटियों को भी देख पाता हूँ।”

एक तरफ वो रोज अपनी बेटियों को याद करते हैं, वहीं आज भी जारी इस त्याग से वो अपने परिवार के सपनों को पूरा कर सकते हैं। इसी त्याग से उन्होंने दो ONE Super Series वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किए हैं और ONE: KING OF THE JUNGLE में वो इस फेहरिस्त में तीसरा वर्ल्ड टाइटल भी जोड़ सकते हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे लगातार अपने त्याग का फल मिलता आया है और ये चीज मुझे आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती रहती है।”

“मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूँ लेकिन मुझे अपने परिवार के बारे में ज्यादा नहीं सोचना होगा। इसी तरह मैं लगातार कड़ी मेहनत करते हुए आगे बढ़ सकता हूँ और यही चीज मुझे खुशी भी प्रदान करती है।”

ये भी पढ़ें: ONE: KING OF THE JUNGLE के स्टार्स के टॉप-5 प्रदर्शन