मॉय थाई

कैसे एक बेहद गंभीर चोट से उबरकर वापसी करने को तैयार हैं सवास माइकल

पिछले साल लगी गंभीर चोट से उबरने में सवास “द बेबी फेस किलर” माइकल को काफी संख्या में फिज़िकल और भावनात्मक समस्याओं से जूझना पड़ा है। लेकिन अब ONE Super Series मॉय थाई स्टार ONE: WARRIOR’S CODE में वापसी के लिए तैयार हैं।

शुक्रवार, 7 फरवरी को इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में उनका सामना टाईकी “साइलेंट स्निपर” नाइटो से होने वाला है और उन्हें भरोसा है कि वो इतनी समस्याओं से जूझने के बाद अब पहले से कहीं अधिक बेहतर स्थिति में खड़े हैं।

पिछले साल अगस्त में हुए ONE: DREAMS OF GOLD में लर्डसीला फुकेत टॉप टीम के खिलाफ मैच के दूसरे राउंड में उनकी कोहनी की हड्डी डिसलोकेट हो गई थी लेकिन अब वो वापस ग्लोबल स्टेज पर अपनी स्किल्स को दिखाने का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं।

Savvas Michael makes his entrance at ONE: DREAMS OF GOLD

माइकल ने कहा, “ये सब मेरे लिए किसी सबक की तरह था और इसने मुझे कई सारी चीजें सीखने में मदद की है।”

“इससे पहले मेरी मानसिकता यही थी कि मुझे वर्ल्ड टाइटल के करीब पहुंचना है लेकिन अब मैं एरीना में वापसी कर अपनी स्किल्स का प्रदर्शन करने का मौका मिलने से केवल खुशी जताना चाहता हूँ।”

माइकल को ये चोट बैंकॉक में लगी थी जब उन्हें थाईलैंड के लैजेंड सुपरस्टार ने अजीब से तरीके से नीचे गिराया था।

“द बेबीफेस किलर” को तुरंत एहसास हो चुका था कि उनके साथ कुछ बड़ी घटना घटित हो चुकी है और जब उन्हें ये पता चला कि उनकी चोट कितनी गंभीर है तो उन्हें बहुत बुरा महसूस हुआ। हालांकि, जब उन्होंने आगे बढ़ने के लिए सिर हिलाया तो उनके बर्ताव में बदलाव देखा गया और उन्होंने सही दिशा में मूव करना शुरू कर दिया।

उन्होंने बताया, “जब मैं गिरा तो मुझे बहुत दर्द हो रहा था लेकिन उस समय एक बार के लिए मेरा दिल टूट सा गया था क्योंकि मुझे पता था कि मैं गंभीर चोट का शिकार हो चुका हूँ।”

“मैच में उस तरह हारना ज्यादा बड़ी बात नहीं थी, इससे आगे उस चोट से उबरने के लिए मुझे लंबा सफर तय करना था। शुरुआत में मैंने इसे कुछ ज्यादा ही गंभीरता से ले लिया था। पहले 2 हफ़्तों तक मैं किसी को खुद से बात भी नहीं करने दे रहा था, मैं परेशान था और काफी गुस्सा भी आ रहा था।

“लेकिन उन 2 हफ़्तों के बाद मैंने नए सिरे से सोचना शुरू कर दिया और जब भी मैं इस चोट के बारे में सोचता तो मुझे कुछ नया सीखने को मिलता। मैंने कई ऐसी चीजें कीं जो मुझे नहीं करनी चाहिए थीं, इसलिए जब आज मैं पीछे मुड़कर देखता हूँ तो मुझे कभी भी अच्छा नहीं लगता कि वो आखिर क्यों हुआ लेकिन इसने मुझे ताकत भी दी है।”



माइकल वापस साइप्रस गए, अपने परिवार और दोस्तों से मिले और मॉय थाई से एक लंबा ब्रेक लिया। वहाँ उन्होंने कड़ा रिहैब प्रोसेस शुरू किया और इस दौरान वो एक दिन में फिज़ियोथेरेपी सेशंस लेते थे।

मानसिकता में बदलाव, मार्शल आर्ट्स के प्रति उनका समर्पण और उनके करीबियों के साथ ने उन्हें इस चोट से उबरने में बहुत मदद की।

उन्होंने बताया, “मैं शुरू में बहुत परेशान था और मेरे दिमाग में केवल बुरी चीजें आया करती थीं लेकिन मैंने खुद को समझाया कि ऐसे बुरे विचार उन्हें ठीक नहीं कर पाएंगे, उन्हें अच्छा सोचना होगा।”

“मुझे स्पोर्ट से कुछ समय दूर रहना था, अपने परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताकर खुद को अच्छा महसूस कराना था, मैं रोज फिज़ियोथेरेपी सेशंस ले रहा था और वो डॉक्टर मुझे तब से जानते थे जब मैं छोटा बच्चा हुआ करता था। कभी-कभी एक ही दिन में 2 फिजियोथेरेपी सेशंस ले रहा था, इससे उबरने के लिए नहीं बल्कि हाथ को दोबारा से पहले स्थिति में लाने के लिए।

“करीब डेढ़ महीने तक मैं अपने हाथ को सीधा नहीं कर पा रहा था इसलिए इससे मेरी परेशानी बढ़ने लगी थी लेकिन मैंने उम्मीद नहीं छोड़ी और कुछ समय बाद ही लाभ नजर आने लगा। ये रिकवरी प्रोसेस बहुत मुश्किल था लेकिन घर पर मेरा साथ देने के लिए कई लोग मेरे साथ थे।”

 

जब वो इस चोट से उबर रहे थे और इसके कारण उन्हें ट्रेनिंग और रिंग से भी दूर रहना पड़ा लेकिन इस दौरान उन्हें अपनी प्रोफेशनल और पर्सनल चीजों के बीच अंतर करने में बहुत मदद मिली है।

मॉय थाई के लिए उनका प्यार बढ़ा ही है, वो जानते थे कि बैंकॉक में वापसी कर अपना बेस्ट प्रदर्शन देने के लिए उन्हें कुछ बदलाव करने होंगे।

उन्होंने कहा, “उस ब्रेक ने मेरी काफी मदद की है। मैंने घर पर पार्टी की लेकिन मुझे एहसास हुआ कि मैं ऐसा तो नहीं हूँ और इन सब चीजों से मैं खुश नहीं था। इस दौर ने मुझे थाईलैंड में बिताई जिंदगी को समझने में मदद की क्योंकि उस दौर को मिस कर रहा था।”

“लेकिन मेरा शरीर पूरी तरह थका हुआ था और अपनी बॉडी की बिल्कुल भी नहीं सुन रहा था। थाईलैंड में ट्रेनिंग और फाइट यही हमारा शेड्यूल होता है। मैच से पहले मैंने अपनी माँ को फोन किया और कहा कि मैं नहीं जानता कि जो शेड्यूल मैंने प्लान किया था उसके साथ मैं आगे कैसे बढ़ सकूंगा।

“अगर मुझे आगे दोबारा कभी ऐसा महसूस हुआ तो मैं अपने मैनेजर से ये बात साझा करूंगा। मुझे ब्रेक चाहिए, 1 या 2 हफ़्तों की छुट्टी जिससे मैं घर जाकर खुद को फ्रेश फील करवा सकूं।

“इस समय मुझे कई लोगों के बारे में पता चला। कुछ लोग तभी आपके करीब रहते हैं जब आप जीत रहे होते हैं लेकिन मेरी माँ, मेरे जिम पार्टनर्स, फिज़ियोथेरेपिस्ट और मेरे दोनों बेस्ट फ्रेंड्स हमेशा मेरा साथ देते आए हैं। अब जब मैं वापस आ चुका हूँ तो मैं कम लोगों से संपर्क में रहने की कोशिश कर रहा हूँ और मुझे लगता है कि यही मेरे लिए सही है।”

Savvas Michael knees Singtongnoi in their Muay Thai match

“द बेबी फेस किलर” की वापसी हो चुकी है, पहले से ज्यादा फ्रेश और प्रोत्साहित महसूस कर रहे हैं जिससे वो रिंग में अपना बेस्ट प्रदर्शन कर सकेंगे।

नाइटो इस्तोरा सेनयन एरीना में उनकी कड़ी परीक्षा लेने वाले हैं, जो Shooto बॉक्सिंग सुपर बेंटमवेट चैंपियन हैं लेकिन माइकल को फिलहाल ऐसी ही चुनौती चाहते हैं।

उन्होंने आगे कहा, “मुझे खुशी है कि मैं ऐसे एथलीट के साथ फाइट कर रहा हूँ जिसका ONE में अभी तक का प्रदर्शन शानदार रहा है। मुझे कड़ी चुनौती की ही तलाश थी और ये मेरे लिए अच्छा भी साबित होगा।”

“मुझे लगता है कि वो काफी अच्छे हैं लेकिन मुझे उनमें कुछ ज्यादा खतरनाक चीज देखने को नहीं मिली है। हम उनके खिलाफ गेम प्लान तैयार कर रहे हैं। आगामी मैच में थाई स्टाइल के बजाय तेजी से मूव्स का इस्तेमाल करना चाहूंगा। यही चीज मैंने लर्डसीला के खिलाफ मैच से भी सीखी थी। पहले राउंड में अपने प्रतिद्वंदी को परखने और आखिरी राउंड्स में अटैक, जैसा कि थाई स्टाइल में होता है। मैं शुरुआत से ही आक्रामक रहने की रणनीति पर काम करूंगा।”

ये भी पढ़ें: नायरीन क्राओली दिखाना चाहती हैं कि जकार्ता में कुछ भी संभव है

जकार्ता | 7 फरवरी | ONE: WARRIOR’S CODE | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं