न्यूज़

एंजेला ली के खिलाफ रीमैच में और भी मजबूत बनकर आना चाहती हैं जिओंग जिंग नान

अक्टूबर 1, 2019

जिओंग जिंग नान “द पांडा” ONE: CENTURY PART I में एंजेला ली “अनस्टॉपेबल” के साथ रीमैच से पहले भले ही तनाव मुक्त महसूस कर रही हों लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वो इसको लेकर जोश में नहीं हैं।

13 अक्टूबर को ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन ONE एटमवेट विश्व खिताब के लिए चुनौती देकर एक डिवीजन को छोड़ देगीं और अपनी बेल्ट को बचाने के लिए प्रतिद्वंद्वी को हराने के बाद इसे दोगुना करने की कोशिश करेंगी।

यह एक चुनौती थी जिसके बारे में चीनी एथलीट ने मार्च में हुई मुलाकात से पहले सोचा था। जब उन्हें टोक्यो, जापान में वापसी करने का मौका दिया गया तो उन्होंने इसे बिना किसी हिचकिचाहट के स्वीकार कर लिया।

वह कहती हैं कि “पहले शायद ली ने पहल करते हुए मुझे अपने वजन डिविजन में चुनौती दी, लेकिन अब मुझे मौका मिला है। इसलिए मैंने इस चुनौती को स्वीकार करने के लिए सहमति दे दी। इस पदोन्नति ने मुझे इस मुकाबले को लड़ने अवसर दिया, इसलिए मैंने चुनौती स्वीकार की।”

हालांकि जिओंग ने पहली लड़ाई जीती लेकिन उसे पांचवें राउंड में नॉकआउट में शानदार वापसी करने से पहले हार के कगार पर पहुंचा दिया गया था। वह यह भी मानती हैं कि “अनस्टॉपेबल” हमेशा एक एथलीट के रूप में सुधार करने वाली है। इसलिए वह खुद को चुनौती देने के लिए फिर से उसका सामना करना चाहती थी।

इवॉल्व और युनाइटेड एमएमए की प्रतिनिधि ने जुलाई में ONE: A NEW ERA पर मिशेल निकोलिनी के खिलाफ एक फैसले से मिली हार को अभी भुलाया नहीं है। ये दोनों मुकाबले स्ट्रावेट में थे। जिओंग कहती हैं कि “एंजेला इन दो हार मिलने के बाद भी एक एथलीट के रूप में बहुत आगे बढ़ सकती है क्योंकि वह अभी युवा है। उसके पास सुधार करने के लिए बहुत जगह है। विशेष रूप से मुझे उसका ग्राउंडवर्क पसंद है।”



ली के ब्राजील के जिउ-जित्सु ने बाली एमएमए प्रतिनिधि को हर तरह से परेशान किया था। वह यह भी मानती हैं कि उनके प्रतिद्वंद्वी ने लंबे समय तक अच्छा प्रदर्शन किया। क्योंकि वो हासिल करने के लिए सब कुछ और खोने के लिए कुछ भी नहीं के मूलमंत्र के साथ मैदान में उतरती थी। जओंग कहती हैं कि “जब उसने मुझे चुनौती दी तो हम अलग-अलग स्थितियों पर थे।”

“वह मुझसे बेहतर स्थिति में थी। प्रतियोगी के रूप में वह काफी शांत थी लेकिन शायद आखिरी लड़ाई में। मैंने अपने प्रदर्शन पर इतना अधिक विचार किया इस कारण मैं अपनी तकनीकों पर पूरी तरह से केंद्रित नहीं थी।” उसके कंधों पर इस वजन के बावजूद शेडोंग मूल निवासी इस मुकाबले में जा रही है। हालांकि वह जानती है कि ये बोझ उसे प्रभावित कर सकता है।

वह बताती हैं कि “यह उनका डिविजन होने के कारण वह मुझसे बेहतर तरह से लड़ने की पूरी कोशिश करेगीं। इस सब के बावजूद मैं उनसे उनकी बेल्ट हासिल कर लूंगी। वह अपने बेल्ट के लिए काफी परवाह करती है और किसी को भी इसे लेने नहीं देती। इसके लिए ही उन्होंने मुझे चुनौती दी थी।

“यह विश्व खिताब की लड़ाई है। इसलिए उस पर अधिक दबाव है और मैं आरामदाय स्थिति में हूं। अगर मैं जीत हासिल करती हूं तो मैं एक अलग डिवीजन की विश्व चैंपियन बनूंगी।”

जिओंग छह महीने पहले की तुलना में एक शांत दिमाग के साथ रिंग में प्रवेश कर सकती है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उन्होंने इस आयोजन के लिए कम उत्साह के साथ तैयार नहीं की है। 31 वर्षीय फाइटर प्रशिक्षण शिविर में महीनों तक शिद्दत से जुटी रही। ताकि वो जीत के लिए फिर से अपना हाथ उठाए और अपनी जन्मभूमि का नाम इतिहास में उजागर करना सुनिश्चित कर सके।

वह कहती हैं कि “मेरी इच्छा अब और भी मजबूत है। मैं इस बेल्ट को लेना चाहती हूं। क्योंकि अगर मैं इस लड़ाई को जीतकर बेल्ट हासिल करती हूं तो मैं दो डिवीजनों में पहली चीनी विश्व चैंपियन और ONE इतिहास में एकमात्र महिला विश्व चैंपियन बनूंगी।

“सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि मैं चाहती हूं कि दुनिया चीन की प्रगति को देखे। मुझे लगता है कि बहुत से लोग चीन की ताकत को देख चुके हैं। वे जानते हैं कि हम चीनी एथलीट कड़ी मेहनत के साथ सुधार कर रहे हैं। हम लोगों को दिखा सकते हैं कि चीनी लोग कितने मजबूत हैं।”

ये भी पढ़ें: 4 शीर्ष नॉकआउट ने जिओंन नेन को ONE की प्रीमियर वूमैन फिनिशर साबित किया

टोक्यो  | CENTURY | ONE Championship का 100वां लाइव इवेंट | टिकट: Purchase here

  • Watch PART I in USA on 12 October at 8pm EST and PART II on 13 October at 4am EST
  • Watch PART I in India on 13 October at 5:30am IST and PART II at 1:30pm IST
  • Watch PART I in Indonesia on 13 October at 7am WIB and PART II at 3pm WIB
  • Watch PART I in Singapore on 13 October at 8am SGT and PART II at 4pm SGT
  • Watch PART I in the Philippines on 13 October at 8am PHT and PART II at 4pm PHT
  • Watch PART I in Japan on 13 October at 9am JST and PART II at 5pm JST

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट्स प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट्स का प्रदर्शर करेंग। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप के आयोजनों को बढ़ावा नहीं दिया।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रयोगोकु कोकुगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच के साथ-साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन तलाश करेगा।