महिला स्ट्रॉवेइट विश्व चैंपियन

जिओंग
जिंग नेन

"पांडा"

ऊंचाई
165 CM
भार सीमा
52.2 KG
टीम
बाली एम् एम् ए
से
चीन
ऊंचाई
165 CM
भार सीमा
52.2 KG
टीम
बाली एम् एम् ए
से
चीन

के बारे में

एक पेशेवर एथलीट बनने के अपने सपने को पूरा करने के लिए ONE वूमैन स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन जिओंग जिंग नेन को मूल रूप से एक वेटलिफि्टंग (भारोत्तोलन) करियर के लिए प्रशिक्षित किया, लेकिन इसके बजाय मुक्केबाजी को चुना। मार्शल आर्ट्स के मोह में पड़कर उन्होंने पहली बार 18 साल की उम्र में अपने सफर की शुरुआत शेडोंग महिला मुक्केबाजी टीम की सदस्य के रूप में की और जल्द ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चीन का प्रतिनिधित्व करने के लिए चली गईं।

अपने पिता द्वारा मार्शल आर्ट पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रोत्साहित करने के बाद उसने खुद में और निखार लाने का प्रयास किया। वह कम उम्र में ही चीनी मार्शल आर्ट फिल्मों से प्रेरित थी और हमेशा पर्दे पर दिखने वाले वीरता के मूल्यों के साथ जीती है। कमजोर लोगों को परेशान करने वालों के खिलाफ वह हमेशा खड़ी हुई। जिओंग ने अपने क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ बनने के लिए कई बलिदान दिए। घर से दूर जाकर होने वाली कई विशिष्ट किशोर गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रशिक्षण पर ध्यान केन्दि्रत किया। बीजेजे को अपने हथियार के रूप में शामिल करने के बाद वह सभी क्षेत्रों में प्रतिभाशाली साबित हुई। यहां तक ​​कि चाइना ओपन बीजेजे चैंपियनशिप भी जीत गई।

फिर उसने प्रतिस्पर्धा में अपना मुकाम हासिल करने के लिए खुद को पूरी तरह से पिंजर में झौंक दिया। दिन में चार बार देर रात तक ट्रेनिंग की। अपने मूल स्थान चीन में 12-1 रन की प्रतिस्पर्धा के बाद उन्होंने अप्रैल ओसेनियो में प्रभावशाली नॉकआउट के साथ ONE चैम्पियनशिप के वैश्विक मंच पर एक सफल पदार्पण किया। इसने उन्हें ONE वूमैन्स स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैम्पियनशिप में एक दांव लगाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने चीन के पहले मिक्सड मार्शल आर्ट वर्ल्ड चैंपियन के रूप में इतिहास बनाने के लिए एक और नॉकआउट के साथ हासिल कर लिया। तब से वह निश्चित रूप से बेल्ट का कई बार बचाव कर चुकी है और जहां भी संभव हो दुनिया को उत्साहित करती रहती है।