न्यूज़

वू चाओ चेन का मानना है कि वो ऋतु फोगाट को हरा सकती हैं

ऋतु “द इंडियन टाइग्रेस” फोगाट के लिए “मिस रेड” वू चाओ चेन के मन में बहुत सम्मान हैं लेकिन उन्हें कोई संदेह नहीं है कि वो उनके मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के परफेक्ट रिकॉर्ड को ONE: KING OF THE JUNGLE में खराब कर सकती हैं।

इस शुक्रवार, 28 फरवरी को चीनी एथलीट के पास इस खेल की सबसे हाई-प्रोफाइल राइजिंग स्टार को हराकर ONE Championship में अपना दबदबा बनाने का एक सुनहरा मौका होगा।

एक प्रोफेशनल के रूप में फोगाट का रिकॉर्ड 1-0 ही है। कुश्ती करियर और फेमस परिवार के कारण उनके लाखों प्रशंसक हैं। “द इंडियन टाइग्रेस” की फैमिली पर बनी फिल्म दंगल  वू ने देखी है।

फोगाट की कहानी ने “मिस रेड” को प्रेरित किया। इस फिल्म ने उन्हें फोगाट को सिंगापुर स्टेडियम में हराने के लिए और अधिक प्रेरणा दी है।

वो हंसते हुए कहती हैं, “मुझे लगता है कि उनकी प्रसिद्धि मेरा करियर रौशन कर सकती है। मुझे लगता है कि अगर मैंने उन्हें इस मैच में हरा दिया तो मैं भी मशहूर हो सकती हूं। मैं उनके साथ बाउट करने के लिए आभारी हूं।”

“मैंने फिल्म दंगल देखी है, उसके जरिए उनकी कहानी जानती हूं। मैं फिल्म के जरिए उनके परिवार को भी जानती हूं। एक महिला एथलीट के रूप में मुझे लगता है कि मैं उनसे रिलेट करती हूं। मुझे लगता है कि जब लोग आपको बताते हैं कि आप मेनस्ट्रीम में फिट नहीं हो सकती हैं (एक वुमेन मार्शल आर्टिस्ट के रूप में), जब वे आपको नीचे देखते हैं, तब भी आप आगे बढ़ती रहती हैं। मुझे लगता है कि ऐसा करके वो महान बन गई हैं।

“मुझे लगता है कि ये बहुत बड़ा मौका है। मैं इस बाउट को लेकर उत्साहित हूं और मैं इससे आगे का भी देख रही हूं। अगर मैं ऐसे किसी प्रतिद्वंदी से मिलती हूं, जो स्ट्रॉन्ग है तो मैं भी स्ट्रॉन्ग बनूंगी। इस बार मैं ऋतु फोगाट से बाउट करने जा रही हूं और मुझे लगता है कि वो बहुत स्ट्रॉन्ग हैं।”

वू फोगाट की स्किल्स की तारीफ करती हैं और कहती हैं वो बता सकती हैं कि उन्होंने अपने पहले प्रो मैच के लिए Evolve से कितनी अच्छी ट्रेनिंग ली थी। वैसे उन्होंने अपनी रेसलिंग की क्षमता से मार्शल आर्ट्स कॉम्पिटिशन में भी खतरा पैदा कर दिया है।



वू का ये भी मानना है कि उनके पास ऐसी स्किल्स हैं, जो भारतीय एथलीट की पिछली प्रतिद्वंदी की तुलना में बहुत अधिक खतरनाक होंगी। वो फोगाट के ग्रैपलिंग अटैक को अपनी ब्राजीलियन जिउ-जित्सु स्किल्स से काउंटर कर सकती हैं।

वो कहती हैं, “मुझे लगता है कि उनकी पहली बाउट में उन्हें अपनी प्रतिद्वंदी से ज्यादा चुनौती नहीं मिली थी इसलिए वो मैच उनके लिए बहुत आसान था।”

“इस बार मैं उन्हें इतनी आसानी से पास नहीं होने दूंगी। मैं उनके सामने बहुत सी परेशानियां खड़ी कर दूंगी। मैं मैच में उनकी कमजोरी को दिखाने की कोशिश करूंगी। मुझे लगता है कि मैं उन्हें हरा सकती हूं।”

JJIF Asian जिउ-जित्सु चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने के साथ चाइनीज ताइपे किकबॉक्सिंग और सांडा चैंपियनशिप्स विजेता वू ये साबित कर चुकी हैं कि उनके पास हाई-लेवल की स्किल्स हैं और वो कई तकनीकों की धनी हैं। 36 वर्षीय एथलीट को मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट के रूप में भी ज्यादा अनुभव है, उनका मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में 2-1 का रिकॉर्ड है और एमेच्योर लेवल पर ये रिकॉर्ड 8-0 का है।

ये सारी बातें उनमें ढेर सारा विश्वास पैदा करती हैं कि वो ग्लोबल स्टेज पर सफलतापूर्वक अपना डेब्यू कर सकती हैं। हो सकता है कि शायद वो अपने प्रतिद्वंदी की कुछ प्रसिद्धी भी हासिल कर लें, ताकि वो अपनी कहानी के साथ भी लोगों को प्रेरित कर सकें।

वो कहती हैं, “उनके बहुत से प्रशंसक हैं और मैं उनके प्रशंसकों को अपना बनाना चाहती हूं।”

“लोग उन्हें जानते हैं क्योंकि उनका किरदार एक फिल्म में दिखाया गया है। वो बहुत फेमस हैं लेकिन मेरी भी खुद की एक कहानी है। मैं एक नर्स हूं, मैं पियानो बजाती हूं। मैं मासूम दिख सकती हूं लेकिन अभी इतंजार करने और मैच देखने की घड़ी है। मैं उन्हें बहुत परेशानी में डालनी वाली हूं।

“मैं मैसेज देना चाहती हूं कि अगर आप कड़ी मेहनत और कठिन परिश्रम करती हैं तो आप अपना लक्ष्य जरूर हासिल कर लेंगी।”

ये भी पढ़ें: कैसे बहनों की कामयाबी से प्रेरित होकर ऋतु फोगाट ने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में सफलता की ओर बढ़ाए कदम