न्यूज़

चुनौतियों से भरे 2020 में रोशन मैनम ने अपना बड़ा सपना किया पूरा और 2021 का टारगेट बताया

दिसम्बर 31, 2020

भारत के तेजी से उभरते हुए मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स स्टार रोशन मैनम के लिए 2020 चुनौतियों से भरा रहा, लेकिन उन्हें इस साल निजी तौर पर काफी सफलता हासिल हुई।

COVID-19 महामारी की वजह से ONE Championship के इवेंट्स को थोड़े समय के लिए स्थगित किया गया था। इस साल अपने एकमात्र मैच में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और 9 अक्टूबर को हुए ONE: REIGN OF DYNASTIES में ONE हेफेई फ्लाइवेट टूर्नामेंट चैंपियन लिउ पेंग शुआई को रीयर-नेकेड चोक से दूसरे राउंड में पराजित किया

मैनम को भले ही इस साल ज्यादा मैच नहीं मिल पाए, लेकिन वो अपना एक सपना पूरा करने में कामयाब रहे। इसके साथ ही उन्होंने 2021 को लेकर अपने लक्ष्य समेत कई मुद्दों पर बात की।

ONE Championship: साल 2020 के बारे में आपकी राय क्या है?

रोशन मैनम: COVID-19 की वजह से ये साल लोगों के लिए काफी खराब रहा है। महामारी और लॉकडाउन के कारण काफी समय खराब हुआ। इस दौरान मैं ज्यादा ट्रेनिंग नहीं कर पाया। अब धीरे-धीरे हालात सुधर रहे हैं और ट्रेनिंग भी बेहतर हो रही है।

मुझे इस साल सिर्फ एक ही मैच मिला और वो भी अच्छे प्रतिद्वंदी के खिलाफ। मैं इस साल कम ट्रेनिंग कर पाया, फिर भी मैच जीता। 2020 में काफी कुछ करना चाहता था, मगर कर नहीं पाया। लेकिन अब 2021 में और भी अच्छा प्रदर्शन कर देश का नाम रोशन करना चाहूंगा।

ONE: बीते एक साल में आपके गेम में सबसे अधिक सुधार क्या आया है?

मैनम: मैं 2019 में अपना डेब्यू मैच जीतने के बाद घर गया था और फिर वापस आया तो COVID-19 के कारण लॉकडाउन लग गया था। 3-4 महीने कुछ कर नहीं पाया, ऐसे में बाहर जाकर रनिंग और थोड़ा वर्कआउट किया, मगर ग्रुप वर्कआउट नहीं कर पाया। जून-जुलाई से थोड़ी ट्रेनिंग शुरु हुई है। मैंने स्टाइकिंग की काफी प्रैक्टिस की और मेरी स्ट्राइकिंग में काफी सुधार आया है।

ONE: आपके लिए 2020 का सबसे यादगार पल क्या रहा?

मैनम: मेरे लिए स्पेशल बात ये है कि मैंने 2020 में अपने होमटाउन में जिम खोलने का सपना देखा था, जिससे मेरे शहर के युवाओं को अच्छा प्लेटफॉर्म दे पाऊं। मेरा अपना खुद का जिम खोलने का सपना पूरा हुआ। COVID-19 के कारण थोड़ी परेशानी तो आई, मगर ये सपना पूरा कर पाने में कामयाब रहा।

इसके अलावा मुझे फाइट करने का मौका मिला और वो भी अच्छे प्रतिद्वंदी के खिलाफ। मुझे मैच जीतने का मौका मिला। कुल मिलाकर देखा जाए तो मेरे लिए 2020 अच्छा रहा।

ONE: 2021 के लिए क्या लक्ष्य तय किए हैं?

मैनम: मैं ज्यादा से ज्यादा मैचों का हिस्सा बनना चाहता हूं। मुझे अब लग रहा कि मेरा सामना टॉप लेवल के एथलीट्स से होगा। इसके लिए मुझे कड़ी ट्रेनिंग करने की जरूरत है। मुझे मैच मिला तो अच्छा प्रदर्शन कर टॉप पर पहुंचना चाहूंगा।

ONE: इस साल मिली किसी सबसे बड़ी सीख के बारे में बताएं?

मैनम: इस मुश्किल समय में काफी प्रेरणा मिली। पहले समय को काफी खराब कर देते थे, लेकिन उसकी वैल्यू अब पता चली है। पहले घऱ जाना चाहते तो जा सकते थे, लेकिन अब ऐसा संभव नहीं है तो समय की अहमियत सीखने को मिली।

ONE: कौन सी स्किल्स हैं जिन पर 2021 में आपका फोकस रहेगा?

मैनम: मेरा मानना है कि मेहनत और मानसिकता के कारण ही एथलीट बड़ा बनता है। पहले मेरी स्ट्राइकिंग उस लेवल की नहीं थी, मैं ग्राउंड गेम पर रहना पसंद करता था। लेकिन अगर आपको टॉप लेवल का MMA एथलीट बनना हो तो हर स्किल पर काम करना जरूरी होता है। मैंने स्ट्राइकिंग पर काफी काम किया है और भविष्य में भी इसी पर काम करना चाहूंगा। मेरा ज्यादा फोकस स्ट्राइकिंग और BJJ (ब्राजीलियन जिउ-जित्सु) पर रहेगा।

ये भी पढ़ें: कैसे बीमार पिता के कारण रोशन मैनम को जिंदगी में कुछ बड़ा करने की प्रेरणा मिली