न्यूज़

किमिहीरो एटो अपने पुराने ट्रेनिंग पार्टनर अमीर खान का सामना करने को हैं तैयार

भले ही किमिहीरो एटो एक बेहतरीन ग्रैपलर हैं लेकिन इस आने वाले शुक्रवार, 28 फरवरी को वो दुनिया को ये साबित करने के इरादे से सर्कल में उतरेंगे कि वो  स्टैंड-अप गेम के साथ एक संतुलित मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट भी हैं।

31 वर्षीय एथलीट सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में होमटाउन हीरो अमीर खान के खिलाफ ONE: KING OF THE JUNGLE में एक लाइटवेट बाउट में उतरेंगे।

जापानी एथलीट बताते हैं, “बहुत से लोग कहते हैं कि मेरी रेसलिंग बहुत स्ट्रॉन्ग है लेकिन मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में फ्लो स्ट्राइकिंग और ग्रैपलिंग के बीच होना चाहिए। मैं हर किसी को दिखाना चाहता हूं कि बाउट में इनका कितनी आसानी से इस्तेमाल कर सकता हूं।”

रेसलिंग में पूरी तरह से पारंगत एटो ने प्रोफेशनल मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में डेब्यू जुलाई 2013 में किया था। उसके बाद उन्होंने साढ़े चार साल में 13-3-2 का रिकॉर्ड बनाया।

मार्च 2018 में एटो रिच फ्रैंकलिन की ONE Warrior Series (OWS) में इस उम्मीद के साथ शामिल हो गए थे कि वो सिक्स-फिगर कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने के साथ ONE Championship के मेन रोस्टर में जगह बना लेंगे।

उन्हें OWS के उद्घाटन लाइव इवेंट में “क्रेजी डॉग” डेई सुंग पार्क से पराजित हो गए थे। हालांकि, टोक्यो के मूल निवासी ने अगले तीन विरोधियों को अपनी ग्रैपलिंग स्किल्स की बदौलत फिनिश कर दिया था। उनकी लगातार बेहतरीन जीतों ने उन्हें कॉन्ट्रैक्ट और रोस्टर में जगह हासिल करने का मौका दिया।

ग्लोबल स्टेज पर अपनी पहली आउटिंग के दौरान ONE: MASTERS OF DESTINY में वो अपने पुराने विरोधी पार्क के खिलाफ जुलाई 2019 में जीत का रास्ता नहीं बना पाए थे।



उस बाउट में जापानी एथलीट ने दबाव महसूस किया और वो प्रशंसकों के बीच खुद को साबित नहीं कर पाए। इस बात को अपने दिमाग में रखते हुए एटो वापस ड्रॉइंग बोर्ड पर लौटे। उनका मानना है कि अपनी आने वाली बाउट में उन्होंने पुरानी कमियों को दूर कर लिया है।

Wajutsu Keishukai HEARTS के प्रतिनिधि कहते हैं, “मैं किस तरह बाउट करूंगा, इस कल्पना पर अधिक ध्यान केंद्रित कर रहा हूं।”

“ONE Warrior Series में कोई दर्शक नहीं होता। मैंने पहले एक बड़ा ONE Championship इवेंट देखा था लेकिन मैं जब अपने आखिरी मैच के लिए रिंग में जा रहा था, तब मैं दर्शकों से खचाखच भरे माहौल को देखकर आश्चर्यचकित रह गया था। इसी वजह से मैंने दूसरे राउंड में अपनी एकाग्रता खो दी थी।

“यही वजह है कि मैं ट्रेनिंग के दौरान अपनी आंखें बंद करता हूं और बाउट की तैयारी करने से पहले बड़े शो की कल्पना करता हूं। ये जरूरी हिस्सा मेरे आखिरी कैंप का हिस्सा नहीं था।”

टोक्यो के एथलीट को अभी एक और परिचित चेहरे से बाउट करनी है। इस बार उन्होंने उस एथलीट से बाउट स्वीकार की है, जिससे 16 महीने पहले उनकी करीबी बढ़ी थी।

नवंबर 2018 में एटो ने सिंगापुर में Evolve में खान और मेगा जिम के कई वर्ल्ड चैंपियंस के साथ ट्रेनिंग में आठ दिन बिताए थे।

हालांकि, वो समय बीत गया है। उन्हें लगता है कि 25 वर्षीय एथलीट पहले से ज्यादा शार्प हो गए हैं। उन्हें भरोसा है कि उनका स्टाइल मैच में रोमांच पैदा कर देगी।

जापानी लाइटवेट एथलीट ने बताया, “मैं जब सिंगापुर में था, तब खान मेरे ट्रेनिंग पार्टनर थे। उनके साथ मैंने काफी वक्त बिताया था।”

“मुझे तब से लगता है कि वो एक महान फाइटर हैं। मुझे ये भी लगता है कि तब से हम दोनों में काफी सुधार हुआ है। मैं आशा करता हूं कि जब हम बाउट करेंगे तो जो भी इसे देखेगा, वो एक बेहतरीन मैच का आनंद उठाएगा।”

Evolve में एक साथ ट्रेनिंग सेशंस के साथ-साथ उन्होंने खान के हालिया प्रदर्शन की स्टडी कर ली है। एटो को लगता है कि उन्होंने सिंगापुर के नॉकआउट आर्टिस्ट को अच्छी तरह से समझ लिया है। इस वजह से वो जानते हैं कि “द लॉयन सिटी” में जीत हासिल करने के लिए उन्हें क्या करना चाहिए।

Japanese lightweight Kimihiro Eto throws a roundhouse kick

जापानी एथलीट ने अपनी स्ट्राइकिंग को मजबूत करने के साथ वर्ल्ड क्लास ग्रैपलिंग की क्षमता को और अधिक सूझ-बूझ भरा बना लिया है। यही चीजें उनके गेम प्लान में सफलता की कुंजी साबित हो सकती हैं।

इसके अलावा, उनका मानना है कि रणनीति के लिए सर्कल सबसे अच्छा क्षेत्र है। उन्हें भरोसा है कि वो वहां पर बढ़त बना लेंगे।

एटो कहते हैं, “मेरा लक्ष्य उनका ध्यान भटकाने और अपनी स्ट्राइकिंग से टेकडाउन करने का है। ये इस बात पर भी निर्भर करता है कि मैं अपनी स्ट्राइक्स को टेकडाउंस के साथ कैसे मिक्स करता हूं। मेरे प्रतिद्वंदी दोनों स्किल्स को लेकर सतर्क रहेंगे, ऐसे में मैं केज में उन पर दबाव बनाने में सक्षम हो जाऊंगा।”

“इसलिए मैं उनके मूवमेंट को असफल बनाने और अपने टेकडाउंस का इस्तेमाल करने की योजना बना रहा हूं। रिंग में दूर करना आसान होता है लेकिन केज में आप ऐसा नहीं कर सकते हैं। मेरी खासियत केज के अंदर रेसलिंग का इस्तेमाल करने की है इसलिए ये मेरे लिए बहुत बेहतर है। ”

फिर भी एटो को सतर्क रहने की जरूरत होगी। आखिरकार वो जानते हैं कि सिंगापुर मॉय थाई चैंपियन और पूर्व ONE लाइटवेट वर्ल्ड टाइटल चैलेंजर एक और हाइलाइट-रील फिनिश की तलाश में होंगे।

Japanese lightweight Kimihiro Eto makes his ONE Championship debut

Evolve के प्रतिनिधि ने अपनी छवि एक खतरनाक नॉकआउट आर्टिस्ट के रूप में बनाई है। वो अपनी टीम के साथी लाइटवेट किंग क्रिश्चियन “द वॉरियर” ली के साथ ONE के इतिहास में सबसे ज्यादा नॉकआउट के रिकॉर्ड की बराबरी करते हैं।

इसमें कोई शक नहीं है कि युवा शेर मैच को सिंपल रखना चाहते हैं और रिकॉर्ड को फिर से री-सेट करना चाहते हैं। फिर भी टोक्यो निवासी के पास अपने प्रतिद्वंदी के संदिग्ध हमलों का काउंटर करने का एक तरीका है।

जापानी एथलीट कहते हैं, “मुझे नहीं लगता कि मेरे प्रतिद्वंदी बाउट को टेकडाउन या ग्रैपलिंग की ओर ले जाना चाहते होंगे। मुझे लगता है कि वो लो स्टांस लेंगे और अपनी आउट बॉक्सिंग का इस्तेमाल करेंगे।”

“मेरी तुलना में उनकी पहुंच मुझसे थोड़ी ज्यादा है। इस वजह से वो सर्कल में रहेंगे और जैब्स थ्रो करेंगे। जब हमारे बीच की दूरी कम होगी तो वो मिडल किक की मदद से दाईं ओर काउंटर की तलाश करेंगे और फिर दूरी बना लेंगे। मुझे लगता है कि अगर मैं उनके करीब जा सकता हूं तो मुझे टेकडाउन मिल सकता है।”

एटो अपने इरादों के साथ पूरी तरह स्पष्ट हैं। अगर वो शुक्रवार को अपने मार्शल आर्ट्स की स्किल्स को एकसाथ मिलाने में सक्षम होते हैं तो वो अपने करियर की सबसे बड़ी जीत हासिल कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: किमिहीरो एटो के सपने को पूरा करने में पूर्व सहकर्मियों ने की भरपूर मदद