न्यूज़

सिंगापुर में अपने घरेलू फैंस के सामने मुकाबले को फिनिश करना चाहते हैं अमीर खान

अमीर खान के लिए पिछले साल की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी लेकिन साल के अंत में बड़ी जीत दर्ज करने के बाद मानना है कि उनका आत्मविश्वास अब लौट आया है।

ONE: KING OF THE JUNGLE में अब अपने घरेलू फैंस के सामने ONE Warrior Series कॉन्ट्रैक्ट विनर किमिहीरो एटो पर जीत दर्ज कर खान ये साबित करना चाहेंगे कि वाकई में वो लय में वापसी कर चुके हैं।

ONE: EDGE OF GREATNESS में ईव “EV” टिंग के खिलाफ करीबी मुकाबले में खान को जीत मिली थी लेकिन सिंगापुर इंडोर स्टेडियम में अपने पिछले मुकाबले में उन्हें जीत के बाद भी ज्यादा खुशी नहीं मिली।

एक तरफ वो जीत से खुश थे लेकिन उन्होंने माना कि अगर परिणाम विभाजित निर्णय से बेहतर तरीके से आया होता तो उन्हें और उनके फैंस को भी ज्यादा खुशी मिलती। यही चीज उन्हें लाइटवेट डिविजन के सबसे खतरनाक फिनिशर्स में से एक बनने के लिए प्रेरित कर रही है।

उन्होंने बताया, “मैं ज्यादा डिफेंसिव होता जा रहा था। हमने आक्रामक रहने का गेम प्लान तैयार किया था लेकिन किन्हीं कारणों की वजह से मुझे मोमेंटम प्राप्त नहीं हो पा रहा था, जिससे मैं अपना बेस्ट प्रदर्शन कर सकता था।”

“मैं मैच को फिनिश करना चाहता हूँ, लोग भूल चुके हैं कि मैं कुछ समय पहले तक एक नॉकआउट आर्टिस्ट हुआ करता था। मैं वापसी कर खुद को साबित करना चाहता हूँ और ये दिखाना चाहता हूँ कि मैं अभी भी पहले जैसा प्रदर्शन कर सकता हूँ।”

खान सिंगापुर के मॉय थाई चैंपियन रहे हैं और उन्होंने अपनी मॉय थाई स्किल्स से मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में भी काफी सफलता प्राप्त की है। मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में वो अभी तक 12 मुकाबलों में से 8 में नॉकआउट से जीत दर्ज कर चुके हैं, 2 सबमिशन से और इसी रिकॉर्ड से उनका फिनिशिंग रेट 83 प्रतिशत है।

ये रिकॉर्ड दर्शाता है कि वो अपनी स्किल्स और ताकत की मदद से अपनी बेस्ट फॉर्म में वापसी कर सकते हैं और अब उनका कहना है कि उन्होंने इसके लिए अपनी ट्रेनिंग में भी कुछ बदलाव किए हैं।



उन्होंने माना, “अपनी स्ट्राइक्स पर मैं फिलहाल सबसे ज्यादा ध्यान दे रहा हूँ। मुझे लगता है कि मेरे पास मूव्स की कोई कमी नहीं है लेकिन मैं अपने अटैक को लेकर प्रतिबद्धता नहीं दिखा रहा हूँ।”

“हम इस स्थिति को बदलने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। अब जब भी मैं स्ट्राइक करूंगा तो पूरे प्लान के साथ करूंगा। मुझे अपने मूव्स में ज्यादा ताकत लानी होगी क्योंकि इससे बहुत फ़र्क पड़ता है। इससे सवाल खड़ा होता है कि क्या आप अपने प्रतिद्वंदी को पंच से केवल छूने का प्रयास कर रहे हैं या उसे क्षति पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं?”

एटो के खिलाफ मुकाबले के प्रति खान का कहना है कि वो इस मैच में अपनी फिनिशिंग को वापस लाने का प्रयास करने वाले हैं।

हालांकि, जापानी एथलीट खतरनाक साबित हो सकते हैं, उन्हें ONE Warrior Series में मिलीं लगातार 3 मैचों में सबमिशन की जीत से ही कॉन्ट्रैक्ट मिला है। Evolve टीम के स्टार अपने प्रतिद्वंदी की ग्रैपलिंग स्किल्स से भली-भांति वाकिफ हैं क्योंकि 2 साल पहले इन दोनों ने कुछ समय एक साथ ट्रेनिंग ली थी।

खान ने कहा, “वो स्ट्राइकिंग में ज्यादा अच्छे नहीं हैं और वो मूवमेंट्स को परखने में ज्यादा चुस्त नहीं हैं खासतौर पर जब उनके प्रतिद्वंदी उनपर अटैक कर रहे होते हैं।”

“उनकी रेसलिंग जरूर काफी अच्छी है और ये मुझे उनके साथ ट्रेनिंग के दौरान जानने को मिला था। यहाँ तक कि उन्होंने मुझे अपने कुछ मूव्स भी सिखाए थे इसलिए मैं उनके कुछ मूव्स से वाकिफ हूँ। जाहिर तौर पर उनकी रेसलिंग मुझसे बेहतर है लेकिन जब अटैक की बात आती है तो मेरा टेकडाउन डिफेंस उनसे बेहतर है, इसलिए रेसलिंग ही एक ऐसी चीज होगी जिसका उन्हें फायदा मिल सकता है।

“मैं उनकी स्ट्राइकिंग को भी कम आंकने की भूल नहीं करना चाहता, हो सकता है कि पिछले 2 साल में उन्होंने खुद में सुधार कर लिया हो। लेकिन मुझे नहीं लगता कि इस मैच में इससे मुझे ज्यादा खतरा है। उन्हें जीत दर्ज करनी है तो उन्हें मुझे नीचे गिराना होगा।”

Amir Khan wins by split decision against Ev Ting

उनकी वापसी में कुछ हफ़्तों का समय बाकी है और खान फिलहाल आत्मविश्वास से भरे हुए हैं और वैसा प्रदर्शन करने के लिए तैयार हैं जैसा उनके फैंस उनसे उम्मीद कर रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा, “मैं वहाँ जाकर अपने पहले ही शॉट से बढ़त बनाना चाहता हूँ। मुझे अच्छी शुरुआत करनी है और मेरे दिमाग में केवल यही बात घूम रही है कि मुझे दमदार पंच लगाने हैं क्योंकि अच्छी शुरुआत के बाद मैच मेरी पकड़ में होगा।”

“मुझे लगता है कि मैं उन्हें पहले या दूसरे राउंड में फिनिश कर सकता हूँ, मैं अच्छी शुरुआत का प्लान तैयार कर रहा हूँ। लेकिन मुझे इसके लिए चतुराई से काम लेना होगा, बेकार में एनर्जी व्यर्थ नहीं करनी और दमदार शॉट्स लगाकर मैच पर पकड़ बनानी है। बाकी देखना होगा कि मैच किस दिशा में आगे बढ़ता है।”

ये भी पढ़ें: रॉकी ओग्डेन कठिन परिस्थितियों के बावजूद बने मॉय थाई स्टार