मॉय थाई

रीमैच में जोनाथन हैगर्टी अपनी योजना से रोडटंग को हैरत में डालने की फिराक में

पूर्व ONE फ्लाइवेट मॉय थाई विश्व चैंपियन जोनाथन हैगर्टी का मानना ​​है कि वह अपने पहले मुकाबले से लिए सबक का उपयोग थाई सुपरस्टार रोडटंग जित्मुआंगनोन “द आयरन मैन” के खिलाफ शुक्रवार, 10 जनवरी को रीमैच मुकाबले में हराने के लिए कर सकते हैं।

ONE: A NEW TOMORROW जो कि थाईलैंड में बैंकॉक के इम्पैक्ट एरीना में होता है। इसके मुख्य कार्यक्रम में इंग्लिशमैन बेल्ट के लिए टाइटलहोल्टर को चुनौती देने वाला है।

रोडटंग ने इस वर्ष अगस्त में फिलीपींस में मनीला के मॉल ऑफ एशिया एरिना में एक रोमांचक पांच-दौर की मुठभेड़ में “द जनरल” को हराकर स्वर्ण जीता था।

तब से हैगर्टी ने थाई राजधानी में प्रतिद्वंद्वी से मिलने के लिए मनौवैज्ञानिक और तकनीकी रूप से खुद को सक्षम बनाने के लिए मजबूत किया और मुकाबले की तैयारी की।

अपनी वापसी से आगे 22 वर्षीय लंदन के योद्धा ने “द आयरन मैन” के खिलाफ हुई अपनी पहली लड़ाई के बारे में खुलकर बात की। इस दौरान उन्होंने मुकाबले के दौरान सीखे गए सबक को साझा किया। उन्होंने विस्तार से बताया कि वह अपने पुराने दुश्मन को दूसरी बार कैसे और क्यों हरा सकते हैं।

ONE चैंपियनशिप: वर्ल्ड टाइटल रीमैच के लिए एकसाथ आप कैसे आए?

जोनाथन हैगर्टी: उन्होंने मुझे कुछ महीने पहले तत्काल रीमैच दिया था, जिसके लिए मैं बहुत आभारी हूं लेकिन मैंने इसे ठुकरा दिया था। मेरे दिमाग में था कि मैं इसके लिए तैयार नहीं हूं। मैं तब नुकसान से उबर रहा था। मैं सीधे वापसी के लिए आ सकता था लेकिन तब मैं 100 प्रतिशत तैयार नहीं था। मैंने पहले भी ऐसा किया है, तब मुझे मन मुताबिक परिणाम नहीं मिले हैं।

मेरे लिए रीमैच को बंद करना बहुत कठिन था लेकिन अब सही समय है। मुझे पता है कि 10 जनवरी को आने वाला समय सही होगा, जब मैं अपनी प्रतिभा साबित कर पाऊंगा।

ONE: आप जब फिर से रोडटंग का सामना करेंगे तो आपको क्या समायोजन करना होगा?

जोनाथन हैगर्टी: मैं कम भावुक होऊंगा क्योंकि रोडटंग के साथ लड़ाई में वह चाहता है कि आप भावुक हों। वह चाहता है कि आप उससे लड़ें। वह चाहता है कि आप अपनी युद्ध की वृत्ति को बाहर लाएं, जहां आप सहज नहीं हैं।

मैं उसे निराश करने जा रहा हूं। वह जो सामान्य रूप से करता है, उसके लिए मैं उसे लड़ने के लिए आने दूंगा। आशा करता हूं कि मैं उसे पकड़ लूंगा और जिस पर हम काम कर रहे हैं, वो उस पर लागू कर पाऊंगा।

Jonathan Haggerty throws his push kick at ONE: DAWN OF HEROES.

ONE: आपने कहा कि आप पहली बार बहुत भावुक हो गए थे। क्या हुआ था?

जोनाथन हैगर्टी: इसमें कोई शक नहीं है कि बेहतर योद्धा ही उस मुकाबले की रात जीता था। मैंने पहले दौर में सहज महसूस किया था। दूसरे दौर में मुझे लगा कि टहलते हुए प्रहार करने होंगे। हालांकि, थाई योद्धा ने इस तकनीक को आखिरी राउंड में चुना। अब अनुभव के साथ मैं इसका ध्यान रखूंगा।

तीसरे दौर में रेफ ने ब्रेक के लिए कहा। मैंने कोई अनादर न करते हुए उससे दूर जाते वक्त कुछ नहीं किया लेकिन उसने मेरी पीठ को छुआ। मुझे लगा कि मैं अपनी कोहनी के साथ पकड़ा गया हूं और मैंने अपने पैर भी खो दिए। मैंने चलने की कोशिश बंद कर दी। मैं भावुक हो गया और लड़ने लगा। मैंने अपनी बाहें खोल दीं, जो मैं सामान्य रूप से नहीं करता हूं।

मैं निराश हो गया। मैं ऐसे नहीं चल रहा था जैसे मैं पहले दो दौर में था। मैंने अपने पैर खो दिए और फ्लैट-फुट हो गया। मैं बस खड़ा होना और प्रहार करना चाहता था, जो एक अच्छा विचार नहीं था।

तीसरे और चौथे राउंड के अंत में मैंने सोचा कि मैं अब अपने प्रतिद्वंद्वी का खेल खेल रहा हूं। हालांकि, दिमागी तौर पर मुझे लग रहा था कि मैं वास्तव में पीछे नहीं हट सकता क्योंकि तब मैं वहां से हट जाऊंगा। मुझे पांचवें राउंड में वापसी मिल गई। मैंने पांचवें राउंड में अपना दम दिखाया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

Jonathan Haggerty throws his jab at ONE: DAWN OF HEROES.

ONE: पांचवें दौर में आपको फिर से पटरी पर लाने के लिए क्या हुआ था?

जोनाथन हैगर्टी: मुझे याद है कि मेरे पिता और क्रिस (कोच) मुझ पर तेज से चिल्ला रहे थे कि तुमको यह राउंड जीतना है। मैं थका नहीं था। आप यह जानते थे कि आपको वहां से जाना है लेकिन जब आप अपने पैरों को ढंग से घुमा नहीं सकते थे तो वहां खड़े रहने के अलावा कोई उपाय नहीं बचता था।

ONE: क्या आपने फिर से मैच देखा है? यदि हां, तो आपने इसके बारे में क्या सोचा था?

जोनाथन हैगर्टी: हाँ, मैं वो मुकाबला वापस देख रहा हूं। मुझे पहले और दूसरे दौर में उलटफेर करना पसंद है क्योंकि यह एक मास्टरक्लास की तरह था। मुझे अविश्वसनीय लगा लेकिन जाहिर है आपको पूरी लड़ाई देखने को मिली।

जब मैं गिरा तो चौथा राउंड देखना मुश्किल था। मुझे लगता है कि पहली बार है, जब मैं बाहर हो गया लेकिन मैंने अपना समय लिया। मुझे याद है कि मैं सीलिंग पर अपना नाम देख रहा था। मेरी मां भीड़ में बैठी थी। मैंने एक गहरी सांस ली।

ONE: आपने इससे क्या सबक लिया?

जोनाथन हैगर्टी: वहां पर अटकना नहीं। उसकी खेल रणनीति में गिरने की कोशिश न करना। कहीं पर अटको नहीं क्योंकि वह यही चाहता है। बस उस पर हंसो। हो सकता है कि लोग यही देखना चहाते हों लेकिन कभी-कभी सादगी ही महत्वपूर्ण होती है। बस मैं अपने प्रहारों पर ध्यान दूंगा और एंगल्स बनाऊंगा, ताकि मैं अपने पैर न खोऊं।

Jonathan Haggerty and Rodtang Jitmuangnon embrace after their ONE Flyweight Muay Thai World Title bout in Manila.

ONE: आप ONE: CENTURY में वॉल्टर गोंसाल्वेस के खिलाफ अपने विश्व टाइटल डिफेंस से कुछ भी ले सकते हैं?

जोनाथन हैगर्टी: यह बहुत अच्छी तरह से मेल खाता था। यह भी एक करीबी लड़ाई थी। मैं वास्तव में ऐसा नहीं कर सकता क्योंकि गोंसाल्वेस मेरी तरह नहीं लड़ता। वह रोडटैंग की तरह लड़ता है। आप देख सकते हैं कि जब आप हटते हैं तो रोडटंग निराश हो जाते हैं। वह आपको वहीं खड़ा रखना चाहता है। आपकी ठुड्डी को निशाना बनाना चाहते हैं और लड़ने के लिए उकसाना चाहते हैं लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

ONE: क्या रीमैच आसान होगा क्योंकि आप जानते हैं कि अब अपने प्रतिद्वंद्वी से क्या उम्मीद करनी चाहिए या रीमैच कठिन होगा क्योंकि दोनों ही योद्धा पूरी तरह से एक-दूसरे का सामना करने के लिए तैयार हैं?

जोनाथन हैगर्टी: आसान, क्योंकि मुझे लगता है कि हम जानते हैं कि एक-दूसरे से क्या उम्मीद रखते हैं। मुझे नहीं लगता कि वह कुछ खास है। हां, उसने मुझ पर कुछ अच्छे प्रहार किए। तीन अच्छे प्रहार हैं, जो मैंने महसूस किए लेकिन तकनीकी रूप से, मैं इससे बेहतर लोगों के साथ लड़ा हूं।

और पढ़ें: ONE के वर्ष 2020 के पहले इवेंट में दिखेगा एक ऐतिहासिक वर्ल्ड टाइटल रीमैच