मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

मिटसाटिट के खिलाफ स्टैंड-अप गेम से पीछे नहीं हटेंगे लिटो आदिवांग

भले ही लिटो आदिवांग के विरोधी पोंगसिरी “द स्माइलिंग असासिन” मिटसाटिट स्ट्रॉवेट डिविजन के सबसे खतरनाक स्ट्राइकर्स में से एक हों लेकिन लिटो का मानना है कि वो शो में बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे।

ONE Warrior Series (OWS) के कॉन्ट्रैक्ट विनर को थाई नॉकआउट आर्टिस्ट के खिलाफ ONE: FIRE & FURY में स्टैंड-अप बाउट करनी होगी। वो मनीला में फिलपींस के अपने लोकल फैंस को इस मैच के जरिए एंटरटेन करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

हालांकि, 26 वर्षीय एथलीट इस शुक्रवार, 31 जनवरी को एक अच्छे गेम प्लान के साथ सर्कल में उतरेंगे, ताकि वो किसी भी कीमत पर अपने विरोधी को पराजित कर सकें।

आदिवांग कहते हैं, “मैंने उनके ऊपर पहले स्ट्राइक्स की बौछार करने की योजना बनाई है। मैं उनके ऊपर अपनी स्ट्राइकिंग स्किल्स को टेस्ट करूंगा लेकिन ये निर्भर करता है कि उस वक्त परिस्थितियां क्या होंगी। अगर काउंटर करने की संभावना बनेगी तो मैं वो भी करूंगा। मैं इन चीजों को मिक्स कर दूंगा।”

“अगर ये सिर्फ काउंटर्स वाली बाउट बन जाती है तो बोरिंग हो जाएगी। मैं उनके साथ बराबरी से मुकाबला करना चाहता हूं। इसी के लिए मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं। अगर वो मुझ पर काउंटर स्ट्राइक करेंगे तो मैं मिक्स स्टाइल में उन्हें जवाब दूंगा।

वो कहते हैं, “मैं मैच को फिनिश करने की कोशिश करूंगा। हालांकि, ये इस पर निर्भर करेगा कि मैच कहां होगा लेकिन मुझे किसी कीमत पर इसे फिनिश करना ही होगा। चाहे वो नॉकआउट के जरिए हो या फिर सबमिशन के।”

मिटसाटिट के 90 प्रतिशत फिनिशिंग रेट को देखते हुए उनके खिलाफ आक्रामक रवैया अपनाना खतरनाक साबित हो सकता है। आदिवांग को लगता है कि आक्रामक होना उनकी मजबूरी होगी, ताकि वो मैच जीतकर अपने जिम की प्रतिष्ठा को बनाए रख सकें।

Team Lakay के एथलीट्स The Home Of Martial Arts का प्रमुख हिस्सा रहे हैं, जो अपनी रोमांचक बाउट्स और सफलता की बदौलत पांच बार वर्ल्ड चैंपियंस बने हैं। अब आदिवांग भी उनके नक्श-ए-कदम पर चलने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं।



“थंडर किड” ने कहा, “मैं एक अच्छा मैच देने के दबाव को संभालने की कोशिश कर रहा हूं क्योंकि मैं Team Lakay का सदस्य हूं। मैं ऐसा सिर्फ कठिन ट्रेनिंग लेकर ही कर सकता हूं। ऐसा करने के बाद मैं जब मैच करता हूं तो अपना बेस्ट देने में सक्षम हो जाता हूं।”

“हार या फिर जीत, मायने ये रखता है कि मैच में अपना 100 प्रतिशत देने में सफल रहा और जो मैं कर सकता था, उसे मैच के दौरान कर पाया या नहीं।”

आदिवांग पहली बार ONE एथलीट के रूप में अपने देश में बाउट करने जा रहे हैं। ये चीज उन्हें असाधारण प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित कर रही है।

भले ही मार्शल आर्ट्स के इतिहास के सबसे बड़े शो में उन्होंने अपना विजयी डेब्यू किया हो (ONE: CENTURY, जहां उन्होंने सेन्जो अकीडा को एक तेज-तर्रार तकनीकी नॉकआउट में पराजित कर दिया था) लेकिन लोकल प्रशंसकों की उम्मीद पर खरा उतरने के लिए उन पर दबाव होगा।

हालांकि, “थंडर किड” लगातार 6 जीत हासिल कर चुके हैं। ऐसे ही सकारात्मक विचारों ने बाउट के लिए उठने वाली चिंताओं को पूरी तरह से दूर कर दिया है और उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया है।

उन्होंने कहा, “मैं ये नहीं कह सकता कि मैं वास्तव में घबराया हुआ हूं। ऐसा सिर्फ 20 से 30% हो सकता है लेकिन मैं ज्यादातर फिलीपीनो क्राउड के सामने प्रदर्शन करने को लेकर उत्साहित हूं।”

“मैं उन सभी चाहने वालों की उम्मीदों को अपनी प्रेरणा बनाऊंगा और बेहतरीन प्रदर्शन करूंगा।”

आदिवांग के लिए लंबा समय हो गया है, जब उन्होंने अपने मैच में गृहनगर के प्रशंसकों का शोर सुना हो।

नवंबर 2013 में फिलीपींस की धरती पर अपने आखिरी मैच के बाद उन्होंने मलेशिया, भारत, थाईलैंड, सिंगापुर और जापान में प्रतिस्पर्धा की है। इस वजह से वो अब अपने स्थानीय प्रशंसकों और परिवार के लोगों के सामने होने वाले मैच का लंबा इंतजार नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, “मेरे सभी भाई-बहन इस मैच को देखेंगे। समर्थन करने के लिए वहां मेरे कई दोस्त भी होंगे।”

“फैंस आपको प्रोत्साहित करेंगे क्योंकि आप अपने घर में होंगे। मैं अपने परिवार को दिखाना चाहता हूं कि मैंने इसे बनाया है और आज मैं यहां पर हूं। मैं अब उन चीजों को दिखाऊंगा, जिन पर मैंने लंबे समय तक काम किया है।

“ये मेरे देशवासियों के सामने प्रदर्शन करने का बेहतरीन मौका है क्योंकि मुझे उनके सामने अपनी उपस्थिति महसूस करवाए हुए लंबा अरसा हो गया है। मैं अपने देश को फिर से अपना परिचय कराना चाहता हूं।”

ये भी पढ़ें: लिटो आदिवांग मुसीबतों को पीछे छोड़ कैसे बड़े स्टार बने

मनीला | 31 जनवरी | ONE: FIRE & FURY | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं