लाइफ स्टाइल

Tip Tuesday: रनिंग को मजेदार बनाने के लिए मार्टिन गुयेन ने दी टिप्स

ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन मार्टिन “द सीटू-एशियन” गुयेन को अच्छे से ये बात पता है कि रनिंग से कार्डियो और सहनशक्ति पर काफी असर पड़ता है। वो क्रिश्चियन “द वॉरियर” ली और बिबियानो “द फ़्लैश” फर्नांडीस से पांच चैंपियनशिप राउंड तक सामना कर चुके हैं और उनका स्टैमिना कहीं से कमजोर नहीं पड़ा था।

अब जब COVID-19 महामारी के चलते ज्यादातर जिम बंद हो चुके हैं। ऐसे में रनिंग जैसे वर्कआउट सबके लिए अब भी मौजूद हैं। इनके लिए उपकरणों की भी जरूरत नहीं होती है लेकिन इस काम से काफी थकान महसूस हो सकती है। 

गुयेन जानते हैं कि ये हमेशा सबसे मजेदार नहीं होता है। खासतौर पर जब आप इसकी तुलना मार्शल आर्ट्स की आकर्षक दुनिया के प्रशिक्षण से करते हैं।

ऐसे में ये रहे वियतनामी-ऑस्ट्रेलियाई एथलीट की ओर से बताए गए 3 तरीके, जो आपकी रनिंग को और मजेदार बना सकते हैं।

#1 लोगों के साथ ग्रुप में दौड़ें

ONE Featherweight World Champion Martin Nguyen running with friends

कई बार अकेले रनिंग करना काफी बोरिंग और एक ही तरह की एक्सरसाइज बनकर रह जाता है।

ऐसे में एक या आधे घंटा जानी-पहचानी गलियों में दौड़ना आपको शायद हर बार अपने जूतों की डोरियां बांधकर घर से बाहर निकलने के लिए प्रेरित न करे।

हालांकि, लॉकडाउन के दौरान ये सुरक्षित और एक्सरसाइज किए जा सकने वाला तरीका है। ऐसे में कुछ दोस्त या एक रनिंग क्लब के साथ दौड़ने पर आपको समय का पता नहीं चलेगा। जब लोग साथ में दौड़ते हैं तो उनका उत्साह बढ़ा रहता है।

गुयेन ने बताया, “जब सब एक चीज को लक्ष्य बनाकर दौड़ते हैं तो इसमें काफी मजा आता है। इससे आप अपनी सीमाओं को विस्तार दे सकते हैं। साथ ही प्रोत्साहन भी मिलता है क्योंकि सब एक ही तरह के लक्ष्य को पाने के लिए एक साथ प्रयास कर रहे होते हैं।”

“कोई एक आपको प्रोत्साहित कर रहा होता है और आप दूसरे को। ऐसे में सबको कड़ी मेहनत करते देखने से गजब का उत्साह मिलता है। साथ ही ये काफी रोचक मुकाबला भी हो सकता है। कोई एक बाकी दूसरों से ज्यादा बेहतर करने की कोशिश कर रहा होता है और कोई दूसरा आप से अच्छा करने की कोशिश में लगा होता है। इस तरह से लोग साथ में मुकाबला कर रहे होते हैं।”

अगर सोशल डिस्टेंसिंग नियम के चलते आपको अकेले दौड़ना पड़ रहा है तो ऐसे में रनिंग एप्स के जरिए अपने दोस्तों को चैलेंज कर सकते हैं। उसमें देख सकते हैं कि कौन सबसे तेज दौड़ रहा है। ऐसे में ये मुकाबला आपको प्रोत्साहित करने का काम करेगा।



#2 नकारात्मक की जगह सकारात्मक चीजों पर फोकस करें

Martin Nguyen

एक समय पर आप मसल्स में दर्द और थकते फेफड़ों के बारे में सोचने लगें लेकिन गुयेन तुरंत ही ऐसे फिजियोलॉजिकल एडजस्टमेंट को लक्ष्य पाने के लिए जरूरी मानते हैं।

फिर चाहे वेट लॉस हो, फिटनेस हो या मैच के लिए तैयारी, आपको हर बार अपने उद्देश्य को याद करना होता है। इस तरह से आप खुद को इन रुकावटों के आगे बिना रुके धकेलते जाते हैं।

“द सीटू-एशियन” ने बताया, “सकारात्मक सोच की अहमियत ही आपको वहां तक पहुंचने के लिए प्रेरित करती है, जहां आपको पहुंचना होता है। ऐसे में वहां तक पहुंचना और अपने लक्ष्य को पाने से आपको बहुत अच्छा महसूस होता है।”

“तो ऐसे में सोचना होता है कि अंत में आपको क्या मिलेगा और वो एक सकारात्मक चीज होनी चाहिए। फिर चाहे आपको वजन घटाना हो या फिर बनाना हो, ये सब आप पर निर्भर करता है।

“अगर आप नेगेटिव की बात करें तो आपको इससे तकलीफ मिलती है। हो सकता है कि आपको कोई चोट लग जाए, जिनसे आपका उत्साह कम हो जाए या हो सकता है कि आपके आसपास ऐसे लोग हों जो आपके और आपके लक्ष्य के बारे में बुरा बोलते हों। इस तरह की नकारात्मकता आपके आसपास हो सकती है लेकिन आपको उन चीजों पर ध्यान लगाना होता है, जो आप चाहते हैं और जहां पहुंचना चाहते हैं।”

#3 अपना पसंदीदा म्यूजिक सुनें

ONE Featherweight World Champion Martin “The Situ-Asian” Nguyen

समय बांटने और रास्ते में एंजॉय करने का एक अच्छा तरीका अपने पसंदीदा गानों को सुनना है, जिससे आपको लगातार आगे बढ़ने का प्रोत्साहन मिले।

वर्कआउट के असर से होने वाले भटकाव से खुद को बचाने के लिए आपको बस अपने हेडफोन लगाने हैं और कुछ बढ़िया गाने बजाने हैं।

गुयेन को 90 के दशक के गानों पर वर्कआउट करना पसंद है। इसमें R&B और उनके वॉकआउट सॉन्ग लिंकिंन पार्क और जेज़ी का गाया नंब/एनकोर उन्हें बेहद पसंद है। उन्होंने बताया, “बेहतरीन बीट वाले गानों से अच्छा और कुछ नहीं हो सकता और जब वर्कआउट की बात आती है तो बस आपको अपने दिमाग को कहीं और ले जाने की जरूरत होती है।”

“इसके साथ ही आप रनिंग के दौरान थोड़ा बहुत कैरिओके भी सुन सकते हैं। इससे आपका समय आसानी से निकल जाएगा। पांच गाने सुनते ही आपके वर्कआउट के 20 मिनट गुजर जाएंगे। इससे आपका समय काफी तेजी से बीत जाएगा।”

ये भी पढ़ें: गुरदर्शन मंगत ने अपनी ट्रेनिंग, डाइट में आए बदलाव और भविष्य के प्रतिद्वंदी के बारे में बात की