मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

वर्ल्ड चैंपियन जिओंग जिंग नान जरूरतमंद लोगों की हर संभव मदद करना चाहती हैं

ONE विमेंस स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन “द पांडा” जिओंग जिंग नान The Home Of Martial Arts की सबसे खतरनाक एथलीट्स में से एक हैं।

30 अक्टूबर को ONE: INSIDE THE MATRIX में “द पांडा” को अपनी पुरानी प्रतिद्वंदी और #1-रैंक की कंटेंडर टिफनी “नो चिल” टियो के खिलाफ टाइटल को डिफेंड करना है।

32 वर्षीय स्टार चाहे सर्कल में कितनी ही आक्रामक नजर क्यों ना आती हों, लेकिन मार्शल आर्ट्स से बाहर की दुनिया में उनका स्वभाव उससे पूरी तरह उलट है।

जिओंग ने कहा, “मैं बहुत जल्दी भावुक हो जाती हूं और ये मेरी सबसे बड़ी कमजोरी है।”

“किसी जीत को सेलिब्रेट करना भी मुझे बहुत पसंद है और मेरा देश मेरे लिए सबसे पहले आता है। मेरे माता-पिता ने मुझे हमेशा सच्चाई का साथ देना और हमेशा प्रतिबद्ध रहना भी सिखाया है।

“जो चीजें जन्म से ही मेरे साथ रही हैं, उन्हें कोई नहीं बदल सकता। मैं जब भी कठोर रवैया अपनाने की कोशिश करती हूं, तो उसमें मुझे नाकामी ही मिलती है।”

अभी तक जिओंग को ऐसे किसी रवैये की जरूरत महसूस नहीं हुई है। वो जानती हैं कि रिंग में उतरने के बाद उन्हें क्या करना है।

इसी साहसीपन ने जनवरी 2018 में हुए ONE: KINGS OF COURAGE में “द पांडा” को पहली ONE विमेंस स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन बनने में मदद की थी। उस मैच में चीनी स्टार ने “नो चिल” को दमदार राइट और लेफ्ट हैंड्स लगाते हुए चौथे राउंड में मात दी थी।

उसके बाद से ही जिओंग को स्ट्रॉवेट डिविजन के किसी मैच में हार नहीं मिली है।

चैंपियन बनने के बाद वो अपनी तीनों वर्ल्ड टाइटल चैलेंजर्स को हरा चुकी हैं। इस बीच उन्होंने मार्च 2019 में उस समय अपराजित रहीं ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड चैंपियन “अनस्टॉपेबल” एंजेला ली को भी मात दी थी।



जिओंग को ये सफलता केवल अपनी स्किल्स के दम पर नहीं मिली है। बीजिंग निवासी एथलीट को सफलता प्राप्त करने के लिए अपने सगे-संबंधियों का भी साथ मिला है।

उन्होंने कहा, “मेरे माता-पिता, परिवार और दोस्त ही मेरे लिए सबसे बड़ी प्रेरणा का स्त्रोत रहे हैं।”

इन दिनों जिओंग अपने परिवार और दोस्तों से दूर सिंगापुर की Evolve MMA में ट्रेनिंग कर रही हैं। इस दौरान उन्हें अपने टीम मेंबर्स का भी बहुत साथ मिला है और अपने साथियों के साथ वो बहुत समय बिताना पसंद करती हैं।

जिओंग ने कहा, “मुझे लगता है कि हर एक खिलाड़ी अलग होता है, लेकिन मैं बहुत बार अकेलापन भी महसूस करती हूं।”

“इस सफर पर केवल मुझे ही आगे बढ़ना है और सभी अच्छी और बुरी बातों को मुझे खुद तक सीमित रखना होगा। हालांकि, इस बीच काफी लोगों की मदद भी मिलती है लेकिन दूसरे की भावनाओं को पूर्ण रूप से समझना लगभग असंभव है। ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जिससे मैं अपने दुख और दर्द को शेयर कर सकूं।”

ONE Women's Strawweight World Champion strikes Angela Lee in March 2019

ये आसान नहीं है लेकिन जिओंग के अनुसार सर्कल के बाहर की दुनिया का अकेलापन मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए जरूरी है।

उन्होंने कहा, “मुझे अकेलेपन से डर नहीं लगता। मुझे लगता है कि सभी बड़े एथलीट्स और वर्ल्ड चैंपियंस किसी ना किसी समय खुद को अकेला महसूस करते होंगे। इस अकेलेपन से जीतकर ही हम अपने करियर में आगे बढ़ सकते हैं।”

जिओंग की प्रतिबद्धता और त्याग करना ही उन्हें सफलता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

“द पांडा” अपने करियर के समाप्त होने के बाद भी हर वो चीज करना चाहती हैं जो उनके बस में होगा, जिससे उन्हें अच्छा महसूस हो सके। वो अन्याय के खिलाफ आवाज उठाती रही हैं, लेकिन वो अपनी बातों को ज्यादा लोगों तक भी पहुंचाना चाहती हैं।

चीनी स्टार ने कहा, “मैं अपने जीवन में ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद करना चाहती हूं।”

“जितना मुझसे हो सकेगा, मैं हमेशा लोगों की मदद करने का प्रयास करूंगी। सड़कों पर घूमते समय मुझे ऐसी चीजें देखने को मिलती हैं जिन्हें मैं नहीं देखना चाहती या इस तरह की कोई खबर पढ़ती हूं तो मुझे बहुत बुरा लगता है।

“मुझे लगता है कि जब हम छोटे थे, दूसरों की मदद करना चाहते थे। लेकिन उस समय हम ऐसा करने में सक्षम नहीं थे।

“मैं अपनी जिम्मेदारी को समझती हूं और दूसरे लोगों की हर संभव मदद करना चाहती हूं।”

इसके अलावा “द पांडा” बड़ा बदलाव करने के लिए प्लान भी तैयार कर रही हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे लगातार नई चीजों को सीखते रहना होगा और खुद में सुधार भी करना होगा। जिससे भविष्य में भी मैं लोगों की मदद कर सकूं।”

ये चीजें जिओंग को अपने अगले वर्ल्ड टाइटल डिफेंस में मदद कर सकती हैं और उन्हें हमेशा से ही लोगों की मदद करना अच्छा लगता है। इस व्यवहार के कारण ही वो एक अच्छी मार्शल आर्टिस्ट बन पाई हैं।

लेकिन सर्कल में वो किसी भी समय अपने बर्ताव में बदलाव करने में सक्षम हैं, इसलिए टियो के खिलाफ मैच में फैंस को चीनी स्टार द्वारा धमाकेदार प्रदर्शन की उम्मीद भी रखनी चाहिए।

जिओंग ने कहा, “मैं अपने प्रदर्शन, रिकॉर्ड को और भी बेहतर करना चाहती हूं, जिससे चीन के लोगों को मार्शल आर्ट्स के बारे में पता चल सके।”

“मैं चीन में लैंगिक समानता को भी बढ़ावा देना चाहती हूं। युवा स्टार्स के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बनना चाहती हूं और उन्हें अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित करना चाहती हूं।”

ये भी पढ़ें: जिओंग जिंग नान को हराकर चैंपियन बनना चाहती हैं टिफनी टियो