मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

इंडोनेशिया की Han Academy अज़ीज़ कालिम और एब्रो फर्नांडीस के लिए है खास

ONE Championship ने इंडोनेशियाई मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स पर बड़ा प्रभाव छोड़ा है और इसका सबूत देश के सबसे टैलेंटेड एथलीट्स के विकास से मिलता है।

अज़ीज़ “क्रॉसर” कालिम और एब्रो “द ब्लैक कोमोडो” फर्नांडीस, दोनों एथलीट्स को सेंट्रल जावा के सोलो में स्थित The Han Academy के जिम की वजह से सफलता मिली है।

पिछले कुछ सालों में The Han Academy इंडोनेशिया के सबसे अच्छे ट्रेनिंग सेंटर्स में से एक बन गया है और इसका पूरा श्रेय हेड कोच और संस्थापक योहान “द आइस मैन” मूलिया लेगोवो के शानदार काम को जाता है। वो अभी भी ONE Championship में बतौर मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट काम कर रहे हैं।

कालिम एक उभरते हुए स्टार हैं, जिन्होंने 2015 में मार्शल आर्ट्स स्कूल से खेल की ट्रेनिंग लेना शुरू की थी।

उन्होंने कहा, “असल में मैं पहले जिम में मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स की ओर नहीं देख रहा रहा। मैं अपने आसपास ऐसे जिम की तलाश में था जहां मैं बॉक्सिंग कर सकूं।”

बॉक्सिंग स्किल्स में सुधार करने की इच्छा रखने के बावजूद भी जैसे-जैसे उन्होंने दूसरे खेलों में अपनी ट्रेनिंग को बढ़ाया तो कालिम को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में अपनी क्षमता दिखने लगी।

उन्होंने बताया, “सच बताऊं तो मैं इस खेल में गलती से आ गया।”

“मैं सिर्फ अच्छे तरीके से ट्रेनिंग करने की कोशिश कर रहा था और अचानक से मेरे कोच योहान ने मुझे कुछ एमेच्योर प्रतियोगिताओं में रजिस्टर करा दिया, जिसे मैंने जीत लिया। इसके बाद मैंने OPMMA (One Pride Mixed Martial Arts) में भी रजिस्टर किया जिसे मैंने उस समय सोचा था कि ये भी अन्य बाउट होगी।”



कालिम ने बताया कि सितंबर 2016 में उनका प्रोफेशनल डेब्यू अचानक से हो गया। जब उन्होंने कदम रखा तो वो मुकाबले की अहमियत को नहीं समझ पाए और मानकर चले कि ये एक अन्य एमेच्योर मुकाबला होगा।

इंडोनेशियाई स्टार ने कहा, “जब मुझे मुकाबले के लिए बुलाया गया तो कोच योहान ने मुझे नहीं बताया कि ये एक प्रोफेशनल बाउट है। उन्होंने मुझे सिर्फ कहा कि ये मुकाबला है। इसके बावजूद जब मैं वॉकआउट के दौरान [रास्ते में था] तो कई सारे कैमरा मेरी फोटो खींच रहे थे और मेरी वीडियो बना रहे थे।

अपने करियर की शुरुआत अनोखी जीत से करने के बाद “द क्रॉसर” ने लेगोवो के नेतृत्व में मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में अपने सफर को जारी रखा। भले ही वो कई सारे जिम्स में ट्रेनिंग करने के लिए गए हों या उन्होंने कई कोचों और एथलीट्स के साथ काम किया हो लेकिन The Han Academy अभी भी उनका असली घर है।

कालिम ने कहा, “मैंने कई सारी अन्य जगहों पर ट्रेनिंग की है, जैसे [Golden Camp], जिसके मालिक रूडी अगस्टियन है।”

“हालांकि, उस समय मैंने कभी भी [Han Academy] से जाने के बारे नहीं सोचा था। हमारा बंधन काफी अच्छा था और योहान ने मुझे पहले से बेहतर बनाने के लिए प्रोत्साहित करना जारी रखा।”

लेगोवो द्वारा मिली प्रेरणा और ट्रेनिंग ने कालिम को शानदार एथलीट बना दिया है। उन्हें उम्मीद है कि वो जल्द ही ONE स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप बेल्ट पर कब्जा करेंगे और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर Han Academy का नाम ऊंचा करेंगे।

कुछ ऐसी ही भावनाएं कालिम के हमवतन और ट्रेनिंग पार्टनर फर्नांडीस के मन में भी है।

लेगोवो ने 2015 में मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में प्रोफेशनल तरीके से कदम रखने के बाद “द ब्लैक कोमोडो” को अपने साथ जोड़ा।

फर्नांडीस ने कहा, “मैंने Han Academy से मिले सारे ज्ञान के साथ अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर की शुरुआत की। मैं एक विश्व-स्तरीय एथलीट नहीं बन पाता, अगर कोच योहान और Han Academy के सारे साथी मुझे राह नहीं दिखाते।”

वर्कआउट करने की जगह होने के अलावा Han Academy फर्नांडीस के लिए काफी निजी बन गई है क्योंकि वो अपने ट्रेनिंग पार्टनर्स और कोचों को भाई और बहन की तरह मानते हैं, जिनसे उन्हें विकास करने का रास्ता और मदद मिली है।

उन्होंने बताया, “मेरे लिए जिम से जाने को लेकर कोई भी विचार नहीं आते हैं। वो मेरे लिए काफी खास जगह बन गई है।”

“भले ही मैं भविष्य में अपनी स्किल्स बढ़ाने के लिए अन्य जिम्स में ट्रेनिंग करने की कोशिश करूंगा लेकिन अंत में मैं फिर भी इस जिम में वापसी करूंगा, जिसे मैं घर बोलता हूं।”

ये भी पढ़ें: United MMA: एक फैमिली जिम जहां वर्ल्ड चैंपियन बनते हैं