न्यूज़

ऋतु फोगाट ने 2019 की कामयाबी के बाद 2020 के लिए बनाया खास प्लान

Dec 31, 2019

भारतीय रेसलिंग चैंपियन ऋतु “द इंडियन टाइग्रेस” फोगाट के लिए साल 2019 कई सारी नई सौगात लेकर आया। रेसलिंग छोड़कर मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में आना और पहले ही मुकाबले में अपना दमखम दिखाना, ये ऋतु की नई शुरुआत के सबसे अहम पड़ाव रहे।

16 नवंबर को चीन की राजधानी बीजिंग में आयोजित हुए ONE: AGE OF DRAGONS में ऋतु ने अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर का पहला मुकाबला नाम ही किम के खिलाफ लड़ा और विमेंस एटमवेट डिविजन के मैच में उन्होंने धमाकेदार जीत दर्ज की।

किसी भी नए खेल को अपनाने में शुरुआती मुश्किलें तो जरूर आती ही हैं, फिर चाहे कोई भी एथलीट हो। ऋतु के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ, लेकिन उन्होंने वक्त के साथ खुद को ढाला और ONE में कामयाबी के साथ अपने करियर की शुरुआत की।

मेरे लिए ये सफर आसान नहीं था। जब हम एक खेल को छोड़कर दूसरे खेल में जाते हैं, तो थोड़ी मुश्किलें आती ही हैं। दूसरे देश में रहना और वहां के माहौल में ढलना, ये चीज़ भी मुश्किल रही, लेकिन मैंने उस स्थिति के अनुसार खुद को ढाल लिया।

ONE जॉइन करने के साथ ही ऋतु को पता था कि उन्हें सिंगापुर की वर्ल्ड फेमस Evolve MMA में ट्रेनिंग करने की वजह से घर से लगातार दूर रहना पड़ेगा। घर-परिवार से दूर रहने की वजह से उनकी जिंदगी में कई सारे बदलाव आए हैं।

25 साल की ऋतु ने बताया, “मेरी लाइफ में काफी सारे बदलाव आए हैं। मैं परिवार से अभी काफी दूर हैं, यहां खाने-पीने से लेकर सारे काम खुद करने पड़ते हैं। मैं मां के हाथ की चटनी बहुत मिस करती हूं, वैसे तो मैं यहां खुद ही खाना बनाती हूं, लेकिन जो मां के हाथ के खाने का स्वाद होता है, वो कहीं और नहीं मिल सकता।”

वर्ल्ड U-23 रेसलिंग चैंपियनशिप सिल्वर मेडलिस्ट ऋतु के लिए अब तक के इस सफर में काफी अच्छे और कुछ मुश्किल भरे पल आए हैं।

इस बारे में उन्होंने कहा, “मुश्किल तो यही था कि एक खेल से दूसरे खेल में खुद को ढालने में थोड़ा समय लगता है। अच्छी बात ये रही कि जब मैं ट्रेनिंग करती थी कि मेरे कोच और साथी थे, उनसे अच्छी बातें सुनने को मिलती थी, तो वो चीज काफी अच्छी लगती थी।”

ऋतु फोगाट Evolve MMA में ट्रेनिंग करती हैं, जहां उन्होंने दुनिया के सबसे अच्छे कोच, ट्रेनर और एथलीटों का साथ मिलता है। उनका कहना है कि वो सब एक परिवार की तरह हैं और उनसे काफी कुछ सीखने को भी मिलता है।

“यहां अलग-अलग देशों के लोग हैं, मेरी सभी के साथ बॉन्डिंग अच्छी है। हम सब एक फैमिली की तरह हैं।

“ब्राजील की माइरा मज़ार और बाकी एथलीट, मुझे एक बहन की तरह ट्रीट करती हैं और कभी-कभी ट्रेनिंग के दौरान डांट भी देती हैं। मुझे सिखाती और गलती होने पर मुझे समझाती भी हैं।”

“द इंडियन टाइग्रेस” का डेब्यू मैच 16 नवंबर को चीन के बीजिंग में हुआ। उनका सामना दक्षिण कोरिया की नाम ही किम के खिलाफ हुआ। खास बात ये रही कि किम उनसे पहले मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में डेब्यू कर चुकी थीं, जिसमें उन्हें जीत हासिल हुई थी।



रेसलिंग मैट पर बड़े-बड़े रेसलर्स को ढेर कर चुकीं ऋतु के सामने अब चुनौती दूसरी थी, जिसको लेकर वो बहुत उत्साहित थीं।

ऋतु ने बताया, “मैं बहुत ही ज्यादा उत्साहित थी क्योंकि मेरा पहला मैच था। मैंनै रेसलिंग मैच लड़े हैं, लेकिन मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मैच मेरे लिए नया था। मेरे मन में यही था कि मैंने जो ट्रेनिंग ली है और जो सीखा है, वही 100% दूं और मैंने ऐसा ही किया।”

मैच की शुरुआत से लेकर अंत तक ऋतु अपनी प्रतिद्वंदी पर हावी रहीं और उन्हें संभलने का जरा भी मौका नहीं दिया। पहले ही राउंड में उन्होंने किम को तकनीकी नॉकआउट (TKO) के जरिए ढेर कर दिया। इस बारे में ऋतु ने पहले से ही मन बना लिया था कि उन्हें मैच पहले राउंड में ही फिनिश करना है।

“मेरे दिमाग में यही बात थी कि मुझे पहले ही राउंड में मुकाबला खत्म करना है। मैंने मैच के लिए यही रणनीति बनाई थी और इसी पर काम भी किया।”

Ritu "The Indian Tigress" Phogat defeats Nam Hee Kim at ONE AGE OF DRAGONS

हरियाणा के बलाली में पलीं-बढ़ीं ऋतु की सफलता में उनके पिता का बहुत बड़ा रोल रहा है। वो अपने पिता द्वारा कही जाने वाली बात “दूरदृष्टि, कड़ी मेहनत और पक्का इरादा” का हमेशा पालन करती हैं।

डेब्यू मैच में जीत के बाद पिता से हुई बातचीत के बारे में उन्होंने बताया, “फाइट के बाद मेरा कॉन्फिडेंस बढ़ा है। लोगों से मिला प्यार आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है। मैच के बाद मेरी पापा से बात हुई थी तो उन्होंने यही कहा था कि बहुत अच्छा किया। लेकिन अभी चैंपियनशिप बेल्ट के लिए कड़ी मेहनत करनी है और ट्रेनिंग पर फोकस करो।”

कॉमनवेल्थ रेसलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीत चुकीं ऋतु के लिए अभी मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स का सफर शुरु ही हुआ है। यकीनन उनकी रेसलिंग स्किल्स बहुत ही बेहतरीन हैं, लेकिन ऋतु का मानना है कि उन्हेंं अभी अपनी स्ट्राइकिंग स्किल्स पर काम करना है।

ऋतु ने बताया, “मेरा लक्ष्य यही है कि भारत के लिए मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में चैंपियनशिप बेल्ट लेकर आऊं। मैं उसी की तैयारी में लगी हुई हूं और उम्मीद करती हूं कि 2020 में जो मेरा टारगेट है, वो पूरा हो।”

“रोजाना कुछ न कुछ नया सीख ही रही हूं। मेरा मेन फोकस स्ट्राइकिंग पर रहेगा।”

एटमवेट डिविजन में मुकाबला करने वालीं ऋतु का सपना ONE वर्ल्ड चैंपियनशिप हासिल करना है, जिसके लिए उन्हें टॉप एथलीट्स का सामना कर उन्हें मात देनी होगी। वो कहती हैं कि उनका मुकाबला किसी के साथ भी हो, वो हमेशा तैयार हैं।

“कोई भी हो, मैं हर किसी के खिलाफ मुकाबला करने के लिए तैयार हूं। मैं अभी ट्रेनिंग कर रही हूं, मेरी प्रतिद्वंदी चाहे कोई भी हो, उसके लिए हमेशा रेडी रहती हूं।”

ये भी पढ़ें: भारत की पहली मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स वर्ल्ड चैंपियन बनने पर हैं ऋतु फोगाट की नजरें

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में दोपहर 3:30 बजे से देखें