न्यूज़

अपने बेंटमवेट डेब्यू मैच में क्लेंसी को नॉकआउट करने का प्लान तैयार कर चुके हैं पोंगसिरी

फेदरवेट डिविजन के बड़े सुपरस्टार्स को चुनौती देने के बाद 4 बार के मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन पोंगसिरी पीके.साइन्चे मॉयथाईजिम ने अपने भार वर्ग में बदलाव करने का निर्णय लिया है, जिससे उन्हें जीत की लय प्राप्त हो सके।

शुक्रवार, 11 सितंबर को फैंस को थाई एथलीट का बेंटमवेट डिविजन डेब्यू देखने को मिलेगा। ONE: A NEW BREED II के मेन इवेंट में वो अपना प्रोमोशनल डेब्यू कर रहे WBC मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन शॉन “क्लबर” क्लेंसी का सामना करते हुए नजर आएंगे। ये थाईलैंड के बैंकॉक से प्री-रिकॉर्डेड शो होगा।

पोंगसिरी के पास मौका होगा कि वो इस डिविजन में बड़े सुपरस्टार बनकर उभरें।

29 वर्षीय स्टार ने कहा, “मैं इस कैटेगरी में हमेशा से मैच चाहता था। इस भार वर्ग में फाइट कर मुझे सबसे अच्छा महसूस होता है। मैं दुनिया को दिखाना चाहता हूं कि इस डिविजन में चैंपियन बन सकता हूं।”

इसी साल पोंगसिरी ने फेदरवेट डिविजन में शामिल होकर अपना ONE डेब्यू किया था। बहुत कम समय के नोटिस पर उन्हें पहले ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच में पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी को चुनौती देने का अवसर मिला था।

फरवरी में PK.Saenchai Muaythaigym टीम के मेंबर ने शॉर्ट नोटिस पर मिले इस ऑफर को स्वीकार किया और पेटमोराकोट को ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल के लिए चैलेंज किया।

एक तरफ पोंगसिरी ने मैच जीतना का हर संभव प्रयास किया लेकिन Petchyindee Academy के एथलीट को अच्छे स्टैमिना, लंबी रीच और 11 सेंटीमीटर लंबे होने से भी बहुत फायदा पहुंचा। इस मैच में उन्होंने सर्वसम्मत निर्णय से जीत दर्ज की और चैंपियनशिप अपने नाम की।



उसके बाद अगस्त में पोंगसिरी की भिड़ंत पेटमोराकोट के टीम मेंबर सोरग्रॉ पेटयिंडी एकेडमी से हुई और उस मैच में भी उन्हें पहले जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उनके प्रतिद्वंदी की लंबी रीच और ज्यादा लंबाई उनपर भारी पड़ रही थी और आखिरकार उन्हें विभाजित निर्णय से हार का सामना करना पड़ा।

कुछ समय बाद उन्हें अहसास हुआ कि फेदरवेट डिविजन में उनके सफल होने के चांस बहुत कम हैं।

उन्होंने बताया, “जब मैं 70.3 किलोग्राम भार वर्ग में शामिल था, तो मुझे मुकाबलों में कम लंबाई से बहुत नुकसान झेलना पड़ रहा था। मेरी लंबाई का फायदा उठाकर मेरे प्रतिद्वंदियों को मुझ पर स्ट्राइक्स लगाने में आसानी हो रही थी। मेरी प्रभावशाली स्ट्राइक्स भी कमजोर पड़ती दिखाई दे रही थीं।”

अब पोंगसिरी का मानना है कि उन्होंने इस समस्या से निजात पा ली है, इसलिए उन्होंने बेंटमवेट डिविजन में आने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा, “इस वेट कैटेगरी में फाइट करना मुझसे सबसे अधिक पसंद है। इस भार वर्ग में मैच को लेकर मैं काफी समय से प्लान तैयार करता आ रहा था। यहां मैं तेज मूवमेंट और अपने प्रतिद्वंदी पर तेजी से प्रहार भी कर पाऊंगा।”

लेकिन इस वर्ल्ड चैंपियन vs. वर्ल्ड चैंपियन मैच में उनके लिए जीत हासिल कर पाना बड़ी चुनौती साबित होने वाली है। पोंगसिरी का सामना एक ऐसे एथलीट से हो रहा है, जो खुद भी अपने ONE करियर की शुरुआत धमाकेदार अंदाज में करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

क्लेंसी के लिए साल 2019 शानदार रहा था। 31 वर्षीय स्टार मार्च में WBC इंटरनेशनल चैंपियन बने, जुलाई में WBC सुपर-लाइटवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप जीती और साल के अंत में उन्हें WBC मॉय थाई फाइटर ऑफ द ईयर अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था।

वहीं, इस मैच में भी पोंगसिरी लंबाई में अपने प्रतिद्वंदी से 7 सेंटीमीटर छोटे हैं। लेकिन उनका मानना है कि वो क्लेंसी की ताकत, साइज़ से पार पाने में पूरी तरह समर्थ हैं।

PK.Saenchai Muaythaigym टीम के एथलीट ने कहा, “उनका बॉडी साइज़ मुझे बड़ा है लेकिन उनकी स्ट्राइक्स उतनी प्रभावशाली नहीं हैं। उनके पंचों से मुझे जरूर बचकर रहना होगा क्योंकि उनके हाथों में गज़ब की ताकत है।”

लेकिन क्लेंसी के पंचों से भी शायद ही पोंगसिरी को ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़े।

दोनों एथलीट फ्रंटफुट पर रहकर अपने प्रतिद्वंदी पर दबाव बनाने का प्रयास करते हैं, थाई एथलीट को उम्मीद है कि मैच शुरू होने के तुरंत बाद ही वो बढ़त बनाने वाले हैं।

उन्होंने कहा, “मैं पहले राउंड की शुरुआत से ही फ्रंटफुट पर रहकर उन पर दबाव बनाने का प्रयास करूंगा।”

“मेरे मूव्स उनसे ज्यादा प्रभावशाली हैं। मुझे ज्यादा अनुभव है और मैं आक्रामक तरीके से स्ट्राइक्स को लैंड करने की कोशिश करता हूं, वहीं मेरी किक्स और एल्बो स्ट्राइक्स भी उन्हें काफी क्षति पहुंचा सकती हैं। मैं उन्हें थकाने का प्रयास करूंगा और कोशिश करूंगा कि उन्हें दमदार एल्बो लगाकर नॉकआउट करूं।”

ऐसा करना आसान नहीं है लेकिन अगर वो ऐसा करने में सफल रहते हैं तो उन्हें ONE Super Series में पहली जीत के साथ-साथ अपना यादगार पल भी मिल जाएगा।

इससे वो जीत की लय में वापसी कर पाएंगे, डिविजन में खुद की मौजूदगी को दर्ज करवा पाएंगे और साथ ही नोंग-ओ गैयानघादाओ को ONE बेंटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन को टाइटल के लिए चुनौती देने के एक कदम करीब भी पहुंच जाएंगे।

पोंगसिरी ने कहा, “अगर मुझे जीत मिलती है तो ये मेरे लिए एक यादगार लम्हा बन जाएगा क्योंकि इस जीत से मैं ONE वर्ल्ड चैंपियन बनने के सपने की ओर एक कदम मजबूती से आगे बढ़ जाऊंगा। मैं चैंपियनशिप जीतने के लिए प्रतिबद्ध हूं।”

ये भी पढ़ें: ONE: A NEW BREED के पूरे कार्ड की घोषणा