न्यूज़

ONE Championship के सुपरस्टार्स ने साइबरबुलिंग के खिलाफ एकजुट होकर आवाज उठाई

पिछले कुछ महीनों से ONE Championship के मार्शल आर्ट्स सुपरस्टार्स इस कठिन समय में लोगों को प्रोत्साहन देते नजर आ रहे हैं।

ONE एथलीट्स ने नस्लवाद की जमकर निंदा की और #BlackoutTuesday में भी भाग लिया और अब वो साइबरबुलिंग के खिलाफ एकजुट खड़े हैं।

साइबरबुलिंग उसे कहा जाता है जब कोई व्यक्ति इंटरनेट के माध्यम से अन्य लोगों को भावनात्मक रूप से परेशान करे। ज्यादा लोगों तक तकनीक और इंटरनेट की पहुंच के कारण इसमें लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है।

इस मुद्दे ने शनिवार, 23 मई को तूल तब पकड़ा जब सोशल मीडिया पर लोगों के द्वारा उत्पीड़न से जापानी फीमेल प्रोफेशनल रेसलर और Terrace House रियलिटी टीवी स्टार हैना किमूरा ने आत्महत्या कर ली। उनकी उम्र अभी केवल 22 साल ही थी।

आगे ऐसी घटनाएं अधिक बढ़ जाएं उसे रोकने के लिए ONE Championship के एथलीट्स इसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं।

इन एथलीट्स में ONE हेवीवेट वर्ल्ड चैंपियन ब्रेंडन “द ट्रुथ” वेरा, ONE एटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन स्टैम्प फेयरटेक्स और रिका “टाइनी डॉल” इशिगे, बी “किलर बी” गुयेन और गुरदर्शन “सेंट लायन” मंगत जैसे मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स सुपरस्टार्स शामिल हैं।

5 सुपरस्टार्स ने एक स्पेशल वीडियो मैसेज साझा किया और लोगों को साइबरबुलिंग के खिलाफ एकजुट खड़े होने के लिए प्रोत्साहित किया।

View this post on Instagram

Hey guys, I know there's a lot going on in the world right now, but today I wanted to talk about something serious that recently happened in Japan.⁣ ⁣ There was a young girl, who was very successful. She was a pro wrestler and a tv star and just last week, she took her own life. Her name was Hana Kimura and she was 22 years old, just a year younger then me. ⁣ ⁣ Constantly being in the public eye, will put a lot of pressure on anyone. Now add people's judgements, criticism, ignorant comments, hateful comments… That's enough to push anyone over the edge. A strong and positive mindset is so important to have. And even when you're in a good place, notifications, messages and comments can pop up and put you right back into that dark place. ⁣ ⁣ "Just ignore them" ⁣ "They mean nothing to you" ⁣ "Be bigger than that" ⁣ "Stay positive"⁣ It's much easier said than done. ⁣ Because sometimes, you try for so long. To stay positive for so long. That one little thing, can push you over the edge. ⁣ I feel for Hana Kimura. ⁣ I wish I could've helped. ⁣ ⁣ I don't understand why people feel the need to spread negativity and ill wishes to another person, whom they have never even met. Your words can uplift and heal someone but they can also knock down and destroy someone. Please, think twice before you speak. It could save someone's life. ⁣ ⁣ ⁣ ???? ???????????????? #???????????????????????????????? #???????????????????????????????????????????????????? ⁣ ♥️ ???????????????? ???????? ???????????????????? ???????????????? ???????????????????????? #???????????? @hanadayo0903

A post shared by Angela Lee Pucci (@angelaleemma) on

साथ ही ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड चैंपियन “अनस्टॉपेबल” एंजेला ली ने भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स के माध्यम से आवाज उठाई और कहा कि शब्दों में बहुत ताकत होती है।

उन्होंने लिखा, “आपके शब्द किसी व्यक्ति को अच्छा महसूस कराने के साथ-साथ उनका आत्मविश्वास भी बढ़ा सकते हैं लेकिन साथ ही वो किसी की जिंदगी भी बर्बाद कर सकते हैं। कृपया करके कुछ भी लिखने या बोलने से पहले 2 बार सोचें, ऐसा करने से आप किसी की जिंदगी बचा सकते हैं।”

ये भी पढ़ें: ONE Championship के CEO चाट्री सिटयोटोंग ने ‘Black Lives Matter’ का समर्थन किया