मॉय थाई

लियाम हैरिसन को एक और नॉकआउट जीत से वर्ल्ड टाइटल के करीब पहुंचने की पूरी उम्मीद

10 जनवरी को हुए ONE: A NEW TOMORROW में लियाम “हिटमैन” हैरिसन ने धमाकेदार अंदाज में मोहम्मद “जॉर्डन बॉय” महमूद पर जीत दर्ज करते हुए पूरे बेंटमवेट डिविजन को जैसे खुली चुनौती दे दी है।

अब 8 बार के मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन का मानना है कि बैंकॉक के इम्पैक्ट एरीना में आई ये जीत उनके नौवें वर्ल्ड टाइटल के सफर की शुरुआत है और उन्हें उम्मीद है कि वो अपने करियर का सबसे बड़ा टाइटल जीतने में सफल रहेंगे।

हैरिसन अपने करियर में कई लैजेंड एथलीट्स का सामना कर चुके हैं और फैंस उनका नाम लैजेंड्स में शामिल करने लगे हैं, लेकिन वो अपनी प्रतिष्ठा से अपने प्रदर्शन पर कोई असर नहीं पड़ने देना चाहते।

ONE Super Series वर्ल्ड टाइटल जीतने की चाह उन्हें ग्लोबल स्टेज के बेस्ट एथलीट्स के खिलाफ जीत के लिए और भी अधिक प्रेरित कर रही है। लियाम का मानना है कि उनकी ताकत उन्हें किसी भी एथलीट के खिलाफ जीत दिला सकती है।

शानदार जीत के बाद उन्होंने अपने प्रदर्शन पर नजर दौड़ाई है। किस तरह ONE में उनका आत्मविश्वास बढ़ा है और कैसे वो नोंग-ओ गैयानघादाओ के खिलाफ ONE बेंटमवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल शॉट हासिल कर सकते हैं।

ONE: आपने कहा था कि आप अटैक करने के लिए इंतज़ार करेंगे, तो क्या सभी चीजें आपके प्लान के मुताबिक रहीं?

लियाम हैरिसन: यही मेरा प्लान था और सभी चीजें प्लान के मुताबिक ही रहीं। मैं उन्हें मैच के शुरुआती चरण में अटैक कर डराना नहीं चाहता था।

मुझे केवल उनपर नजर बनाए रखनी थी और इंतज़ार करना था कि वो कब मेरी तरफ आएंगे और उन्होंने ऐसा ही किया। आपको मैच के दौरान सब्र रखना होता है। यदि आप ज्यादा सावधान रहने की कोशिश करते हैं तो जरूर वो शॉट्स खा बैठते हैं जो आपको नहीं खाने चाहिए थे।

जैसा कि मैंने पहले भी कहा ये ग्लव्स हर किसी को अच्छे पंच लगाने के मौके देते हैं। मैंने शॉट्स लगाने के लिए सही समय का इंतज़ार किया और सब कुछ मेरे प्लान के मुताबिक ही रहा।



ONE: उन्हें हराने से पहले आपने उनके स्टाइल के बारे में क्या सोचा था?

हैरिसन: मैंने सच में उनके स्टाइल के बारे में कुछ भी नहीं देख पाया क्योंकि मैच काफी छोटा रहा। मुझे नहीं लगता कि उन्होंने कुछ भी ऐसा होने दिया।

जैसे ही वो मेरे पास आए मैंने उन्हें पकड़ा और वहीं से मैच के अंत की शुरुआत हुई।

ONE: ONE Super Series में पहला मैच जीतने के बाद कैसा महसूस हुआ?

हैरिसन: पहली जीत हासिल करना सुखद एहसास रहा और बैंकॉक ने इसे और भी खास बनाया। ये एक ऐसा शहर है, जहाँ मैंने काफी समय बिताया है। यहाँ मैंने कई मुकाबले लड़े हैं और प्रतिष्ठा भी हासिल की है।

मैं क्राउड़ को निराश नहीं देखना चाहता था और ना ही मैं नॉकआउट के अलावा किसी अन्य तरीके से इस मैच को जीतना चाहता था। सब कुछ परफेक्ट रहा और सच में मेरे आत्मविश्वास का स्तर नई ऊंचाइयों को छू रहा है।

Liam Harrison kicks Mohammed Bin Mahmoud on his way to victory at ONE A NEW TOMORROW

ONE: अब जब आपने जीत हासिल कर ली है, आगे के बारे में क्या सोचा है?

हैरिसन: मैं यहाँ कोई रिकॉर्ड बनाने नहीं आया हूँ, मेरा लक्ष्य केवल वर्ल्ड टाइटल हासिल करना है।

Stadium टाइटल के अलावा थाई बॉक्सर की तरह मैंने अपने करियर में बहुत कुछ हासिल किया है। मेरे नाम अभी 8 वर्ल्ड टाइटल हैं और इस लिस्ट में मैं एक और चैंपियनशिप जोड़ना चाहता हूँ और वो है 65 किलोग्राम भारवर्ग का ONE वर्ल्ड टाइटल।

ONE: अपने डिविजन में दूसरे एथलीट्स के बारे में आपके क्या विचार हैं?

हैरिसन: अब मैं इन ग्लव्स और यहाँ के नियमों से अच्छी तरह वाकिफ हो गया हूँ। मुझे नहीं लगता कि इस डिविजन के ज्यादा एथलीट मेरे सामने टिक पाएंगे और यही सच्चाई है।

शुक्रवार को जिस तरह मैंने मोहम्मद को नॉकआउट किया, अगर उसी तरह मुझे मौके मिलते रहे तो मैं 65 किलोग्राम डिविजन में सभी को नॉकआउट कर सकता हूँ।

मैं टाइटल शॉट के लिए आगे बढ़ते रहना चाहता हूँ। उम्मीद है कि एक और अच्छी नॉकआउट जीत मुझे सही दिशा में ले जाएगी।

Liam Harrison defeats Mohammed Bin Mahmoud at ONE A NEW TOMORROW in Bangkok

ONE: नोंग-ओ गैयानघादाओ के बारे में क्या कहेंगे?

हैरिसन: वो पिछले 20 साल के सबसे बेस्ट एथलीट्स में से एक हैं लेकिन मुझे उस मौके का इंतज़ार रहेगा, जब मैं असल में उनके साथ रिंग साझा करूंगा और उन्हें अपनी स्किल्स से चौंका सकूं।

ONE: क्या आप किसी अन्य एथलीट के बारे में सोचते हैं जिससे आप मुकाबला करना चाहते हैं?

हैरिसन: मेरे सामने जो भी आएगा मैं उससे लड़ने के लिए तैयार हूँ।

ये भी पढ़ें: सांगमनी जीत के बावजूद केंटा यमाडा की हिम्मत के कायल हुए

मनीला | 31 जनवरी | ONE: FIRE & FURY | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं