Mixed Martial Arts

गुरदर्शन मंगत ने बताया, रीस मैकलेरन को हराने की क्या है उनकी रणनीति

नवम्बर 29, 2019

गुरदर्शन मंगत “सेंट लॉयन” ONE चैंपियनशिप में अपनी पहली द बाउट के जरिए ही भारत के टॉप मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में शामिल हो गए हैं। अब 6 दिसंबर को ONE: MARK OF GREATNESS में 32 वर्षीय फ़्लाईवेट भारवर्ग के फाइटर को रीस मैकलेरन की चुनौती से पार पाना है।

ऑस्ट्रेलिया के रीस इससे पहले ONE चैंपियनशिप में बेंटमवेट वर्ल्ड टाइटल पर भी हाथ आजमा चुके हैं और उनकी ग्रैपलिंग स्किल्स बेहतरीन हैं। इसी कारण वो मंगत के सामने कड़ी चुनौती पेश करने में पूरी तरह सक्षम हैं।

हालांकि मंगत के पास वह काबिलियत है कि वो मक्लारेन को हरा भी सकते हैं और आने वाले समय में वर्ल्ड टाइटल के लिए भी चुनौती पेश कर सकते हैं।

भारतीय फाइटर का मानना है कि उनके पास भारतवासियों का समर्थन होने के साथ-साथ बेहतरीन स्किल सेट भी है इसलिए उन्हें हराना इतना आसान नहीं है। हमने उनसे कुछ सवाल पूछे और गुरदर्शन ने बेहद अच्छे अंदाज में सभी सवालों के जवाब दिए हैं।

यह भी पढ़ें: जिहिन राड़जुआनन ने ज़म्बोआंग के खिलाफ की फिनिश की भविष्यवाणी

ONE चैंपियनशिप: जब आपको रीस मैकलेरन के साथ मैच ऑफर किया गया था तो आपकी प्रतिक्रिया क्या थी?

गुरदर्शन मंगत: मैं मक्लारेन का बहुत आदर करता हूँ और इस फाइट को लेकर मैं बहुत उत्साहित भी हूँ। मैं मक्लारेन को कई सालों से देखता आ रहा हूँ और उन्होंने मुझे सीखने में काफी मदद की है।

मेरे साथी बिबियानो फर्नांडेस ने रीस के साथ 5 राउंड का मैच लड़ा था और मुझे जानकारी यही मिली है कि वो आसानी से हार मानने वालों में से नहीं हैं।

मुझे हमेशा यही सुनने को मिला है कि कड़ी मेहनत का फल हर किसी को मिलता है, अभी तक मैं टीवी पर फाइट्स देखता था लेकिन अब मुझे रिंग में खुद को साबित करना है।

ONE: क्या चीज मैकलेरन की सबसे बड़ी ताकत है

GM: वो पिछले काफी समय से फाइट कर रहे हैं और जाहिर तौर पर उनके पास मुझसे ज्यादा अनुभव है। अपने करियर में उन्होंने कई महान योद्धाओं से फाइट की है और उन्हें हमेशा फाइट करना पसंद रहा है, यही चीज उन्हें सबसे ज्यादा खतरनाक बना रही है।

ONE: आप किस तरह उन्हें हरा सकते हैं?

GM: जबसे मैंने अपना मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स डेब्यू किया है सबसे बड़ी चीज यही सीखने को मिली है कि रिंग में बाहर की परेशानियों को दूर ही रखना चाहिए।

मैं इस खेल से बहुत प्यार करता हूँ और मुझे अब एहसास होने लगा है कि डेब्यू के बाद से मेरी स्किल्स में काफी सुधार हुआ है।

Gurdarshan “Saint Lion” Mangat defeats Abro Fernandes

ONE: इस मैच की भविष्यवाणी करनी हो तो क्या कहना चाहेंगे?

GM: मैं मक्लारेन को उनकी के प्लान से हराना चाहता हूँ। जिस चीज में वो बेस्ट हैं उसे टारगेट करना मेरा पहला लक्ष्य है।

ONE: अभी तक ONE में बिताए समय के बारे में क्या कहना चाहेंगे?

GM: मुझे लगता है कि मैंने अच्छा प्रदर्शन किया है, खासतौर पर जब भारतीय फैंस की उम्मीदों पर खरा उतरने की बात आती है तो हमेशा मैं खुद को दबाव में पाता हूँ लेकिन फैंस का यही सपोर्ट मुझे ताकतवर भी बनाता है।

पिछले कुछ समय में मुझे काफी परेशानियां झेलनी पड़ी हैं लेकिन इन्हीं परेशानियों को अब मैंने अपना हथियार बना लिया है।

पिछली फाइट्स को याद करूं तो मैंने अब खुद में काफी सुधार किया है और कड़ी ट्रेनिंग भी कर रहा हूँ।

 

ONE: अभी तक भारतीय फैंस का कितना समर्थन मिला है और इसके बारे में क्या सोचते हैं?

GM: डेब्यू के समय मैं काफी दबाव महसूस कर रहा था लेकिन यह भारतीय फैंस का साथ ही है जो आज मैं खुद की स्किल्स पर भरोसा जता पा रहा हूँ।

काफी कम लोग जानते हैं कि मेरे इस सफर की शुरुआत 22 साल की उम्र से हुई थी। मैं अकाउंट्स का छात्र हुआ करता था लेकिन इसी दौरान मेरी मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के प्रति दिलचस्पी भी बढ़ने लगी थी।

Gurdarshan Mangat trades with Abro Fernandes at ONE: MASTERS OF DESTINY

ONE: एक जीत आपको वर्ल्ड टाइटल के करीब पहुंचा सकती है और वैश्विक स्टार पर भारत का प्रतिनिधित्व करने के बारे में आपका क्या कहना है?

GM: मुझे पता है कि अगर मैं चैंपियन बना तो इससे मैं लाखों बच्चों के लिए एक प्रेरणा स्त्रोत बन जाऊंगा।

“मेरे माता-पिता मुझे लॉयर या डॉक्टर बनाना चाहते थे लेकिन मेरे भी खुद के कुछ सपने थे।“

ONE चैंपियनशिप से जुड़ना भी मेरे लिए बहुत बड़ी जीत रही और अब अगर मैं चैंपियन बनता हूँ तो ज़रूर भारत में इस खेल को लोग और भी गंभीरता से समझने लग जाएंगे।

यह भी पढ़ें: अलावर्दी रामज़ानोव जानते हैं झांग चेंगलोंग को हराने का रास्ता

कुआलालंपुर | 6 दिसंबर | ONE: MARK OF GREATNESS | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें | टिकट: http://bit.ly/onemarkgreatness19 | आधिकारिक माल की खरीदारी करें: bit.ly/ONECShop