न्यूज़

वर्ल्ड टाइटल शॉट और यामागुची से मिली जीत पर डेनिस ज़ाम्बोआंगा ने बताईं खास बातें

“अनस्टॉपेबल” एंजेला ली ONE विमेंस एटमवेट वर्ल्ड टाइटल के लिए अपनी अगली विरोधी को अच्छी तरह से जानती हैं।

डेनिस “द मेनेस फेयरटेक्स” ज़ाम्बोआंगा ने अपने ONE करियर की सबसे बड़ी जीत हासिल करते हुए दूसरी ही बाउट में गोल्ड के लिए अपनी दावेदारी पक्की कर ली थी। उन्होंने दो बार की टॉप कंटेंडर मेई “V.V” यामागुची के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया था।

फिलीपीना स्टार यामागुची पर पूरी तरह हावी रही थीं। यहां तक कि ली को ग्लोबल स्टेज पर अपनी विरोधी की चुनौतियों को हावी न होने देने का बंदोबस्त करना होगा। दरअसल, ज़ाम्बोआंगा ने ONE: KING OF THE JUNGLE में जापानी विरोधी के ग्रैपलिंग कौशल को खुद पर हावी नहीं होने दिया और अपने जबरदस्त पंचों की बदौलत अंक बंटोरते हुए एक्शन से भरे तीन लंबे राउंड तक मैच को खींचा। इस तरह उन्होंने सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल की।

शुक्रवार, 28 फरवरी को सिंगापुर के इंडोर स्टेडियम में अपने रिकॉर्ड को 7-0 पहुंचाते हुए ज़ाम्बोआंगा ने सफलता हासिल की, जिससे ONE के चेयरमैन और सीईओ चाट्री सिटयोटोंग तुरंत प्रभावित हो गए।

फाइनल बैल के कुछ ही पलों बाद उन्होंने ये घोषणा की कि “द मेनेस” का अगला मुकाबला “अनस्टॉपेबल” से होगा। ये बात सुनने के बाद 23 वर्षीय एथलीट के खुशी के आंसू छलक आए।

अब जबकि उनके पास खुद को और बेहतर करने का समय है, ऐसे में फेयरटेक्स प्रतिनिधि ने अपने मार्शल आर्ट्स करियर की सबसे बड़ी बाउट के बारे में बताया। साथ ही अपनी जीत की कहानी उन्होंने कैसे लिखी और अब आगे क्या करने का वो विचार कर रही हैं, जैसी बातें भी साझा कीं।

ONE Championship: आप मेई यामागुची जैसी अनुभवी विरोधी के खिलाफ बाउट करने को लेकर कैसा महसूस कर रही थीं?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: ये सच है कि उनके खिलाफ मैच में काफी नर्वस महसूस कर रही थी, जो कि स्वाभाविक था। हालांकि, मैंने सोचा कि अगर डिविजन में मुझे आगे बढ़ना है तो ये मैच जीतना ही होगा।

मुझ पर काफी सारे लोगों को भरोसा नहीं था और वे शंका कर रहे थे। उनका कहना था कि मेरा स्तर मेई और एंजेला की बराबरी में बेहतर नहीं है। मुझे नापसंद करने वालों में मेरे देश से भी काफी लोग थे। खैर, कुछ भी हो, उनकी सोच ने मुझे आगे बढ़ने में मदद की और मैं उन्हें गलत साबित कर पाई।

मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ था क्योंकि मेरे बड़े भाई इस मैच के लिए ट्रेनिंग कैंप करने के समय से ही मेरे साथ थे। इस खेल में वो मेरे साथ पहले दिन से ही थे। मैच की तैयारियों से लेकर बाउट तक में उनका साथ होना, मेरे आत्मविश्वास को हमेशा ही बढ़ाता रहा।



ONE: खाली एरीना में मुकाबला करके आपको कैसा लगा?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: मुझे ये फाइट के किसी सेशन जैसा ही लगा और इसमें मैं अपने कॉर्नर से दिए जा रहे निर्देशों को साफ तौर पर सुन पा रही थी।

ONE: आपकी क्या रणनीति थी?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: मेरा गेम प्लान अपनी विरोधी को स्ट्राइक करने का था। मैं जानबूझकर उन्हें किक मारने से बच रही थी क्योंकि जैसे हम पहले देख चुके हैं कि वो मेरी किक मारने पर उसे आसानी से पकड़ लेतीं और मुझे टेकडाउन कर देती।

मेरे कॉर्नर से हर बार यही बताया जा रहा था कि मुझे उनके सूजे हुए हिस्से पर पंच मारने हैं, जिसे उन लोगों ने देख लिया था। हालांकि, जब हम एक-दूसरे को पंच मार रहे थे, तब मुझे फिलीपींस में अपनी कोरियन विरोधी की याद आ गई थी, जिन्हें मैं और नुकसान नहीं पहुंचाना चाहती थी।

फिर लगा कि मुझे ऐसे में हिचकना नहीं चाहिए क्योंकि इससे मैच बहुत जल्दी मेरे खिलाफ पलट सकता है।

enice Zamboanga defeats Mei Yamaguchi ONE KING OF THE JUNGLE in Singapore

ONE: आपको मैच में किस समय लगा था कि आपके पास स्ट्राइकिंग की बढ़त है?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: पहला राउंड जब चल रहा था, तब ही लग गया था। उसके बाद जब भी हम एक-दूसरे को पंच मार रहे थे, तब मुझे लग रहा था कि मैं उनके पंच आसानी से सह सकती हूं। मुझे लगा था कि स्टैम्प के पंचों से ज्यादा ताकतवर उनके पंच होंगे। अब मुझे लगता है कि फेयरटेक्स के साथियों से मुझे तगड़े पंच झेलने की आदत हो गई है।

ONE: आपका टेकडाउन डिफेंस कमाल का था, क्या आप इस पर और काम करेंगी?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: मैं जब पहले जिहिन (राडज़ुआन) का सामने करने के लिए तैयार हो रही थी, तभी मैं अपने डिफेंस को अच्छा कर चुकी थी। मुझे लगता है कि इससे मुझे काफी फायदा मिला क्योंकि मैं काफी समय से इस पर काम कर रही थी।

मुझे अपने पहले मैच से ही लगा था कि जिहिन से जो डेनिस का मुकाबला हुआ था, उससे अब वो पूरी तरह बदल चुकी थीं। मैं पहले जल्दी थक जाती थी और मेरा स्तर भी अच्छा नहीं होता था।

ONE: आपने कहा था कि आप और ज्यादा स्ट्राइकिंग दिखाना चाहती थीं लेकिन जो आपने जो किया, क्या उससे खुश हैं?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: बहुत ज्यादा खुश नहीं हूं। मैंने इसकी प्रैक्टिस की थी कि जब वो ज्यादा टेकडाउन करेंगी तो मैं घुटनों का इस्तेमाल करूंगी, जिसका प्रदर्शन मैं ज्यादा नहीं कर पाई।

मुझे ये लगता है कि मेरी हेड पोजिशन भी ज्यादा अच्छी नहीं थी। हो सकता है कि ये उनके पंच मारने पर मेरे ना डरने की वजह से हो रहा हो। इस वजह से मैं ज्यादा मूव नहीं कर पा रही थी। हालांकि, अब भी लगता है कि कई सारी चीजें मैं और दिखा सकती हूं और आने वाले मैच में अपनी किक की ताकत दिखाऊंगी।

Denice Zamboanga defends against Mei Yamaguchi submissions at ONE KING OF THE JUNGLE

ONE: यामागुची ने सबमिशन के प्रयास के साथ आपको एक टाइट स्पॉट में ला दिया था, क्या उस समय आप टैप करने वाली थीं?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: अगर उस समय मैं झुंझलाती तो वो अपना लेग लॉक और टाइट कर लेतीं। मैंने ऐसे वक्त में खुद को शांत रखना सिखाया है, ताकि ऐसी परिस्थितियों से बच निकलने के मेरे पास बेहतर मौके हों।

मुझे शांत रहना होता है, ताकि मैं ऐसी मुश्किल परिस्थितियों से बचने के तरीके तलाश सकूं। इस वजह से मैं स्ट्राइक करती रही और अंत में मेरे विरोधी की पकड़ कमजोर हो गई।

ONE: जब घंटी बजी तो उसके बाद आपने कई सारे डांस मूव्स दिखाए, तो क्या ये आपकी टीम की साथी स्टैम्प फेयरटेक्स से प्रेरित थे?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: (हंसते हुए) ये सच है कि हमारे डांस मूव्स काफी मिलते-जुलते हैं। अगली बार मेरी कोशिश होगी कि मैं मार्शल आर्ट्स के साथ कुछ डांस मूव्स की भी प्रैक्टिस कर लूं।

ONE: पिछले मैच के दौरान आपने कहा था कि आपने अपना 100 प्रतिशत प्रदर्शन नहीं दिखाया। इस बार आपने बहुत कम समय के नोटिस पर बाउट के लिए हामी भरी। आपने शानदार खेल दिखाया, ऐसे में खुद में क्या बदलाव दिखा?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: पहले मैच में मेरे लिए हर चीज नई थी, खासकर ONE का वेट सिस्टम। इस वजह से जब मैं इस बार आई तो काफी अच्छे से खुद को एडजस्ट कर पाई।

Denice Zamboanga celebrates her win against Mei Yamaguchi ONE KING OF THE JUNGLE

ONE: मिच चिल्सन ने जब आपको बताया कि वर्ल्ड टाइटल मैच के लिए अगली बारी आपकी है, तो ऐसे में आपके दिमाग में क्या चल रहा था?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: मैं भावनाओं से भर गई थी। दरअसल, मैच से पहले चाट्री ने मुझे बताया था कि इस मैच में मुझे अच्छा करना है क्योंकि अगर मैं ये मैच जीत गई तो मुझे वर्ल्ड टाइटल को चुनौती देने का मौका मिल सकता है।

इसलिए मैंने अपनी इच्छाओं को और तीव्र किया और मैच जीतने के लिए जी-जान से तैयारी की। ऐसे में जब उन्होंने मैच के बाद वो बात कही तो मुझे बहुत खुशी हुई। यहां तक कि उन्होंने इसकी घोषणा भी कर दी। मुझे तब और ज्यादा खुशी हुई, जब मुझे चैंप बुलाया गया क्योंकि मुझे लगा कि जैसे मैंने इसी के लिए मेहनत की थी।

ONE: आपकी पहली दोनों जीत दो दिग्गजों को हराकर आई है, तो क्या अब आप अपनी तीसरी जीत से ली के दबदबे को खत्म कर पाएंगी?

डेनिस ज़ाम्बोआंगा: अगर ऐसा होता है तो ये शानदार होगा। मैं अब तक जिस भी मैच में रही हूं, मुझे कमजोर ही आंका गया है इसलिए देखते हैं कि आगे क्या होता है।

ये भी पढ़ें: 5 चीजें जो हमें ONE: KING OF THE JUNGLE से सीखने को मिलीं

हमारे सर्वे में हिस्सा लेकर VVIP अनुभव जीतें!