लाइफ स्टाइल

ब्राजीलियन जिउ-जित्सु की ट्रेनिंग को शुरू करने के लिए 7 जरूरी सामग्री

ब्राजीलियन जिउ-जित्सु (BJJ) शारीरिक रूप से चुनौतीपूर्ण मार्शल आर्ट्स है, इसलिए ट्रेनिंग के दौरान सही सामग्री होना जरूरी है जिससे आप सुरक्षित रहें।

अगर आप सुरक्षित रहते हैं, तो आपको जिम में काफी आनंद आएगा।

इस चीज़ को ध्यान रखते हुए, हम 7 जरूरी सामग्री के बारे में बात करने वाले हैं तो ब्राजीलियन जिउ-जित्सु शुरू करने के लिए आवश्यक है।

#1 एक ‘Gi’

Holland's Reinier De Ridder makes his walk to the ring in his gi

Gi (गी) एक प्रकार की पोशाक है जिसमें कॉटन का भारी टॉप,  ड्रॉस्ट्रिंग ट्राउजर और एक रैंक बेल्ट रहती है। इसमें अक्सर पैंट और टॉप एक ही रंग का रहता है।

गी आपको ग्रैपलिंग के दौरान आने वाली किसी भी प्रकार की खरोंच या स्किन बर्न से बचाने का काम करता है।

इसलिए सही मैटेरियल और कपड़े की गी चुनना काफी जरूरी है जिससे सुरक्षा और स्वास्थ्य सही बना रहे।

सिर्फ BJJ के लिए बनाई गई स्पेशल गी को ही चुने। गी में ट्रिपल सिलाई होना चाहिए, जिससे लगातार ग्रिपिंग और खिंचाव के बाद गी लंबे समय तक चलती रहे।

इसके अलावा एंटी-माइक्रोबायल (रोगाणुरोधी) और एंटी-ऑडर (गंधरोधी) वाली गी को ही चुने। और हमेशा गी को साफ रखें।

#2 रैश गार्ड्स

Former ONE Lightweight World Champion Shinya Aoki wears a rash guard during a grappling bout

भले ही आप गी के साथ या उसके बिना ट्रेनिंग करें लेकिन आपके पास एक अच्छा रैश गार्ड होना जरूरी है।

रैश गार्ड, गी के अंदर होता है और ये खरोंच और स्किन बर्न से बचाने में मदद करता है। रैश गार्ड आपके शरीर को गर्म रखने में भी मदद करता है और इससे आपके मसल्स ग्रैपलिंग के समय ढीले रहते हैं।

रैश गार्ड्स पॉलिस्टर और स्पैन्डेक्स के बनते हैं, ये दोनों मैटेरियल पसीने को गी में जाने से पहले ही सोखने में मदद करते हैं।

ये आपको साफ और आरामदायक महसूस कराता है और इससे कीटाणु का विकास भी नहीं होता।

#3 एथलेटिक टेप

ग्रिप बनाने के दौरान आपकी उंगलियां काफी अहम किरदार निभाती है और ट्रेनिंग के दौरान भी उनपर काफी दबाव पड़ता है।

हर ट्रेनिंग सेशन के पहले अपनी उंगलियों को बचाने के लिए एथलेटिक टेप का उपयोग करना चाहिए। ये टेप आपकी उंगली के जोड़ों को सपोर्ट देती है और इससे चोटिल होने की संभावना कम हो जाती है।

ध्यान न देने से आपकी उंगली के जोड़ खिंचाव और झटकों के कारण सूज सकते हैं। इससे गठिया का रोग हो सकता है।

इसके साथ ही उंगलियों को टेप करने से आपकी ग्रिप मजबूत होगी, ये ताकत ग्रैपलिंग के दौरान अपने ट्रेनिंग पार्टनर्स के साथ काम आएगी।



#4 एक माउथगार्ड

BJJ practitioners at a Singapore gym wear mouthguards

माउथगार्ड भी BJJ के दौरान एक अहम चीज़ रहती है। दांत, होठ और मसूड़ों का लगातार बचाव के लिए माउथगार्ड का उपयोग किया जाता है।

माउथगार्ड के दो अलग-अलग प्रकार हैं – “बॉइल और बाइट” या विशेष रूप से बनाया गया।

“बॉइल और बाइट” नाम के गार्ड कंपनी द्वारा बने हुए रहते हैं, लेकिन उन्हें सही प्रकार की फिट देने के लिए उबाला और दांतों के नीचे दबाने पर अपने आप शेप में आ जाता है।

देखा जाए तो विशेष रूप से बनाए गए माउथगार्ड्स काफी महंगे रहते हैं, ये आपके दांतों के हिसाब से बने हुए रहते हैं और इस वजह से ये सही तरह से फिट भी हो जाते हैं और सांस लेने के दौरान भी दिक्कत नहीं होती।

#5 नीपैड

Aung La N Sang wears kneepads during Brazilian Jiu-Jitsu training

अगर आप घुटनों की चोट से उबर रहे हैं या आप घुटनों को सुरक्षा प्रदान करना चाहते हैं, तो एक नीपैड में निवेश करना अच्छा निर्णय हो सकता है। ये काफी उपयोगी है।

BJJ में ग्रैपलिंग और रोलिंग के दौरान घुटने घिस से जाते हैं और इससे घुटनों में छिलाव और जलन होती है।

घुटने के हिस्सा की त्वचा पतली होती है, इस वजह से नीपैड आपके घुटनों को कवर करता है और ग्रैपलिंग के दौरान सुरक्षा प्रदान करता है।

बहुत सारे नीपैड आसानी से गी के अंदर पहने जा सकते हैं। आपके घुटनों के साइज के हिसाब से नीपैड का चयन करें, लेकिन इससे स्थिरता पर कोई असर नहीं होना चाहिए।

#6 मसल स्प्रे

BJJ में पूरे शरीर का वर्कआउट होता है।

इस वजह से ग्रैपलिंग सेशन के बाद घाव या मसल्स में दिक्कत आना आम बात है। अगर इसका इलाज नहीं किया गया तो आपके प्रदर्शन और ट्रेनिंग में असर पड़ सकता है।

इस वजह से BJJ का अभ्यास करने वाले हर एक व्यक्ति को एक मसल स्प्रे में निवेश करना चाहिए। जब मसाज का विकल्प न हो तो मसल स्प्रे एक अच्छा विकल्प है, इससे मांसपेशियों में जलन नहीं होती।

#7 फोम रोलर

फोम रोलर ट्रेनिंग के बाद एक अच्छा उपकरण साबित हो सकता है।

लगातार ट्रेनिंग करने से मांसपेशियां तंग हो जाती है और फोम रोलर के उपयोग से तंग मसल थोड़े ढीले हो जाते हैं।

फोम रोलर के रूप से लंबे समय के लिए भी आराम मिलता है और लचीलापन बढ़ता है। इसे वर्कआउट के बाद होने वाले दर्द से भी आराम मिलता है, चोट से भी बचा जा सकता है।

ज्यादातर फोम रोलर छोटे रहते हैं, इस वजह से यह बैग में आसानी से आ जाता है और इसे जिम में भी आसानी से लाया जा सकता है। नियमित स्ट्रेचिंग के साथ फोम रोलिंग का उपयोग करने से थोड़े ही दिनों में आपको शरीर में सुधार नजर आएगा।

ये भी पढ़ें: मार्शल आर्टिस्ट्स को स्विमिंग की वजह से मिलने वाले 5 फायदे