सलाह

4 तरीके जिनसे मार्शल आर्ट्स आपको मानसिक रूप से मजबूती प्रदान कर सकता है

यदि आप ये सोचते हैं कि मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग एक व्यक्ति को केवल शारीरिक मजबूती प्रदान करती है तो आपको इस बारे में दोबारा सोचने की जरूरत है।

ONE Championship के कुछ सबसे सफल एथलीट्स को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स, मॉय थाई, किकबॉक्सिंग, ब्राजीलियन जिउ-जित्सु और कई अन्य तरीकों के मार्शल आर्ट्स से मानसिक मजबूती भी मिली है।

इस आर्टिकल में आप देख सकते हैं वो 4 तरीके जिनसे मार्शल आर्ट्स एक व्यक्ति को मानसिक मजबूती प्रदान करता है।

मार्शल आर्ट्स अनुशासन सीखने में मदद करता है

मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग में शारीरिक रूप से किसी व्यक्ति का चुस्त रहना जरूरी है और चुस्त रहने के लिए प्रतिबद्धता और अनुशासन की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। कमियों को ढूंढ निकालने के लिए और उनमें सुधार करने के लिए मानसिक मजबूती बेहद अहम होती है।

अच्छी डाइट, पूरा आराम और अपनी ट्रेनिंग के लिए प्रतिबद्ध रहने के लिए अनुशासन सबसे जरूरी होता है।

जैसे ही आप इन अलग-अलग जिम्मेदारियों में सामंजस्य की स्थिति बना लेते हैं तो इससे आपकी स्किल्स में सुधार होता है और आपको अच्छी आदतें भी प्रदान करता है।

लगातार अपनी तकनीक और स्किल्स में सुधार के लिए ट्रेनिंग जरूरी है और आपको अंदर से दृढ़ निश्चय और मानसिक अनुशासन सीखने में भी मदद करेगा। भावनाओं पर काबू रख पाएंगे और मुसीबतों से निपटने के समय आप ठंडे दिमाग से सोच सकेंगे।

20 साल से ज्यादा के मार्शल आर्ट्स अनुभव के साथ एलेक्स “लिटल रॉक” सिल्वा ने मुसीबतों का डटकर सामना करना सीख लिया है।

पिछले 2 साल में मिली कुछ हार के बाद भी ये ब्राजीलियाई स्टार अनुशासित हैं और खुद में सुधार के लिए प्रतिबद्ध हैं।

मार्शल आर्ट्स सावधानी बरतने में मदद करता है

कई तरह के मार्शल आर्ट्स दिमाग को अच्छे विचारों से भरने में मदद करते हैं और सावधानी बरतने में भी मदद करते हैं।

मार्शल आर्ट्स की बेसिक तकनीक जैसे लंबी सांसें लेना, मेडिटेशन और अच्छे सिद्धांतों का पालन करना व्यक्तित्व में सुधार लाता है।

इन तरीकों से आपका दिमाग स्वस्थ रहता है सोचने की क्षमता को भी बढ़ाता है। आप दिन के लंबे और व्यस्त कार्यक्रम के बाद घर वापस लौटते हैं तो मार्शल आर्ट्स दिनभर की परेशानियों को दूर करने में मदद कर सकता है।



साल 2019 में अपने ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री सफर के दौरान पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी अपने गाँव लौटे और कुछ समय एक मोंक के रूप में बिताया था।

उस अनुभव से उन्हें खुद के बारे में बहुत सी चीजें समेटने में मदद मिली थी।

7 फरवरी को ONE: WARRIOR’S CODE में वापसी कर उन्होंने पोंगसिरी पीके. साइन्चेमॉयथाईजिम को हराकर पहला ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल अपने नाम किया है।

आत्मविश्वास बढ़ाने में मददगार

आज के मार्शल आर्ट्स की तुलना पारंपरिक मार्शल आर्ट्स से की जाए तो ये मात्र वजन घटाने का विकल्प बन कर रह गया है। मार्शल आर्ट्स से आए शारीरिक बदलाव से आपका खुद पर भरोसा बढ़ता है।

जिम में दूसरों के साथ ट्रेनिंग करना सामाजिक मेल-जोल का एक बेहतरीन तरीका है। जब आप अपने साथियों के साथ अच्छे संबंध स्थापित कर लेते हैं, इससे ना केवल आपके मन में अच्छे विचार आने लगते हैं बल्कि खुद के बारे में भी आपकी मानसिकता बदलने लगती है और इससे आप ज्यादा लोगों के साथ मिल-जुल कर रह सकेंगे।

एक टीम के रूप में आगे बढ़ने और साथ में ट्रेनिंग लेने से आपकी स्किल्स में सुधार होता है और आपका अपनी तकनीक के प्रति आत्मविश्वास भी बढ़ने लगता है।

ये आपको ना केवल आत्मरक्षा के गुण सिखाता है बल्कि इससे आपको व्यक्तिगत जीवन में आ रही मुसीबतों का भी सामना करने में मदद मिलती है।

इसका बड़ा उदाहरण पोंगसिरी “द स्माइलिंग असासिन” मिटसाटिट हैं जिन्हें अपने बचपन में अन्य शरारती तत्वों द्वारा लगातार परेशान किया जाता था।

मार्शल आर्ट्स ट्रेनिंग ने मिटसाटिट को खोया हुआ आत्मविश्वास वापस दिलाने में मदद की। थाई स्टार अब एक ही लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रहे हैं और वो लक्ष्य है ONE वर्ल्ड चैंपियन बनना।

कुछ समय पहले उन्हें ONE: FIRE & FURY में लिटो आदिवांग के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी लेकिन उन्हें खुद पर भरोसा है कि वो वर्ल्ड टाइटल के करीब पहुंच सकते हैं।

दिमाग को एक जगह केंद्रित रखने में मदद करता है

मार्शल आर्ट्स सकारात्मक विचारधारा को बढ़ावा देता है। इस स्पोर्ट में शारीरिक रूप से मजबूत होना बहुत जरूरी होता है लेकिन इसके लिए किसी का मानसिक रूप से मजबूत होना बहुत जरूरी है जिससे आपको अपनी मूवमेंट और नई तकनीक सीखने में मदद मिलती है।

जब आपका दिमाग अच्छे विचारों से भरा होता है तो आपको ट्रेनिंग पर फ़ोकस करने और भावनाओं पर नियंत्रण रखने में मदद मिलती है। परेशानियों और मुसीबतों का सामना करने के लिए इन चीजों का होना बहुत जरूरी है।

अच्छे विचारों से आपको अच्छे फैसले और किसी भी परिस्थिति का सामना करने में मदद मिलती है।

मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग इस बार पर निर्भर करती है कि आप किस तरह से सोचना ज्यादा पसंद करते हैं, क्योंकि इससे आपके मूड पर भी प्रभाव पड़ता है। अच्छा मूड होने से बेहतर तरीके से वर्कआउट कर पाएंगे और ट्रेनिंग के दौरान अच्छा महसूस भी करेंगे।

जिम में रहकर अपनी स्किल्स पर काम करना सकारात्मक गतिविधियों में लिप्त होने का एक अच्छा तरीका हो सकता है।

अपने आसपास हो रहे अपराध और हिंसा के बाद भी अल्मा जुनिकु सकारात्मक विचारों से मार्शल आर्ट्स की तरफ फ़ोकस करने में सफल रही हैं।

किशोरावस्था में ही उन्होंने WBC और IPCC मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल जीत लिए हैं और अब वो ग्लोबल स्टेज पर अपनी चमक बिखेरने के लिए तैयार हैं।

ये भी पढ़ें: 5 कारण कैसे मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग आपकी जिंदगी का सबसे अच्छा फैसला साबित हो सकता है

सिंगापुर | 28 फरवरी | ONE: KING OF THE JUNGLE  | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं