मॉय थाई

रोडटंग का मिस्टर हुआन के प्रति सम्मान: ‘सबसे अच्छे व्यक्ति जिनको मैं जानता हूं’

ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन रोडटंग “द आयरन मैन” जित्मुआंगनोन शुक्रवार, 31 जुलाई को थाइलैंड के बैंकॉक में होने वाले ONE: NO SURRENDER में पेचडम “द बेबी शार्क” पेटयिंडी एकेडमी के खिलाफ अपने गोल्ड का बचाव करेंगे।

उनके करियर का सबसे बड़ा मैच तेजी से उनकी ओर बढ़ रहा है। ऐसे में “द आयरन मैन” में उस व्यक्ति की झलक दिख रही है, जिन्होंने उन्हें एक ऐसे शानदार मार्शल आर्टिस्ट में बदल दिया, जो वो आज बन चुके हैं। वो व्यक्ति हैं Jitmuangnon Gym के संस्थापक दिवंगत मिस्टर हुआन।

‘हमें पता था कि वो हमारा कितना खयाल रखते हैं’

ONE Flyweight Muay Thai World Champion Rodtang Jitmuangnon goes for the knockout blow

ये कहना छोटी बात होगी कि रोडटंग, मिस्टर हुआन के प्रशंसक हुआ करते थे।

23 साल के एथलीट ने कहा, “वो सबसे अच्छे व्यक्ति थे, जिन्हें मैं जानता था। मैं जितने लोगों से मिला हूं, उनमें वो सबसे बेहतरीन थे। मुझे नहीं लगता कि मैं उनके जैसे व्यक्ति से दोबारा मिल पाऊंगा।”

“आज जो मैं हूं, उन्हीं की वजह से हूं। उन्होंने मुझे मौका और हर चीज दी।”

वो मौका दस साल पहले आया था। उस समय रोडटंग परिवार के दोस्त के साथ गृहनगर फथालुंग से बैंकॉक शहर के मशहूर मॉय थाई सर्किट में मुकाबला करने के लिए आए थे। आने के बाद उनके फ्यूचर मेंटॉर का ध्यान उन पर पड़ा।

रोडटंग को याद है, “एक दिन बॉस हुआन ने मेरी प्रतिभा की झलक तब देखी, जब एक बाउट में मैंने पुयेनकोन को हराया। तब ही मुझे Jitmuangnon Gym बुला लिया गया। उन्होंने मेरा ध्यान अपने बेटे की तरह रखा।”

हालांकि, जिम के मालिक ज्यादा नहीं बोला करते थे। ऐसे में “द आयरन मैन” हमेशा ही कैंप में दूसरे लोगों के प्रति उनकी चिंता का कारण समझ जाते थे।

रोडटंग ने कहा, “वो ज्यादा बातें नहीं किया करते थे लेकिन हमें पता था कि वो हमारा कितना ध्यान रखते और प्यार करते थे। वो बॉक्सरों को कभी नहीं डांटते थे। वो हमेशा उनसे प्यार से बात करते थे।”

शांत रहते हुए मिस्टर हुआन ने रोडटंग को उनके करियर के सबसे मुश्किल दौर से निकालने में मदद की, जिसमें Rajadamnern Stadium में कई सारी हार भी शामिल थीं। इसमें उनके आने वाले विरोधी पेंचडम से मई 2017 की हार भी शामिल थी।

रोडटंग ने कहा, “कभी-कभार जब मैं गलत दिशा में चला जाता था, तो वो मुझे खींच लाते थे। वो मुझे सबसे अच्छा रास्ता दिखाते थे।”

“वो मुझसे कहा करते थे कि करियर में उतार-चढ़ाव से गुजरना सामान्य बात थी लेकिन हमें आगे बढ़ते रहना होगा। भले ही तूफान से ही सामना क्यों न करना पड़े। वो मेरे जीवन का काफी कठिन दौर था लेकिन वो मेरा सपोर्ट करते रहे।”



त्रासदी और विरासत

मेंटॉर की मदद से रोडटंग ने अपने करियर में वापसी की और Omnoi Stadium वर्ल्ड चैंपियन बन गए। वो जल्द ही थाइलैंड के सबसे बेहतरीन मार्शल आर्टिस्ट बन गए।

हालांकि, इसके बाद अचानक से अनहोनी हुई। मिस्टर हुआन की मार्च 2018 में मृत्यु हो गई और “द आयरन मैन” की दुनिया अचानक से रुक गई।

रोडटंग ने कहा, “उनके गुजरने के बाद हर चीज रुक गई जैसे कि पुरी दुनिया थम सी गई थी। हमें पता ही था कि अब क्या करना है। कई सारे बॉक्सरों ने तो इसे छोड़ने का विचार भी बना लिया था।”

“हमें नहीं पता था कि जिम का क्या होने वाला है। घर पर भी कोई मुख्य स्तंभ नहीं था। हर तरफ बस अराजकता फैली हुई थी।”

अनिश्चितता के बावजूद फथालुंग प्रांत के मूल निवासी को पता था कि उन्हें मिस्टर हुआन को गर्व महसूस करवाना है।

उन्होंने बताया, “बॉस हुआन का सपना शिविर में एथलीट्स को उपलब्धियों की तरफ बढ़ते हुए देखना था। हमें थाइलैंड के शीर्ष एथलीट्स के रूप में वो देखना चाहते थे। पता था कि हमें भी उनके सम्मान में आगे बढ़ते रहना होगा।”

“मैंने कैंप में बॉक्सरों से कहा कि इस कठिन दौर का सामना करना होगा, ताकि हम थाइलैंड के बेहतरीन एथलीट्स से मुकाबला कर सकें। हमें पता था कि उनके सम्मान में हमें आगे बढ़ते रहना होगा।”

The living legend Rodtang Jitmuangnon takes a moment to himself after defeating Jonathan Haggerty at ONE: A NEW TOMORROW.

तो “द आयरन मैन” ने अपने साथियों का उत्साह बढ़ाया और मिस्टर हुआन की पत्नी माए एई की मदद से उन्हीं एथलीट्स ने मेंटॉर की विरासत को जिंदा रखने का संकल्प लिया।

रोडटंग ने कहा, “माए एई अब बॉक्सरों का ध्यान रखती हैं। वो उसी तरह से हमारा ध्यान रखती हैं, जिस तरह बॉस हुआन रखते थे। वो हर चीज का ध्यान रखती हैं जैसे कि वो रखा करते थे, जिसमें हमारी टीचिंग और ध्यान रखना शामिल है।”

“वो हमारा मॉरल सपोर्ट हैं और हमें आगे बढ़ाती हैं।”

अपने कॉर्नर पर Jitmuangnon की कुलमाता के साथ “द आयरन मैन” ने अगस्त 2019 में ONE: DAWN OF HEROES में जोनाथन “द जनरल” हैगर्टी को हराकर ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल जीता।

इसके दो महीने बाद उन्होंने ONE: CENTURY PART II में ब्राजीलियन हेवी हिटर वॉल्टर गोंसाल्वेस को हराकर अपनी बेल्ट का बचाव किया।

इसके साथ ही इस साल की शुरुआत में “द आयरन मैन” ने इस डिविजन के सबसे बेहतरीन एथलीट हैगर्टी को फिर से हराकर अपना स्टेटस और मजबूत कर लिया। इस बार उन्होंने तीसरे राउंड में तकनीकी नॉकआउट के जरिए उन्हें मात दी।

Rodtang Jitmuangnon celebrates his World Title victory

मिस्टर हुआन भले ही भौतिक रूप से रोडटंग के साथ न हों लेकिन वो हमेशा अपने मेंटॉर का दिया हुआ उपहार रिंग में हमेशा लाते हैं।

उन्होंने कहा, “मेरे पास उनके अंतिम संस्कार का कफन है। मैं उसे हमेशा अपने साथ रखता हूं। अपने हर मुकाबले से पहले उन्हें याद करता हूं और उनसे मदद करने की प्रार्थना करता हूं।”

इस दौरान “द आयरन मैन” मिस्टर हुआन के असर को कभी नहीं भूलेंगे, जो उनके करियर, जीवन और उनके किरदार पर पड़ा।

रोडटंग ने कहा, “वो सच में बहुत अच्छे व्यक्ति थे। उन्हें बताने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। मेरा जीवन आज अगर बेहतर हुआ है तो ये उनके कारण है।”

ये भी पढ़ें: पेचडम को विश्वास है कि वो ‘सुपरस्टार’ रोडटंग को हरा देंगे