मॉय थाई

रोडटंग जित्मुआंगनोन Vs.जोनाथन हैगर्टी – जीत के 4 तरीके

रोडटंग “द आयरन मैन” जित्मुआंगनोन और जोनाथन “द जनरल” हैगर्टी के बीच 2019 में हुआ ONE Super Series का मैच सबसे बेहतरीन बाउट में गिना जाता है। अब फिर से इनके बीच मुकाबला होना है, जिसमें थोड़ा सा ही समय बचा है।

ये रीमैच थाइलैंड के बैंकॉक में इस शुक्रवार, 10 जनवरी को ONE: A NEW TOMORROW में होगा। इस दौरान “द आयरन मैन” का लक्ष्य ONE फ्लाइवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल पर अपनी पकड़ को मजबूत बनाए रखना होगा, जो उन्होंने अगस्त में जीता था।

दोनों एथलीटों ने मैच के दौरान एक-दूसरे को कड़ी टक्कर दी थी। इस चुनौतीपूर्ण और रोमांचक मैच में काफी नजदीकी निर्णय के बाद जीत घोषित की गई थी। आखिर में रोडटंग के भारी पंचों के प्रहार ने मैच में अंतर पैदा किया था। हालांकि, दूसरी बार दोनों एथलीटों के पास ऐसी बहुत सी रणनीतियां होंगी, जो ये तय कर सकती हैं कि बेल्ट घर कौन ले जाएगा।

ये चार प्रमुख तरीके हैं, जो लंबे समय से बहुप्रतीक्षित मैच-अप की जीत की दिशा को तय करने में मददगार साबित हो सकते हैं।

#1 हैगर्टी की दूरी बनाए रखने की रणनीति

Jonathan Haggerty's left kick finds a home at ONE: DAWN OF HEROES in Manila.

“द जनरल” ने दिखा दिया है कि वो रोडटंग के खिलाफ अपनी रीच के दम पर राउंड जीत सकते हैं।

“आयरन मैन” को मैच में अपना दबदबा बनाए रखने के लिए उनके करीब जाने की जरूरत होगी लेकिन हैगर्टी का लंबा शरीर, शार्प और सीधे स्ट्राइक्स विरोधी के आगे बढ़ने को रोकने में मददगार साबित हो सकते हैं। बीच से लगाए जाने वाले मजबूत शॉट्स उन्हें खतरनाक फॉलोअप अटैक्स का मौका दे सकते हैं, जिन्हें वो स्ट्रेट राइट हैंड और हाई किक की मदद से संभव कर सकते हैं।

पिछली बार जब ये दोनों दिग्गज मिले थे तो ब्रिटेन के एथलीट ने अपने गेम प्लान से दूर होते चले गए और उन्हें विरोधी के कड़े प्रहारों का सामना कर मैच में पिछड़ना पड़ा था। अगर वो इस बार अनुशासन बनाए रखते हैं तो अपने खाते में जीत के अंक जोड़ सकते हैं।

#2 रोडटंग की राइट लो किक

Rodtang Jitmuangnon throws his right low kick to his opponent's thigh in Manila.

रोडटंग की राइट लो किक विरोधी पर एक महत्वपूर्ण और खतरनाक हथियार हो सकती है। इसकी मदद से वो ब्रिटिश एथलीट के हौसले को तोड़ने की कोशिश करेंगे। यहां तक कि जब वो पहले मुकाबले के शुरुआती राउंड्स में “द जनरल” के करीब जाने के लिए संघर्ष कर रहे थे। उस वक्त भी वो विरोधी पर लगातार दूर से हमला करने की कोशिश करते थे।

“द आयरन मैन” को तब खास सफलता मिली, जब उन्होंने हैगर्टी के टीप (दूर से सीधी किक मारना) को काउंटर करने के लिए इसका इस्तेमाल किया था।

इस तरह के अटैक विरोधी की आगे के राउंड्स के लिए गतिशीलता को कम कर सकते हैं। ये विरोधी को करीब लाने और बराबरी से मुकाबला करने के लिए प्रेरित करेगा। ये वैसा ही है जैसा थाई एथलीट चाहते हैं।



# 3 “द जनरल” का एल्बो अटैक

रोडटंग को अपनी क्षमता पर भरोसा है कि वो किसी तरह हैगर्टी को नुकसान पहुंचा सकते हैं। फिलीपींस के मनीला में जब इनके बीच मैच हुआ था तो चौथे राउंड के नॉकडाउन हुए। वो आगे बढ़ते हुए जरा भी लापरवाही नहीं करना चाहेंगे। The Knowlesy Academy के प्रतिनिधि अपने विरोधी की उत्सुकता का इस्तेमाल उनके खिलाफ कोहनी के प्रहार से कर सकते हैं।

जब भी आयरन मैन का आत्मविश्वास बढ़ता है तो वो लगातार स्ट्राइकर करने चले जाते हैं।

ऐसे में हैगर्टी को सिर्फ एक मौके की तलाश होगी, जिससे वो अपने विरोधी पर चॉपिंग डाउनवर्ड एल्बो मार सकें।

इस रणनीति को पूरा करने के लिए उन्हें मानसिक संतुलन को बनाए रखते हुए समय के साथ की जरूरत होगी लेकिन लंदन के एथलीट इसका फायदा उठाने में सक्षम हैं। अगर वो ऐसा करते हैं तो अपनी जीत दर्ज कर सकते हैं।

# 4 “द आयरन मैन” का बॉडी ब्लो

Rodtang "The Iron Man" Jitmuangnon calls on his rival in their Muay Thai World Title bout in Manila.

रोडटंग को पता है कि वो जब “द जनरल” के शरीर पर हमला करेंगे तो वो क्या प्रतिक्रिया देंगे। इसलिए वो पूरी तरह से अपने मजबूत लेफ्ट हुक के प्रहार से जीत हासिल करने की कोशिश कर सकते हैं।

हार्ड हिटर के रूप में पहचाने जाने वाले बैंकॉक के एथलीट ने हैगर्टी को पस्त करने के लिए मनीला में अपने खतरनाक लिवर पंचों का इस्तेमाल किया था। उनके इन प्रहारों ने हैगर्टी को धीमा होने पर मजबूर कर दिया था, जिसे “द आयरन मैन” भी मान चुके हैं।

थाई स्टार रोडटंग, हैगर्टी के शरीर पर प्रहार करने की कोशिश कर सकते हैं, जिससे उनका गार्ड नीचे होगा और फिर रोडटंग को पावरफुल पंच मारने का मौका मिल जाएगा।

ये भी पढ़ें: ONE: A NEW TOMORROW के स्टार्स के टॉप-5 नॉकआउट

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में शाम 4:00 बजे से देखें