मॉय थाई

जॉन वेन पार ने अपना अनुभव साझा कर लोगों से लड़ाई-झगड़ों से दूर रहने का आग्रह किया

जॉन वेन “द गनस्लिंगर” पार नहीं चाहते कि उनके फैंस किसी भी तरह के लड़ाई-झगड़े में पड़ें।

इंस्टाग्राम पर साझा की गई एक वीडियो में 10 बार के किकबॉक्सिंग और मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन ने लोगों से आग्रह किया कि वो इस तरह बेकार के झगड़ों में ना पड़ें क्योंकि ये जोखिम लेने के लायक नहीं हैं।

उसके बाद उन्होंने अपनी चोट के निशान दिखाए जो उन्हें 19 साल की उम्र में थाईलैंड में हुए एक अटैक की वजह से आए।

View this post on Instagram

Lesson for all the kids out there: Street fighting is dumb where three possibilities could happen: one, you get killed. Two, you kill someone. Three, you do kill someone and now you’re in jail. As a 19yo I thought I was the man. Day before I had my 2nd fight in Thailand getting the win so next day thought we would celebrate. After a few whiskeys a Polish gentleman decided he didn’t like my face and decide he wanted to kill me (not a figure of speech. He told me before the fight started he was going to kill me). This guy starts attacking me for no reasons so I decided to protect myself and fight back. I threw a kick and ended up on all fours. It was then I felt a massive thud on the back of my head. I jumped up to keep fighting but all of a sudden I couldn’t see through all the blood, and the street parted like the Red Sea as no one wanted to come near me as blood was gushing everywhere. I soon learnt I was hit over the head with a steel barstool having to get rushed to emergency to require 14 stitches. I’m seriously lucky to be alive because if he hit me across my face I’d be dead for sure. That was my first and last street fight (if I can help it anyway) because I soon learnt the hard way that there is no rules and not worth dying over something stupid ????!

A post shared by John Wayne Parr ???????? (@johnwayneparr) on

थाईलैंड में वो अपनी दूसरी जीत को सेलेब्रेट कर रहे थे लेकिन जॉन पर इस बीच एक व्यक्ति ने स्टील के बने स्टूल से अटैक कर दिया था।

ऑस्ट्रेलियाई स्टार ने कहा, “उस व्यक्ति ने बिना किसी कारण मुझ पर अटैक किया था, इसलिए मैंने खुद को बचाने के लिए उस पर प्रहार किया।”

“मैंने एक किक लगाई और अगले ही पल वो चारों खाने चित हो गया। तभी मुझे अपने सिर के पिछले हिस्से पर दर्द महसूस हुआ लेकिन मैं फाइट करता रहा लेकिन कुछ ही सेकंडों बाद खून से लथपथ होने के कारण मैं कुछ देख नहीं पा रहा था। हर जगह खून बिखरा हुआ था इसलिए कोई भी मेरे करीब नहीं आना चाहता था।”

चोट इतनी गहरी थी कि उन्हें 14 टांके आए थे।

जॉन अब अपने उस अनुभव से लोगों को सचेत कर रहे हैं कि वो इस तरह के लड़ाई-झगड़ों से दूर रहें। उन्होंने कहा, “किसी की बेवकूफी के कारण खुद को चोट पहुंचाना सही नहीं है।”

ये भी पढ़ें: ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग रैंक्स में शामिल हुए वर्ल्ड-क्लास एथलीट्स पर एक नजर