मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

जॉन डैनेहर ने गैरी टोनन के शानदार बदलाव के बारे में विस्तार से बताया

गैरी “द लॉयन किलर” टोनन को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में आने से पहले दुनिया का सबसे अच्छा ग्रैपलर माना जाता था और उनके कोच जॉन डैनेहर ने न्यूयॉर्क की Renzo Gracie Academy में उनके शानदार बदलाव में मदद की।

ब्राजीलियन जिउ-जित्सु के प्रसिद्ध कोच को कॉम्बैट पर अपनी विश्लेषणात्म नजर के लिए जाना जाता है और इस वजह से उनके एथलीट हमेशा आगे रहते हैं।

हालांकि, उन्होंने बताया कि टोनन की मानसिकता उनकी सफलता का अहम हिस्सा है।

डैनेहर ने बताया, “गैरी को दुनिया का सबसे अच्छा ग्रैपलर कहा जा सकता है। उन्हें अपने सबसे शानदार स्टाइल के लिए जाना जाता है, जो पोज़िशन और कठिन सबमिशन होल्ड डेविल-मेय-केयर के दृष्टिकोण पर आधारित है।”

“उनका खेल रिस्क से घिरा है, वो वर्ल्ड चैंपियनशिप की प्रतियोगिता में दुसरों से ज्यादा जोखिम लेते हैं। अपने वेट क्लास के ऊपर, ताकतवर और बड़े लोगों से फाइट करते हैं और उनका सफलता रेट सबमिशन होल्ड की मदद से ज्यादा है।”

View this post on Instagram

So thankful that I've had the legend himself @danaherjohn with me every step of the way in my journey to the great unknown world of MMA. We started my very first shoot boxing training, drilling, and sparring, just over 3 months ago. Our biggest task was preparing me for something I basically had no knowledge, skills, or expertise in, fighting with strikes in the standing position. Along with that complete deficit in skill, I needed work in grapple box, fence wrestling, and clinch fighting. We needed to make up a lot of ground in a very short period of time, but at the same time not take to much damage while doing so. From running sparring, drilling, studying tape, strategy, tactics, to finally following me out to Thailand to corner me against my first ever opponent in MMA, John coordinated it all. I realize how difficult of a task that is, and how big of a commitment he made to helping me prepare. He helped me go from frantically fighting for my life in early sparring, to being genuinely confident going into my first fight. I'm loyal to this guy forever. Thanks for everything brother. Photo by @jeffreyschu. #tononvscorminal march 24th @onechampionship

A post shared by Garry Lee Tonon (@garrytonon) on

इस एथलीट ने करियर में कई सारे चुनौतीपूर्ण चैलेंज का सामना किया है और उन्होंने अपने निडर स्वभाव को कॉम्बैट जोन और नए एरीना में आने के बाद भी जारी रखा।

टोनन के लिए सामान्य परिधि में काम करना आसान रहता लेकिन वो ठहराव की इच्छा नहीं रख रहे थे। इसके लिए उन्होंने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स का ONE Championship में लक्ष्य बनाया।

अब तक वो अपने सफर के दौरान जिम और सर्कल में सामने आई बाधाओं को पार कर चुके हैं।



डैनेहर ने बताया, “इसमें [मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में ढलने में] काफी अलग-अलग प्रकार के चैलेंज जुड़ जाते हैं।”

“सबसे पहली मानसिकता है। जब आपके पास मार्शल आर्ट्स के एक क्षेत्र में बढ़िया विशेषज्ञता है, (गैरी की विशेषता ग्रैपलिंग) जब आप मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में जाते हैं, सबसे पहली चीज़ जो आपके ध्यान में आएगी कि आप एक क्षेत्र में माहिर है और अब आप नए क्षेत्र में जाने की तैयारी कर रहे हैं।”

“एथलीट्स के लिए मानसिकता का सामना करना मुश्किल है लेकिन गैरी के पास मार्शल आर्ट्स के अन्य क्षेत्र में कदम रखने के दौरान काफी अच्छी सोच थी। गैरी ने उन क्षेत्रों में खुद को नौसिखिया स्वीकार किया।”

View this post on Instagram

Amazing first day here is Singapore at @evolvemma super seminar with @garrytonon @gordonlovesjiujitsu and @nickyryanbjj The theme of the camp is the crucial interface between offense and defense in Jiu Jitsu. Garry Tonon got everyone off to an incredible start with his signature escape into offense skills. Now it’s big Gordon Ryan up next to teach our approach to closed guard the way we like it – as a devastating attack position that with the right methods, can get you dominance from underneath an adversary. In the future Garry and Gordon will produce videos on these subjects so it’s amazing to see the depth of their instruction and their own innovative ways of presenting the material ???????? Things are about to start up now!!

A post shared by John Danaher (@danaherjohn) on

टोनन नए खेल में शुरुआत करने को लेकर खुश थे और उन्होंने खेल के हर क्षेत्र में वही जोश दिखाया।

उन्होंने मार्च 2018 में हुए ONE: IRON WILL में अपना डेब्यू किया था और यहां उन्होंने अपना जबरदस्त बदलाव दर्शाया जब उन्होंने फैंस को अपनी स्ट्राइकिंग से चौंकाते हुए दूसरे राउंड में रिचर्ड कोर्मिनल को TKO से हराया।

इसके बाद से द जर्सी के रहने वाले एथलीट ने 4 और जीत दर्ज की है और अपने हर प्रतिद्वंदी को फिनिश करने में कामयाब रहे हैं।

उनका सबसे अच्छा प्रदर्शन योशिकी नाकाहारा के खिलाफ पिछले साल मई में आया, इस दौरान उनकी ग्रैपलिंग की ताकत के बारे में पता चला लेकिन एंथनी एंगलेन पर मार्च 2019 में TKO से मिली सबसे खास जीत उनके जीवन लिए एक अहम मोड़ था।

“द लॉयन किलर” ने अपनी रेसलिंग का जलवा मैट पर दिखाया और इसके बाद उन्होंने डच-इंडोनेशियन स्टार को जल्द ही तबाह कर दिया।

अपनी शानदार ग्रैपलिंग और सीखने की लगन के अलावा टोनन के लगातार विकास ने पिछले दो सालों ने बताया है कि उनके पास मुख्य स्रोत के रूप में डैनेहर हैं।

न्यूज़ीलैंड में पैदा होने वाले कोच ने इससे पहले भी दिग्गज वर्ल्ड चैंपियंस के विकास में अहम किरदार निभाया और “द लॉयन किलर” अपने मेंटर द्वारा बताई हर चीज़ को सीखने में सफल रहे हैं।

डैनेहर ने बताया, “मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में कई खास स्किल्स हैं, जैसे फेंस पर लड़ना। ये हर चीज़ गैरी को शुरुआत से सीखनी पड़ी।”

“उनके पास अब तक एक बड़ा फायदा है क्योंकि हमारे पास जॉर्ज सेंट-पिअर और दूसरे प्रसिद्ध मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स सिखाने का काफी अनुभव है।

“स्किल से प्राप्त की गई कोचिंग और ऐसे एथलीट के साथ काम करने से गैरी ने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स पर अपनी पकड़ बनानी शुरु की।”

American grappling stud Garry Tonon screams in joy bout his quick submission win

टोनन और उनके कोच जानते हैं कि सुधार के लिए हमेशा जगह रहती है।

हालांकि, 5-0 के रिकॉर्ड के साथ उनकी निगाहें  मार्टिन “द सीटू-एशियन” गुयेन के ONE फेदरवेट वर्ल्ड टाइटल पर है। “द लॉयन किलर” अब शायद टाइटल के लिए चैलेंज करने से जरा सी दूर हैं।