मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

कैसे योडकाइकेउ ने असफलता को पछाड़कर सफलता की ओर कदम बढ़ाया

Aug 9, 2020

योडकाइकेउ “Y2K” फेयरटेक्स शुक्रवार, 14 अगस्त को थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में होने वाले ONE: NO SURRENDER II में जॉन शिंक के खिलाफ ONE Championship में डेब्यू करने जा रहे हैं।

रिंग में उतरने से पहले 29 वर्षीय फ्लाइवेट स्टार ने अपने कॉम्बैट स्पोर्ट के सपने, पटाया स्थित Fairtex Training Center में बिताए गए समय और मॉय थाई से मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में आने के बारे में बात की।

शुरुआती सपना

Thai mixed martial artist Yodkaikaew Fairtex stands in front of the ring

“Y2K” थाईलैंड में अपने बचपन के दौरान Channel 3 और Channel 7 पर मॉय थाई के वीकली शोज़ देखकर “द आर्ट ऑफ 8 लिंब्स” के प्रति काफी आकर्षित हुए।

12 साल की उम्र में उन्होंने इसमें हाथ आजमाने का फैसला किया। उनके पिता उन्हें Fairtex Training Center लेकर आ गए।

दुर्भाग्यवश, इतने बड़े जिम के लिए योडकाइकेउ अभी तैयार नहीं थे। मॉय थाई स्टार बनने की राह देख रहे इस स्टार को पहले पांच बार टीम में जॉइन नहीं किया गया।

29 वर्षीय ने कहा, “मैंने अपने पिता से कहा था कि इस बार मुझे जगह नहीं मिली तो ये आखिरी कोशिश होगी।”

छठी कोशिश में उनकी मेहनत रंग लाई और फेयरटेक्स के मालिकों ने उन्हें अपने प्रतिष्ठित जिम में जगह दी।

योडकाइकेउ ने कहा, “उन्होंने मुझे जिम में जगह दी।”

ये उनके लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि थी लेकिन टीम में बने रहना उससे भी मुश्किल काम साबित हो रहा था। करीब एक हफ्ते की ट्रेनिंग करने के बाद ही योडकाइकेउ ने मॉय थाई छोड़ने के बारे में सोचा।

उन्होंने कहा, “मैं हर दिन रोता था। मैंने अपने पिता को कहा कि मैं वापस घर आना चाहता हूं। मैं अब इसे सहन नहीं कर सकता।”

“मेरे पिता ने कहा कि तुमने यहां आने के लिए पांच-छह बार कोशिश की है तो ऐसे में तुम घर वापस क्यों आना चाहते हो।

“उसके बाद से मैं ठीक रहा। मैंने अपने शरीर को अच्छी शेप देने के लिए ट्रेनिंग की। जब मेरा शरीर अच्छी शेप में आ गया तो लगातार ट्रेनिंग करने लगा।”

Thai mixed martial artist Yodkaikaew Fairtex kicks heavy bag

अपने पिता से मिले प्रोत्साहन की वजह से योडकाइकेउ ने प्रोफेशनल करियर बनाने के लिए ट्रेनिंग में दम लगा दिया। ये सफर अब भी उनके लिए आसान नहीं था। एक समय पर उनके दो सामने दो विकल्प आ गए थे, जिसमें एक में मुसीबतें भरी हुई थीं तो दूसरे में काफी सारी अच्छी चीज़ें।

उन्होंने पहला विकल्प चुना और कई मौकों पर जिम छोड़कर जाने के लिए कहा गया। जिम उन्हें आखिरी बार जिम छोड़कर जाने की अंतिम चेतावनी दी गई तो उनका हृदय परिवर्तन हो गया।

योडकाइकेउ ने कहा, “मैंने कहा, अब बहुत हुआ। मैं अपने बॉस को साबित करना चाहता था कि मैं भी कुछ कर सकता हूं।”

उन्होंने ऐसा करके भी दिखाया।

योडकाइकेउ ने थाईलैंड के टॉप वेन्यूज़ में कामयाबी के साथ हिस्सा लिया। अगस्त 2015 में उन्होंने चार एथलीट्स के टूर्नामेंट में शानदार करते हुए MAX मॉय थाई स्टेडियम में द चैंपियन मॉय थाई 65 किलोग्राम Dat Chuek बेल्ट जीती।



एक बड़ा बदलाव

Thai mixed martial artist Yodkaikaew Fairtex punches a dummy at the Fairtex Training Center

मॉय थाई में सफलता हासिल करने के बाद योडकाइकेउ की दूसरे खेल में हाथ आजमाने की इच्छा हुई।

उन्होंने कहा, “मैं कुछ बदलाव चाहता था। मैंने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स फाइट्स देखी और मैं उनका हिस्सा बनना चाहता था।”

खुद को परखने के लिए उन्होंने Full Metal Dojo प्रोमोशन के एक कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया। उन्होंने अपने विरोधी को पहले ही राउंड में नी के जरिए नॉकआउट कर खुद को साबित किया।

शुरुआती बाउट में सफलता मिलने के बाद उन्होंने लोकल कॉम्पिटिशन में हिस्सा लिया और फिर बाद में अपनी स्किल्स को टेस्ट करने के लिए चीन चल गए। उनका अब तक का रिकॉर्ड 4-2-1 है, जिसमें से तीन जीत नॉकआउट के जरिए आई है।

इस कामयाबी के कारण वो दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन का हिस्सा बन पाए और अब इसमें अपनी जबरदस्त छाप छोड़ना चाहते हैं।

शुक्रवार को “Y2K” अपनी जबरदस्त स्ट्राइकिंग और ग्राउंड गेम का दम दिखाने की कोशिश करेंगे।

ये भी पढ़ें: ONE: NO SURRENDER II के स्टार्स द्वारा किए गए बेस्ट नॉकआउट्स