न्यूज़

सियार बहादुरजादा के पास Evolve Fight Team के लिए हैं बड़े प्लान

पूर्व Shooto मिडलवेट वर्ल्ड चैंपियन सियार “द ग्रेट” बहादुरजादा ने जनवरी में Evolve Fight Team का हेड कोच बनकर अपने करियर के नए अध्याय की शुरुआत की थी।

सिंगापुर का ये बड़ा जिम कई सारे बड़े ONE Championship एथलीट्स का घर है, इसलिए इस दिग्गज का प्रभाव मार्शल आर्ट्स स्क्वॉड को आसानी से नया आकर देगा।

बहादुरजादा के मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स अनुभव से ONE विमेंस स्ट्रॉवेट वर्ल्ड चैंपियन “द पांडा” जिओंग जिंग नान, अमीर खान, ट्रॉय “प्रीटी बॉय” वर्थेन और ऋतु “द इंडियन टाइग्रेस” फोगाट को काफी फायदा मिलेगा और अन्य विश्व स्तरीय कोचों के साथ मिलकर वो उन्हें ग्लोबल स्टेज पर आगे बढ़ने में मदद करेंगे।

इस इंटरव्यू में “द ग्रेट” ने बताया कि कैसे वो Evolve में आए, कैसे उन्होंने इस नए किरदार को अपनाया और जिम के एथलीट्स में सुधार करने का प्लान बना रहे हैं।

 

ONE Championship: आपने प्रतियोगी करियर को आराम देकर कोचिंग करने का निर्णय लिया। इस निर्णय के पीछे क्या कारण था?

सियार बहादुजादा: मैं ट्राइआउट (ट्रायल) के दौरान एक महीने यहां था और उसी समय मुझे कोचिंग का तरीका पसंद आया। मैं एक नया चैलेंज चाहता था।

मैंने अपने पिछले 15 सालों के प्रतियोगी जीवन मे लोगों को प्रेरणा देने की कोशिश की है। उन्हें ड्रग्स और अफगानिस्तान में अपराध करने वाली चीज़ों से दूर रहने में मदद की है और उन्हें ज्यादा से ज्यादा मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स की सलाह दी।

मैं एक समय तक इसमें सफल रहा और अफगानिस्तान में मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स को बड़ा बनाया। आजकल, हजारों एथलीट्स इस खेल के द्वारा अपना जीवन चला रहे हैं। ये एक ऐसी चीज़ है जिसका मेरे लिए काफी महत्व है।

जब मैं Evolve में आया, मैंने कोचिंग शुरू की और मुझे विद्यार्थियों को सुधारने, उनका सपना पूरा करने और उन्हें प्रेरित करने में सुकून मिला।



ONE: क्या आपको लगता है कि आपके जीवन की कहानी ने आपको Evolve के अंतरराष्ट्रीय एथलीट्स से जुड़ने में मदद की है?

सियार बहादुरजादा: बिल्कुल, ये एथलीट्स कठोर परिश्रम कर रहे हैं। वे दिन-रात ट्रेनिंग करते हैं, अपने परिवार से अलग रहते हैं, अपने देश से दूर रहते हैं। वे ऐसी चीज़ें खाते हैं जो उन्हें पसंद नहीं है और ऐसी चीज़ें पीते हैं जो उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं।

ये ऐसी चीज़ें है जो मैंने की है और अब मैं इन्हें करते हुए देखता हूँ। वे अपने सपने पूरे करने के लिए प्रेरित हैं। ये शानदार नजारा रहता है और ऐसे एथलीट्स के बीच रहना काफी प्रेरणादायक रहता है।

साथ ही मैं इस तरह से मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के काफी करीब रहता हूँ और इससे मुझे काफी प्यार है। मैं इस दौरान इन एथलीट्स को दिन-रात दिन रात देखता हूँ। वे बेहतर होते जा रहे हैं और हर हफ्ते उन्हें सुधार करते हुए देखकर मुझे अलग प्रकार का सुकून मिल रहा।

ONE: आपके संघर्ष और सफलता से बहुत सारे एथलीट्स आपके नेतृत्व में आपके जैसा बन सकते हैं। आपको कैसा महसूस होता है?

सियार बहादुरजादा: मैं कई सारे जिम में रह चुका हूं और मैंने कई सारे कोचों से ट्रेनिंग ली है। मुझे कई महान कोच मिले हैं और कई कम-महान कोच मिले हैं। मैंने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में दो दशकों के अनुभव से सीखा कि कौन-सी चीज़ काम करती है, कैसे एथलीट्स को बेहतर बनाना है और कैसे उन्हें फाइट गेम समझाना है।

फाइट गेम न सिर्फ शारीरिक रहता है बल्कि इसमें मानसिक खेल भी अहम है, इसलिए मैं ना सिर्फ उन्हें फिजिकल शेप में ला रहा हूँ बल्कि अच्छे दिमागी स्तर में लाने का प्रयास कर रहा हूँ और उनमें सकारात्मकता लाने का प्रयास कर रहा हूँ। मैं उन्हें मानसिकता दिलाना चाहता हूँ कि फाइटिंग में शारीरिक क्षमता का काफी महत्व है लेकिन जब प्रदर्शन करने और मुकाबला करने की बारी आती है तो मानसिक स्थिति भी अहम है।

मैं उन्हें मेरा मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स सिखाने और उसकी कोचिंग देने का तरीका समझाने की कोशिश करता हूँ ताकि उनके दिमाग में कोई सवाल न रह जाए जैसे ‘क्यों हम ये विशेष चीज़ कर रहे हैं?’ या, ‘इसका हमारे ट्रेनिंग के तरीके और सुधार करने से क्या लेना-देना है?’

ONE: आपने कई शानदार जिम में कई सारे बड़े नामों के नेतृत्व में ट्रेनिंग ली है और कई बड़ी कंपनी में काम किया है। क्या इस वजह से आपने Evolve में ये चुनौती ली?

सियार बहादुरजादा: हाँ, स्ट्राइकिंग में दो अलग-अलग प्रकार है, पहला है थाई बाक्सिंग और किकबॉक्सिंग और दूसरा है मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स स्ट्राइकिंग।

इन दोनों स्टाइल्स को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में लाना काफी कठिन है और मैं इतने सालों में कई सारे स्ट्राइकर्स के साथ रहा हूँ। मैं अब Evolve में कई सारे थाई बॉक्सर्स से घिरा हुआ हूँ।

मुझे Evolve के सेशंस से प्रेरणा मिलती है लेकिन इन दो दशकों में मैंने एमस्टरडैम और अन्य जिम में ट्रेनिंग ली है। मुझे स्ट्राइकिंग की काफी समझ है कि मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में क्या काम करता है और क्या नहीं। इसलिए मैं ये सिखाने का प्रयास कर रहा हूँ।

ONE: आपका Evolve से संपर्क कैसे हुआ?

सियार बहादुरजादा: मुझे पता था कि Evolve एक शानदार टीम है। इस टीम के पास अलग-अलग डिविज़न में कई वर्ल्ड चैंपियंस हैं जिसमें थाई बॉक्सिंग, ब्राजीलियन जिउ-जित्सु, बॉक्सिंग शामिल है और मुझे उनके साथ जुड़ने की प्रेरणा मिली।

मैंने जब ऐड देखा कि वो एक हेड कोच की तलाश में है तो मैंने उन्हें मेल लिखा। ये काफी आसान साबित हुआ। उन्होंने मुझसे संपर्क किया और कहा ‘क्या आप एक महीना यहां सिखाने के लिए आ सकते हैं?’

मैंने कहा कि मैं जरूर आऊंगा और इसके बाद मैंने यहां आने का निर्णय लिया और एक महीने का ट्रायल दिया। जब मैंने देखा कि टीम में अच्छे ग्रैपलर्स, अच्छे स्ट्राइकर्स और अच्छे रेसलर्स हैं तो ये मेरे लिए चुनौती बन गई और मुझे चुनौतियां काफी पसंद हैं।

ONE: हेड कोच के रूप में और इतने सारे वर्ल्ड चैंपियन कोचों के साथ आपको कैसा लग रहा है?

सियार बहादुरजादा: सबसे अच्छी बात Evolve की ये है कि हमारे पास हर एक डिविज़न में सर्वश्रेष्ठ लोग हैं। हमारे पास सबसे अच्छे ग्रैपलर्स, BJJ इंस्ट्रक्टर्स, बॉक्सिंग इंस्ट्रक्टर्स, मॉय थाई इंस्ट्रक्टर्स हैं।

बतौर हेड कोच मेरा काम है कि कैसे मैं कोचें पर नियंत्रण रख सकता हूँ और कैसे मैं उन्हें कह सकता हूँ कि मेरे अनुसार ये मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स के लिए सही है और वैसा ही हर एक एथलीट पर भी लागू होता है।

मैं ग्रुप में किसी चीज़ का आदेश नहीं देता और कहता कि सबको ऐसी ही चीज़ करनी है। मैं मेरी ट्रेनिंग पर ध्यान देता हूँ और हर एक एथलीट पर नजर रखता हूँ। मैं उनकी फाइट्स के समय उनके काम करता हूँ। मैं जिउ-जित्सु, रेसलिंग और बॉक्सिंग में उसी प्रकार से काम करता हूँ जो उनके स्टाइल को फिट हो।

मैं उनमें अच्छा स्वभाव लाकर उन्हें बेहतर बनाने का नाम करता हूँ और देखता हूँ कि वे फाइट के दौरान किस स्वभाव से कार्य कर रहे हैं और वे ट्रेनिंग के किस स्वभाव से काम कर रहे हैं।

ONE: अब आप हेड कोच है तो आपकी सबसे बड़ी प्रेरणा कौन है?

सियार बहादुरजादा: मैं ग्रेग जैक्सन का नाम लूंगा। उन्होंने मेरा पूरा करियर, मेरा जीवन और फाइटिंग में मेरा तरीका बदला है और मैं उन्हें सबसे बड़ी प्रेरणा मानता हूँ।

ONE: जब से आप Evolve में आए हैं, आप ONE Championship इवेंट में एथलीट्स के कॉर्नर पर मौजूद रहे हैं। आपके संस्था को लेकर कैसे विचार है?

सियार बहादुरजादा: वो काफी ज्यादा प्रोफेशनल हैं। वे अपने एथलीट्स को सबसे आगे रखते हैं। वो अपने एथलीट्स की छवि बनाते हैं। मैं कई सारी संस्थाओं में रह चुका हूं और मैं मानता हूँ कि ONE सबसे ज्यादा प्रोफेशनल रहा है। उनके पास सबसे अच्छा प्रोडक्शन और मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स गेम है।

ONE: ONE Championship पूरी तरह मार्शल आर्ट्स के सकारात्मक मूल्यों को दर्शाता है। क्या ये आपको स्वभाविक रूप से जोड़ पाई?

सियार बहादुरजादा: हाँ, चाट्री [सिटयोटोंग, ONE Championship के चेयरमैन और सीईओ] लोगों को प्रेरित करते हैं और उनकी महानता को दर्शाते हैं। इसी चीज़ ने मुझे काफी प्रेरित किया। ये पूरी तरह सम्मान देता है। ये मार्शल आर्ट्स के बारे में है और ONE Championship मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स को बढ़ावा देती है।

मार्शल आर्ट्स द्वारा सम्मान और कठोर परिश्रम मिलता है और इसने ही असल रूप में मुझे प्रेरित किया है। मैंने कभी भी किसी से बहस नहीं की और अपने प्रतिद्वंदी का अनादर नहीं किया और ऐसा ONE Championship में भी नहीं होता। यही चीज़ मुझे ONE Championship के बारे में सबसे ज्यादा पसंद आई।

ये भी पढ़ें: मार्शल आर्टिस्ट्स के लिए घर पर ट्रेनिंग करने के 5 सबसे अच्छे संसाधन