न्यूज़

फाहदी खालेद ने हुआंग डिंग पर जीत के साथ ONE: NO SURRENDER II की शुरुआत की

फाहदी “द ग्लैडिएटर” खालेद ने शुक्रवार, 14 अगस्त को अविश्वसनीय मॉय थाई कौशल का प्रदर्शन किया।

बैंकॉक, थाईलैंड में हुए ONE: NO SURRENDER II के ONE Super Series मॉय थाई फ्लाइवेट मुकाबले में ट्यूनीशियाई एथलीट ने अपने चीनी प्रतिद्वंदी हुआंग डिंग को सर्वसम्मत निर्णय से हराया और इवेंट की शानदार शुरुआत की।

???? TRIFECTA: HUANG DING ???? FAHDI KHALED ????

???? TRIFECTA: HUANG DING ???? FAHDI KHALED ????Witness the Muay Thai thriller that kicked off ONE: NO SURRENDER II from three different angles!

Posted by ONE Championship on Friday, August 14, 2020

पहली ही घंटी के साथ खालेद ने आक्रामक शुरुआत की। 25 साल के एथलीट ने आते ही हुआंग के शरीर पर अपनी किक्स बरसानी शुरू कर दी और उन्हें भौचक्का कर दिया।

राउंड के बीच में “द ग्लैडिएटर” ने अपने चीनी विरोधी को एक फ्लाइंग नी दे मारी। हुआंग ने इसका जवाब मुक्कों से देना चाहा लेकिन Venum Training Camp के प्रतिनिधि ने उन्हें कोई मौका नहीं दिया।

पहले राउंड में खालेद ने अपने किक्स और नी का बेहतरीन इस्तेमाल किया लेकिन दूसरे राउंड में उन्होंने अपनी रणनीति को बदला।

हुआंग के आक्रामक वार से बचाव करने के लिए ट्यूनीशियाई एथलीट ने अपने दायरे में रहना उचित समझा और उसका जवाब अपने ख़तरनाक बॉक्सिंग कॉम्बिनेशन से देकर राउंड बिना किसी नुकसान के खत्म किया।

Fahdi Khaled

हुआंग जानते थे कि तीसरे और आखिरी राउंड में उन्हें कुछ बड़ा करना होगा, जिससे वो ये मैच अपने नाम कर सकें, उन्होंने कुछ ऐसा ही किया।

लेकिन खालेद भी इसके लिए तैयार थे, उन्होंने चीनी स्ट्राइकर की बढ़त को अपनी एक पुश किक से रोका।

“द ग्लैडिएटर” ने अपनी स्ट्राइक्स जारी रखीं, जिसमें हेवी लेग किक्स, राइट हुक्स और राउंड के बीच में एक बॉडी किक शामिल थी। इसके बाद ट्यूनीशियाई एथलीट ने एक ओवरहैंड राइट पंच से हुआंग को चोट पहुंचाई। खालेद ने फिर स्ट्रेट राइट से वार किया, जिससे उनके प्रतिद्वंदी को पीछे जाना पड़ा।

मैच को फिनिश करने के चांस को ज़ाया न करते हुए “द ग्लैडिएटर” ने फिर से अपने स्ट्राइक्स बरसानी शुरू की और इस तरह बाउट का अंत हुआ।

Fahdi Khaled defeats Huang Ding at ONE: NO SURRENDER II

भले ही खालेद फिनिश नहीं कर पाए लेकिन इस मैच का रिजल्ट शायद सबको पता था। जजों के सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल कर उनका रिकॉर्ड अब 40-8 हो गया है।

ये भी पढ़ें: ONE: NO SURRENDER II – रिजल्ट्स और हाइलाइट्स, सैमापेच Vs. रोडलैक