न्यूज़

डैनी किंगड ने मोरेस Vs. जॉनसन के वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच पर अपनी राय दी

अप्रैल 2, 2021

ONE Championship में #2 रैंक के फ्लाइवेट कंटेंडर डैनी “द किंग” किंगड ही ऐसे एथलीट हैं, जो ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड चैंपियन एड्रियानो “मिकीन्यो” मोरेस और डिमिट्रियस “माइटी माइस” जॉनसन की चुनौती से अच्छी तरह वाकिफ हैं।

Team Lakay के स्टार अकेले एथलीट हैं, जो जॉनसन और मोरेस दोनों का सामना कर चुके हैं।

इसलिए किंगड की राय जो गुरुवार, 8 अप्रैल को “ONE on TNT I” के ऐतिहासिक वर्ल्ड चैंपियनशिप मुकाबले की दृष्टि से बहुत अहम है।

“द किंग” का मानना है कि यूएस प्राइम टाइम टेलीविजन पर आने वाले इस मुकाबले का परिणाम किसी भी ओर रुख कर सकता है।

उन्होंने कहा, “सच कहूं, तो इस मैच की भविष्यवाणी करना बहुत कठिन है। कौन जीतेगा, कुछ नहीं कहा जा सकता। दोनों के खिलाफ रिंग में उतरने के बाद मुझे अहसास हुआ है कि वो दोनों बहुत बेहतरीन फाइटर्स हैं।”

किंगड का सामना ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप के फाइनल में जॉनसन से हुआ था, जिसमें अमेरिकी मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स लैजेंड ने सर्वसम्मत निर्णय से जीत प्राप्त की थी।

मुकाबले में “द किंग” को अहसास होने लगा था कि जॉनसन को मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स इतिहास के सबसे महान एथलीट्स में से एक क्यों माना जाता है।

किंगड ने कहा, “वो एक महान एथलीट हैं। उनकी तकनीक शानदार है और बहुत तेज मूव करते हैं। उनके सामने रिंग में डटे रहना बहुत मुश्किल है।”



साल 2017 में अपराजित रहे फिलीपीनो एथलीट ने केवल 22 साल की उम्र में एड्रियानो मोरेस को ONE फ्लाइवेट वर्ल्ड टाइटल के लिए चैलेंज किया था।

किंगड उस मैच में ज्यादा देर नहीं टिक पाए, जहां उन्हें पहले राउंड में रीयर-नेकेड चोक के खिलाफ टैप आउट करना पड़ा, लेकिन उनका मानना है कि अगर वो मुकाबला आज हुआ होता तो उनकी जीत की संभावना ज्यादा होती।

Team Lakay के स्टार ने कहा, “मोरेस के खिलाफ मेरे मैच को काफी समय बीत चुका है, लेकिन अब स्थिति काफी अलग है।”

“मेरे हिसाब से मुझे वो मुकाबला कम समय के नोटिस पर मिला था इसलिए तैयारी के लिए ज्यादा समय नहीं मिल पाया। इसी वजह से मैच का परिणाम मेरे पक्ष में नहीं आया।”

इसके बावजूद किंगड को मोरेस से कोई शिकायत नहीं है। उनका मानना है कि “मिकीन्यो” भी पिछले कुछ सालों में एक बेहतर एथलीट बन गए हैं। साथ ही वो ये भी मानते हैं कि ब्राजीलियाई एथलीट जॉनसन को हराने में सक्षम हैं, खासतौर पर स्ट्राइकिंग में।

किंगड ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि मोरेस अपनी लंबी रीच (पहुंच) का फायदा उठाने की कोशिश करेंगे, जिससे स्टैंड-अप गेम में बढ़त बनाने में उन्हें मदद मिलेगी।”

“वो किसी वजह से ही चैंपियन बने हैं और अगर वो अच्छे एथलीट ना होते तो शायद चैंपियन भी ना बनते। उनका ग्राउंड गेम भी शानदार है और जॉनसन को कड़ी टक्कर दे सकते हैं।”

जॉनसन के खिलाफ गेम प्लान तैयार करना और उसे अमल में लाना, दो अलग-अलग चीजें हैं। फिलीपीनो एथलीट का मानना है कि स्थिति के हिसाब से फैसले लेने की क्षमता “माइटी माउस” को “मिकीन्यो” से बेहतर साबित करती है।

किंगड ने कहा, “दोनों की मूवमेंट की बात की जाए तो डिमिट्रियस जॉनसन बेहतर हैं। शारीरिक और मानसिक रूप से भी वो एक कदम आगे के बारे में सोचकर चलते हैं।”

“उनकी यही खासियत उन्हें महान बनाती है। वो अपने प्रतिद्वंदियों से एक कदम आगे चल रहे होते हैं, बहुत तेज मूवमेंट करते हैं और वो पहले ही जान चुके होते हैं कि उनका विरोधी क्या करने वाला है।”

Philippine martial artist Danny Kingad makes his ring walk at ONE: DAWN OF HEROES

जब उनसे मैच के परिणाम कि भविष्यवाणी करने को कहा गया, तो उन्होंने मोरेस की हार को स्वीकार तो नहीं किया लेकिन अंत में जॉनसन के वर्ल्ड चैंपियन बनने की उम्मीद जताई।

उन्होंने कहा, “जैसा कि मैंने कहा, इस मुकाबले की भविष्यवाणी करना कठिन है। लेकिन अगर मुझे चुनाव करना हो तो जॉनसन को चुनूंगा।”

ये भी पढ़ें: रिच फ्रैंकलिन: ‘ONE on TNT’ सीरीज से अमेरिकी फैंस मंत्रमुग्ध हो जाएंगे

और लोड करें

Stay in the know

Take ONE Championship wherever you go! Sign up now to gain access to latest news, unlock special offers and get first access to the best seats to our live events.