मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

एड्रियानो मोरेस ने ऐतिहासिक 2020 के लिए अपना दृष्टिकोण जाहिर किया

ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड चैंपियन एड्रियानो मोरेस “मिकीन्यो” 2020 में अपने डिवीजन के इतिहास में सबसे बड़े मैच में हिस्सा लेने के लिए इंतजार नहीं कर सकते हैं।

Geje Eustaquio vs. Adriano Moraes III delivered action & excitement in SPADES!

Geje "Gravity" Eustaquio vs. Adriano Moraes III delivered action & excitement in SPADES!Download the ONE Super App now ???? http://bit.ly/ONESuperApp

Posted by ONE Championship on Saturday, 26 January 2019

ब्राजीलियन योद्धा ने हाई नोट पर इस वर्ष की समाप्त की क्योंकि उन्होंने पिछली जनवरी में अपने तीसरे बाउट में पूर्व टाइटल होल्डर जेहे युस्ताकियो “ग्रैविटी” को हराकर अपनी प्रतिष्ठित बेल्ट हासिल की थी।

हालांकि, तब से वह साइड लाइन थे और धैर्यपूर्वक ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड ग्रैंड प्रिक्स की प्रतीक्षा कर रहे थे, ताकि वह अपने अगले चैलेंजर की पहचान का पता लगा सकें।

जाहिर है कि चैलेंजर 12-बार फ्लाईवेट वर्ल्ड चैंपियन डिमिट्रियस जॉनसन “माइटी माउस” होगा।

अमेरिकन मेगास्टार ने ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड ग्रैंड प्रिक्स चैंपियनशिप का दावा करने के लिए लगातार तीन मुकाबलों में जीत दर्ज की। अब यह जोड़ी अगले साल सर्किल में एक-दूसरे से भिड़ने वाली है।

मोरेस ने कहा, “मैं और डीजे दुनिया में सबसे अच्छे फ्लाईवेट हैं। मैं इस लेजेंड वर्सेज लेजेंड के मुकाबले का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं।”

“मेरे पास दुनिया, दोस्तों और परिवार को दिखाने का मौका है कि मैं किस चीज के लिए इतनी मेहनत कर रहा हूं।”



“मिकीन्यो” का जब तक यह प्रतिष्ठित मुकाबला करीब आता है, तब तक यह उनका सबसे लंबा समय होगा कि अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर में वह काफी समय तक मुकाबलों से बाहर रहे। हालांकि, उन्होंने इस समय को बर्बाद ना करते हुए उसका उपयोग ही किया।

ब्राजील के एक जिउ-जित्सू ब्लैक बेल्ट मोरेस ज्यादातर गंभीर मुकाबलों में सक्रिय रहे हैं। उन्होंने अपने मुकाबलों की तैयारी के लिए अमेरिका के फ्लोरिडा में अमेरिकन टॉप टीम के साथियों के साथ तैयारी की है।

ऐसा करके उन्होंने वास्तव में अपने खेल को बुलंदियों पर पहुंचाया है।

30 वर्षीय योद्धा बताते हैं, “मैं इतने लंबे समय के लिए पिंजरे से दूर कभी नहीं रहा हूं। मैं समय को लेकर डर नहीं रहा हूं। मैं भगवान पर विश्वास रखता हूं। मुझे भरोसा है कि वह जानता है कि मेरे लिए क्या जरूरी है।”

“मैं इस वर्ष व्यस्त रहा हूं। मैंने बीजेजे के कुछ टूर्नामेंट किए हैं, जबकि मैं ग्रैंड प्रिक्स के विजेता की प्रतीक्षा कर रहा हूं।”

“मैं यहां एटीटी में हूं और अपने वजन डिवीजन में बहुत से बेहतरीन लोगों के साथ प्रशिक्षण ले रहा हूं। मैं उनके शिविरों में उनकी मदद करता हूं। मैं जब लोगों को बेहतर बनाने में मदद करता हूं तो मैं खुद को भी सुधारता हूं। मैं जो था अब उससे बेहतर हुआ हूं।”

ONE Flyweight World Champion kicks Geje Eustaquio in their trilogy bout

अपनी आगमी भिड़ंत के अलावा मोरेस अगले साल द होम ऑफ मार्शल आर्ट्स में अधिक सक्रिय होने की योजना बना रहे हैं।

यह एक रोमांचक समय है क्योंकि दुनिया का सबसे बड़ा मार्शल आर्ट्स संगठन लगातार नए क्षेत्रों में विस्तार कर रहा है और खेल में सबसे बड़ा नाम अपने रोस्टर में जोड़ रहा है।

यह ब्राजीलियन योद्धा प्रमोशंस ग्रोथ में सबसे आगे रहना चाहता है। वह उन कुछ बाज़ारों में प्रतिस्पर्धा करना चाहेगा, जहां कंपनी प्रवेश करना शुरू कर रही है।

वह कहते हैं, “मुझे आशा है कि अगले साल मेरे और अधिक मुकाबले हो सकते हैं और मैं ज्यादा व्यस्त हो सकता हूं।”

“मुझे खुशी है कि ONE चैंपियनशिप यूएसए में आने वाली है और शायद एक कार्यक्रम ब्राजील में हो। मैं ONE के लिए काम करता हूं इसलिए मैं कहीं भी लड़ूंगा लेकिन मेरा जापान, ब्राजील और अमेरिका में लड़ने का सपना है।”

ONE Flyweight World Champion Adriano Moraes is raised upon his cornerman's shoulders

मोरेस भी अपने दो सुपरस्टार सहयोगियों से एक लीड लेना चाहते हैं। अगर वह ऐसा कर देते हैं तो अगले 12 महीनों में एक दुर्लभ उपलब्धि हासिल कर सकते हैं।

जॉनसन के लिए बड़ी फ्लाइवेट बाउट उनके एजेंडे में पहले है। फिर भी ब्राजीलियन योद्धा खुद को एक और विभाजन में चुनौती देना चाहता है। औंग ला “द बर्मीज पायथन” एन सांग और मार्टिन गुयेन “द सीटू-एशियन” की वह तरह दूसरी बेल्ट भी जीतना चाहते हैं।

वह कहते हैं, “2020 में आप एड्रियानो मोरेस की सबसे अच्छी फाइट देखने जा रहे हैं। इसके लिए मैं सही मायने में कड़ी मेहनत कर रहा हूं।”

“मुझे पता है कि मेरा अगला प्रतिद्वंद्वी कौन होने जा रहा है। मैं पहले से ही उसके खिलाफ एक अच्छा मैच खेलने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा हूं। शायद, मैं उसके बाद डबल वर्ल्ड चैंपियन बन सकता हूं। यही मेरा मुख्य लक्ष्य है।”