ONE Fight Night 11 के स्टार्स द्वारा किए गए सबसे शानदार नॉकआउट और सबमिशन फिनिश

Regian Eersel Sinsamut Klinmee ONE Friday Fights 9 96

ONE Fight Night 11: Eersel vs. Menshikov के कार्ड में वर्ल्ड-क्लास मार्शल आर्टिस्ट्स शामिल हैं, जो ONE Championship के कई यादगार लम्हों का हिस्सा बने हैं।

ये एथलीट्स अब शनिवार, 10 जून को लुम्पिनी बॉक्सिंग स्टेडियम में लाइव प्रसारित होने वाले इवेंट में वापसी कर शानदार नॉकआउट और सबमिशन फिनिश हासिल करने की कोशिश करेंगे।

यहां आप ONE Fight Night 11 के स्टार्स द्वारा किए गए 5 सबसे शानदार फिनिश को देख सकते हैं।

इरसल ने सिंसामट को खतरनाक बॉडी शॉट लगाकर फिनिश किया

2-स्पोर्ट ONE वर्ल्ड चैंपियन रेगिअन इरसल का ONE में रिकॉर्ड 9-0 का रहा है और पिछले 5 सालों में उन्होंने कई शानदार जीत दर्ज की हैं, लेकिन पिछले कुछ मैच उनके लिए सबसे ज्यादा यादगार रहे।

डच-सूरीनामी स्ट्राइकर को अब दिमित्री मेन्शिकोव के खिलाफ अपने ONE लाइटवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल को डिफेंड करना होगा। उन्होंने अक्टूबर 2022 में ONE Fight Night 3 के करीबी मुकाबले के बाद हुए रीमैच में सिंसामट क्लिनमी को हराकर अपने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया था।

उनका रीमैच ONE Fight Night 9 में हुआ और इस बार “द इम्मोर्टल” ने अपने विरोधी को फिनिश करने में सफलता पाई।

सिंसामट ने शुरुआत में उम्मीद अनुसार आक्रामक रुख अपनाया, लेकिन इरसल ने दिखाया कि उनकी कंडीशनिंग कितनी शानदार है। उन्होंने तीसरे राउंड में अपने विरोधी की बॉडी को निशाना बनाना शुरू किया और आगे चलकर उन्हें फिनिश किया।

“द इम्मोर्टल” ने चौथे राउंड में फ्रंट-फुट पर रहने की रणनीति अपनाते हुए अपने प्रतिद्वंदी के मिडसेक्शन को खूब क्षति पहुंचाई। इस बीच एक खतरनाक लेफ्ट हुक के प्रभाव से “एक्वामैन” हार मान बैठे।

सिंसामट रेफरी के काउंट का जवाब नहीं दे पाए, जिससे इरसल ने नॉकआउट से जीत दर्ज करते हुए खुद को दुनिया के बेस्ट लाइटवेट स्ट्राइकर के रूप में स्थापित किया।

रुओटोलो ने हील हुक लगाकर वर्ल्ड चैंपियनशिप जीती

इतिहास में सबसे युवा ADCC वर्ल्ड चैंपियन बनने के बाद केड रुओटोलो ने ONE लाइटवेट सबमिशन ग्रैपलिंग वर्ल्ड टाइटल के रूप में एक और बेल्ट अपने नाम की।

अक्टूबर 2022 में हुए वेकेंट (रिक्त) टाइटल के लिए उनका सामना ऊअली कुरझेव से हुआ, जहां उन्होंने रूसी एथलीट को परास्त करते हुए दुनिया भर में अपनी धाक जमाई।

काफी लोगों का मानना था कि 4 बार के सैम्बो वर्ल्ड चैंपियन Atos टीम के स्टार को कड़ी टक्कर देंगे लेकिन मैच असल में इससे उलट रहा।

रुओटोलो ने शुरुआत में बैक कंट्रोल हासिल किया और रीयर-नेकेड चोक लगाने के मौके तलाशे। कुरझेव के डिफेंस और स्टैमिना ने उन्हें इस मैच में बनाए रखा था।

उनके बीच कुछ समय तक पैरों पर खड़े रहकर फाइट हुई, लेकिन हाथापाई में अमेरिकी स्टार ने बढ़त हासिल की। जब कुरझेव ने लेग अटैक करने की कोशिश की तो वो जैसे खुद खतरा मोल ले रहे थे।

रुओटोलो ने जवाबी हमला करते हुए इनसाइड हील हुक लगा दिया, जिसके प्रभाव से उनके प्रतिद्वंदी ने 4 मिनट 26 सेकंड के समय पर टैप आउट कर दिया और इसी के साथ रुओटोलो ने सबसे पहला ONE लाइटवेट सबमिशन ग्रैपलिंग वर्ल्ड चैंपियन बनने की उपलब्धि हासिल की।

20 वर्षीय एथलीट ने मैथ्यूस गेब्रियल के खिलाफ अपने टाइटल को डिफेंड किया और अब उनके सामने टॉमी लेंगाकर की चुनौती होगी।

सुपरबोन ने महान किकबॉक्सर पेट्रोसियन को नॉकआउट किया

सुपरबोन सिंघा माविन ONE Championship में आने से पहले ही कई नामी फाइटर्स को हरा चुके थे, लेकिन अक्टूबर 2021 में हुए ONE: FIRST STRIKE में उन्होंने अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल की।

थाई सुपरस्टार का सामना सबसे पहले ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियनशिप मैच में जियोर्जियो पेट्रोसियन से हुआ। पहले राउंड में पेट्रोसियन ने अपने ट्रेडमार्क स्ट्रेट पंचों की मदद से बढ़त बनाई।

दूसरी ओर, सुपरबोन निरंतर किक्स और नी स्ट्राइक्स लगाने के मौके तलाश रहे थे और साथ ही अपने विरोधी के गेम को भी परखते रहे।

दूसरे राउंड में उन्होंने दोबारा किक्स की राह चुनी, वहीं पेट्रोसियन ने बॉक्सिंग पंचों से काउंटर अटैक किया। इस बार Singha Mawynn टीम के प्रतिनिधि की टाइमिंग सटीक रही।

“द डॉक्टर” ने जैब-क्रॉस से राइट बॉडी किक को काउंटर किया, लेकिन सुपरबोन ने तुरंत हाई किक का इस्तेमाल किया, जो पेट्रोसियन की ठोड़ी पर जाकर लैंड हुई और इसके प्रभाव से वो हार मान बैठे। इसी के साथ सुपरबोन नए वर्ल्ड चैंपियन बने।

पिछले मैच में चिंगिज़ अलाज़ोव के खिलाफ चैंपियनशिप हारने के बाद सुपरबोन जीत की लय वापस पाने को प्रतिबद्ध हैं, लेकिन ऐसा करने के लिए उन्हें #5 रैंक के कंटेंडर टायफुन ओज़्कान की चुनौती से पार पाना होगा।

होल्ज़कन ने शानदार अंदाज में किया डेब्यू

नीकी होल्ज़कन उन एथलीट्स में से एक हैं, जो ONE में आने से पहले ही एक महान फाइटर होने का दर्जा प्राप्त कर चुके थे। इस प्रोमोशन में आने के बाद उन्होंने कई बड़ी जीत दर्ज की हैं।

अब डच लैजेंड के सामने जर्मन एथलीट आरियन सादिकोविच की चुनौती होगी। उन्होंने नवंबर 2018 में हुए ONE: WARRIOR’S DREAM में कोस्मो अलेक्सांद्रे के खिलाफ जीत दर्ज कर दिखाया कि वो सबसे खतरनाक हिटिंग एबिलिटी वाले एथलीट्स को हरा सकते हैं।

फैंस को “द नेचुरल” के डेब्यू का बेसब्री से इंतज़ार था और उन्होंने भी लोगों को निराश नहीं किया। उन्होंने पहले राउंड में बेहद आक्रामक तरीके से फाइट की।

पहले अलेक्सांद्रे एक लेफ्ट हाई किक के खिलाफ नॉकडाउन हुए। वहीं लेफ्ट हुक लगने के कारण वो दोबारा नीचे जा गिरे, मगर वो अब भी हार मानने को तैयार नहीं थे।

दूसरे राउंड में होल्ज़कन ने अपने विरोधी को कई स्ट्राइक्स लगाते हुए फिनिश किया, जिन्हें देख ऐसा लग रहा था जैसे ये कोई वीडियो गेम चल रहा है।

“द नेचुरल” ने अलेक्सांद्रे को स्पिनिंग किक का झांसा देकर पीछे जाने को मजबूर किया। तभी उन्होंने पुश किक और उसके तुरंत बाद दमदार राइट हैंड लगाकर फाइट को समाप्त किया। होल्ज़कन ने अंत में राइट अपरकट लगाकर 2 मिनट 59 सेकंड के समय पर अपनी जीत सुनिश्चित की।

बेलिंगोन को हराकर क्वोन ने अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की

क्वोन वोन इल उन एथलीट्स में से एक हैं, जिन्हें शुरुआत से खतरनाक तरीके से फाइट करने के लिए जाना जाता है।

दक्षिण कोरियाई नॉकआउट आर्टिस्ट की 12 में से 10 जीत नॉकआउट से आई हैं। इस बीच दिसंबर 2021 में हुए ONE: WINTER WARRIORS II में केविन बेलिंगोन के खिलाफ जीत उनके लिए सबसे खास रही।

“प्रीटी बॉय” खुद को डिविजन के बेस्ट एथलीट्स के खिलाफ परखना चाहते थे इसलिए पूर्व ONE बेंटमवेट वर्ल्ड चैंपियन के खिलाफ मैच उनके सामने बहुत बड़े अवसर के रूप में आया।

काफी लोगों के मन में सवाल था कि वो एक दमदार स्ट्राइकर के खिलाफ कैसा प्रदर्शन करेंगे, लेकिन क्वोन ने अटैक करने के एक भी मौके को मिस नहीं किया। उन्होंने फिलीपीनो एथलीट पर इतना अटैक किया कि बेलिंगोन को पहले राउंड में मजबूरन टेकडाउन की राह चुननी पड़ी।

दूसरे राउंड में “प्रीटी बॉय” को मौका मिला। बेलिंगोन ने राइट हैंड लगाने की कोशिश की, लेकिन क्वोन आसानी से उसके प्रभाव को झेल गए। उन्होंने नीचे झुकते हुए बॉडी पर खतरनाक लेफ्ट हुक लगाया। “द सायलेन्सर” दर्द से कराहते हुए नीचे जा गिरे और दक्षिण कोरियाई एथलीट ने केवल 52 सेकंड में अपनी जीत सुनिश्चित की।

अब बेंटमवेट रैंकिंग्स में चौथे स्थान पर मौजूद क्वोन का सामना लुम्पिनी बॉक्सिंग स्टेडियम में #5 रैंक के कंटेंडर आर्टेम बेलाख से होगा।

किकबॉक्सिंग में और

Jonathan Di Bella Danial Williams ONE Fight Night 15 73 scaled
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 142
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 59
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 137
Tawanchai PK Saenchai Jo Nattawut ONE 167 78
Mikey Musumeci Gabriel Sousa ONE 167 11
Rodtang Jitmuangnon Edgar Tabares ONE Fight Night 10 36
Johan Ghazali Edgar Tabares ONE Fight Night 17 21 scaled
Superlek Kiatmoo9 Rodtang Jitmuangnon ONE Friday Fights 34 80
Kompet Fairtex Kongchai Chanaidonmueang ONE Friday Fights 58 10
Tawanchai PK Saenchai Superbon Singha Mawynn ONE Friday Fights 46 48 scaled
MasaakiNoiri Champ 1200X800