मॉय थाई

कैसे टाईकी नाइटो और उनके भाई एक-दूसरे की सफलता की कुंजी बने

भले ही टाईकी “साइलेंट स्निपर” नाइटो को अपनी चाहत वाले मार्शल आर्ट्स को पाने के लिए कठिन रास्ते से गुजरना पड़ा हो लेकिन इसमें मदद और समर्थन के लिए उन्हें कभी दूसरों का मुंह नहीं ताकना पड़ा।

The Shoot Boxing चैंपियन, जो इस शुक्रवार, 7 फरवरी को ONE: WARRIOR’S CODE में “द बेबी फेस किलर” सवास माइकल पेटयिंडी एकेडमी के खिलाफ मॉय थाई बाउट से सर्कल में वापसी करेंगे, तीन भाइयों में से एक हैं जो एक-दूसरे को जापान के आईची में एक साथ ट्रेनिंग के दौरान सफलता पाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

तीन भाइयों में 24 वर्षीय टाईकी बीच के हैं, जो 21 साल के छोटे भाई कीटो और 25 साल के रयोटा सबसे बड़े हैं।

Japanese Muay Thai specialist Taiki Naito kicks his way to victory in December 2019

टाईकी और रयोटा ने पहली बार एक साथ कराटे तब शुरू किया था, जब उनकी मां ने उन्हें इस दिशा में जाने के लिए आगे बढ़ाया था। उनकी मां चाहती थीं कि वे दोनों मार्शल आर्ट्स की राह पर चलकर अनुशासन और सम्मान सीखें। बाद में कीटो जब बड़े होने लगे तो उन्होंने भी डोजो में अपने भाइयों को जॉइन कर लिया।

एक साथ बड़े होते हुए तीनों भाई झगड़ालू किस्म के हो सकते थे लेकिन कॉम्बैट स्पोर्ट्स ने उनमें एकजुटता बनाए रखी। एक-दूसरे से अलग होने के बावजूद उनमें काफी नजदीकियां थीं।

टाईकी कहते हैं, “हम हमेशा ये तर्क देते हैं कि एक-दूसरे से काफी अलग हैं। फिर भी हम हमेशा एकसाथ और करीब रहते हैं। हम तीनों ही मार्शल आर्ट्स से जुड़े हैं इसलिए हमारा ज्यादातर वक्त एक साथ ही बीतता है। इसी वजह से हम साथ-साथ हैं।”

हालांकि, तीनों भाई एक-दूसरे से बहुत ज्यादा प्रोत्साहित थे। टाईकी कहते हैं कि वो कराटे से सबसे ज्यादा प्यार करते थे। वो जूनियर हाई स्कूल में किकबॉक्सिंग करने के लिए सबसे पहले आगे बढ़े थे। फिर तुरंत उनका अनुसरण बड़े भाई रयोटा ने किया। आखिर में कीटो, केंडो सीखने के लिए तीन साल के लिए कराटे से दूर चले गए। वो जब हाई स्कूल में गए तो फिर अपने भाइयों के साथ जुड़ गए।

“साइलेंट स्निपर” कहते हैं, “मुझे लगता है कि उन्होंने देखा कि मैंने किकबॉक्सिंग का कितना आनंद लिया। इसी वजह से उन्होंने ये करने का फैसला किया।”



टाईकी एक बेहतरीन पर्सनैलिटी के रूप में पहचाने जाते हैं। वो कहते हैं कि मेरे भाई मुझे एक ऐसे व्यक्ति के रूप में देखते हैं, जो एक साथ होने पर ट्रेनिंग के लिए उन्हें प्रोत्साहित करता है। हालांकि, उनमें से हरेक का अलग व्यक्तित्व और किकबॉक्सिंग की शैली है, जो उन्हें एक-दूसरे को आगे बढ़ाने में मदद करती है।

ONE एथलीट कहते हैं, “कीटो चीजों को जल्दी सीखते हैं। उनके पास अच्छी एथलेटिक्स क्षमता है और वो हमेशा सकारात्मक रहते हैं।”

“उनके पास मार्शल आर्ट्स की अच्छी समझ है। इस वजह से वो कुछ भी कर सकते हैं। वो चीजों को अच्छी तरह देखते हैं और समझते हैं। वो एक काउंटर फाइटर हैं।

“रयोटा दयालु और मेहनती हैं। वो लगातार मेहनत करते रहते हैं। वो कभी हार नहीं मानते हैं। उनका स्टाइल फैंसी नहीं है, वो बहुत सीधे और सपाट हैं। वो ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करने की कोशिश करते हैं, ताकि उनके जीत के रास्ते में कोई रुकावट न आए। वो एक आक्रामक एथलीट हैं, जो हमेशा आगे बढ़ने की कोशिश करते रहते हैं। ”

युवावस्था में सभी तरह की ट्रेनिंग के बाद नाइटो ब्रदर्स को बाउट करने के लिए आगे बढ़ाया गया। टाईकी ने 2011 में पहली बार Shoot Boxing में प्रोफेशनल डेब्यू किया था। रयोटा ने भी उसी बैनर में 2014 में पदार्पण किया और 2017 में Deep Kick में कीटो पहली बार अपनी शुरुआत करने के लिए बाहर निकले थे।

Taiki Naito defeats Alexi Serepisos in his ONE Super Series debut

टाईकी ने जब पिछले साल Shoot Boxing वर्ल्ड चैंपियन और ONE Super Series बेंटमवेट के सर्वश्रेष्ठ एथलीट हिरोकी “काईबुटसुकुन” सुजुकी के साथ प्रशिक्षण लेना शुरू किया, तो उसके बाद उनके भाइयों ने जनवरी में Bell Wood Fight Team टीम जॉइन कर ली।

अब तीनों भाई एक ही छत के नीचे ट्रेनिंग लेते हैं। वे एक-दूसरे को सबसे कठिन ट्रेनिंग सेशन के माध्यम से आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते रहते हैं और ये सुनिश्चित करते हैं कि सभी अपनी क्षमताओं का पूरा इस्तेमाल करें। आमतौर पर टाईकी उन्हें लीड करते हैं इसलिए वे ट्रेनिंग के दौरान एक साथ होने पर वहां अतिरिक्त समय देते हैं।

जब किसी के मैच तय होते हैं तो वे अपने कौशल, शक्ति और कंडिशनिंग को नए स्तरों पर ले जाने के लिए चीजों को फिर से बढ़ाते हैं।

टाईकी ने कहा, “हम सभी एक-दूसरे के स्तर को ऊपर उठाना चाहते हैं और जीतना चाहते हैं। हम सभी एक साथ ट्रेनिंग करते हैं तो बेहतर माहौल बनता है।”

“हम आपस में तकनीकें साझा करते हैं। कठिन प्रशिक्षण के दौरान एक-दूसरे को प्रोत्साहित करते हैं और आगे बढ़ते हैं। हम आपसी प्रयास से एक-दूसरे के स्टैमिना को बढ़ाने की कोशिश करते रहते हैं।

“अगर हम में से ट्रेनिंग के दौरान कोई पीछे रह जाता है तो रयोटा या मैं उस बात को स्पष्ट कर देते हैं। वैसे ज्यादातर मैं ही बोलता हूं। इसकी वजह है क्योंकि मैं ज्यादा ऐक्टिव रहता हूं। भले ही हम भाई हैं लेकिन मैं सिर्फ खुद को ही व्यवस्थित नहीं करना चाहता हूं। बिल्कुल ऐसी ही सोच रयोटा की भी है। मुझे लगता है कि इस तरह मैं उन्हें उकसाने की कोशिश करता रहता हूं, ताकि वे और बेहतर करें।”

Taiki Naito gets his hand raised against Rui Botelho

ONE के प्रशंसक देखेंगे जब “साइलेंट स्निपर” विदेश में कोई बाउट करते हैं तो कीटो उनके कोने में खड़े होते हैं, और जब वो अपने देश में होंगे तो तीनों भाई एकसाथ दिखेंगे।

फैमिली सपोर्ट के बाद टाईकी जब दुनिया के सर्वश्रेष्ठ एथलीटों के खिलाफ बाउट करने जाते हैं तो ये समर्थन ग्लोबल स्टेज पर मानसिक रूप से उन्हें बढ़त दिलाने में महत्वपूर्ण साबित होता है।

वो कहते हैं, “बाउट वाले दिन हम सब साथ में बिल्कुल सामान्य रहते हैं। हम साथ में होते हैं तो खुद को शांत रखने की कोशिश करते हैं और आराम करते हैं, ताकि मैच के लिए तरोताजा रह सकें।”

“हम एक-दूसरे को अच्छी तरह समझते हैं। हम जैसे हैं, वैसे ही रहते हैं। हम एक-दूसरे के व्यक्तित्व को जानते हैं और मुझे लगता है कि ये बड़ी बात है।”

ये भी पढ़ें: इत्सुकी हिराटा मुश्किल वक्त से उबरने की वजह से ही बनीं “स्ट्रॉन्ग हार्ट फाइटर”

जकार्ता | 7 फरवरी | ONE: WARRIOR’S CODE | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं