मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

Flashback Friday: डेब्यू मैच में नॉकआउट जीत ने अमीर खान की शंकाओं को दूर किया

ONE Championship रोस्टर में अमीर खान प्रमुख नॉकआउट आर्टिस्ट्स में से एक हैं। साथ ही प्रोमोशन के सबसे चमकते सितारे भी हैं लेकिन उन्हें अपना सफर एकदम नीचे से शुरू करना पड़ा था।

छह साल पहले “द लॉयन सिटी” के एथलीट ने मशहूर Evolve Fight Team में एक स्पॉट अर्जित किया था और दुनिया के  सबसे बड़े मार्शल आर्ट्स संगठन के साथ एक डील साइन की थी।

12 सितंबर 2014 को हुए ONE: RISE OF THE KINGDOM में उनकी पहली बाउट जियान काई ची के खिलाफ थी। ये वो अनुभव है, जो खान की यादों में अब भी ताजा है।

उन्होंने बताया, “ये मेरी पहली और सबसे यादगार (ONE में यादगार) बाउट है क्योंकि जब आप कोई चीज पहली बार करते हैं तो वो हमेशा के लिए यादगार बन जाती है।”

“मैंने कंबोडिया में बाउट की थी। ONE Championship में वो मेरी पहली बाउट थी। इससे पहले मैं कभी कंबोडिया नहीं गया था।”

19 साल की उम्र में युवा स्ट्राइकर अपने कोच हेथ सिम्स और पिता के साथ सफर कर रहे थे। उन्हें पता नहीं था कि क्या अपेक्षा करनी है।

उनके पास मॉय थाई का एक्सपीरियंस था। साथ ही कुछ दूसरे एमेच्योर मुकाबले उनके नाम थे। प्रोफेशनल मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में 1-0 स्कोर के बावजूद वो एकदम नए एथलीट थे।



खान के लिए ONE एक बड़ा कदम था और जैसे ही वो धरातल पर आना शुरू हुआ, उन्हें उसका अंतर समझ में आने लगा।

उन्होंने खुलासा किया, “वहां मेरा बहुत सेवा सत्कार के साथ स्वागत किया गया। मैं उनसे काफी प्रभावित था क्योंकि उस समय मैं कुछ भी नहीं था।”

“मुझे समझ नहीं आया कि इतना अच्छा सत्कार क्यों हुआ? मैं तो एक नया फाइटर था। मुझे तो सुपरस्टार की तरह लगा। मैं इसकी सराहना करता हूं। ये अनुभव वाकई में बहुत अच्छा था।”

हालांकि, ONE के ऑपरेशन का साइज और स्केल भी सिंगापुर मॉय थाई चैंपियन की घबराहट का कारण था।

उन्होंने बताया, “वो पूरी प्रक्रिया बहुत मजेदार थी लेकिन मन में घबराहट पैदा करने वाली थी क्योंकि एक बड़े संगठन में वो मेरा पहला टाइम था। सबकी नजरें मुझ पर थीं।”

“मुझे बहुत दबाव महसूस हो रहा था। मैं अगर कुछ सोच पा रहा था तो बाउट खत्म करके वहां से बाहर निकलने का और जीत का जश्न मनाने का था, जिसका मुझसे इंतजार नहीं हो पा रहा था।

“बाउट वाले दिन मेरा पूरा परिवार, मेरी मां और कजिन होटल में मुझसे मिलने आए थे। मैं डर से थरथरा रहा था। पता नहीं मुझे क्या हो गया था। जैसे कुछ मेरे शरीर में घुस गया था।”

View this post on Instagram

Fight night!!

A post shared by Amir Khan Ansari (@amirkhanmma) on

खान कोह पिच थिएटर के लिए निकले और किसी संदेह की बजाय वो पूरे कॉन्फिडेंस के साथ तब तक रहे, जब तक मुकाबला शुरू नहीं हो गया।

उनमें जो भी सुस्ती उस समय थी, वो उड़न छू हो गई। उन्हें पता चल गया कि यही मौका है खुद को साबित करने का कि वो कहां के रहने वाले हैं।

उन्होंने इस बात को माना, “मैं एक प्रोफेशनल फाइटर था लेकिन पहली बार बड़े मंच पर बाउट के चलते मुझे अपने ऊपर शक हो रहा था क्योंकि मुझे पता नहीं था कि मेरे में ऐसा टैलेंट है कि मैं आगे तक जा पाऊंगा या नहीं।”

“जब मैंने ONE Championship जॉइन की, उससे कुछ ही साल पहले मैंने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स शुरू की थी। मैं मॉय थाई तो काफी लंबे समय से कर रहा था लेकिन मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स में जिउ-जित्सु और रेसलिंग भी जोड़ी थी। मैं इसे बस पिछले तीन या चार साल से कर रहा था।

“मुझे विश्वास नहीं था कि मैं विश्व में सबसे अच्छे एथलीट से मुकाबला कर पाऊंगा। इस वजह से जब मैं केज में गया तो मेरे दिमाग में चल रहा था कि ओके, मुझे अपना सबसे बेस्ट शॉट लगाना है और पूरी ताकत झोंक देनी है।”

जब वो अपनी फाइट के बीच में पहुंचे तो खान ने ची को एक जैब-क्रॉस लगाया। उसके बाद दाएं घुटने से उनके मिड सेक्शन में मारा। इसके बाद मुक्कों की बरसात कर दी। इन हमलों से पस्त होकर उनका विरोधी हारकर जमीन पर गिर गया।

इस बेहतरीन जीत ने उनकी सारी शंकाएं मिटा दीं। उन्होंने आठ बाउट जीत चुके एथलीट को स्टाइल से हरा दिया और The Home Of Martial Arts में अपने बेहतरीन करियर की नींव रखी।

खान ने बताया, “मैंने अपने विरोधी को दो मिनट में ही हरा दिया और ये सबसे अच्छा एहसास था।”

“मैं बहुत खुश था। मुझे ऐसा महसूस हुआ कि मैं राजा बन गया हूं। उन भावों को शब्दों में नहीं बता सकता और न ही पैसे से उस खुशी को खरीद सकता हूं।

“ये इस बारे में नहीं है कि मैंने उस रात में क्या कमाया। किसी बड़ी संस्था और तमाम लोगों के बीच फाइट एंजॉय करने का वो मेरा पहला मौका था। ऐसे में ONE Championship का मेडल मिलना मेरे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि थी।”

अब खान ग्लोबल स्टेज पर 18 बाउट्स में मुकाबला कर चुके हैं, जो कि संयुक्त रूप से दूसरी सबसे ज्यादा फाइट्स हैं। ऐसे फैंस के बीच में उनका प्रदर्शन काफी नेचुरल रहता है लेकिन वो अपनी पहली फाइट नहीं भूलते कि कैसे उस मैच ने उनकी सफलता की कहानी लिख दी।

इन सबके ऊपर उस एरीना में उनके माता-पिता भी लाइव मैच देख रहे थे और उनको पता था कि वो इस एथलीट पर गर्व कर रहे थे।

उन्होंने बताया, “बेटा होने के नाते आप हमेशा मां को अपने ऊपर गर्व करते देखना चाहते हैं।”

“मैं उनकी ओर देखकर बता सकता था कि उन्हें मुझ पर बहुत गर्व हो रहा था। उन्हें मुझे बताने की जरूरत नहीं थी। ये मैं साफ तौर पर देख सकता था।”

ये भी पढ़ें: अमीर खान ने 3 टॉप लाइटवेट स्टार्स की चुनौतियों को स्वीकारा