विशेष कहानियाँ

ONE: FIRE AND FURY के 3 मुकाबले जो आपको बिल्कुल मिस नहीं करने चाहिए

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि ONE: FIRE AND FURY के मेन इवेंट में वर्ल्ड टाइटल दांव पर लगा हुआ है और को-मेन इवेंट में भी एक धमाकेदार लाइटवेट मुकाबला होने वाला है। इनके अलावा भी आगामी इवेंट में कई बेहतरीन मैच शामिल हैं जो फैंस का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं।

हालांकि, ONE Championship के प्रत्येक शो की तरह ये फिलीपींस की राजधानी मनीला में साल 2020 का पहला इवेंट होने वाला है जो ऊपर से लेकर नीचे तक शानदार मुकाबलों से भरा हुआ है।

इस आर्टिकल में हम शुक्रवार, 31 जनवरी को मॉल ऑफ एशिया एरीना में होने वाले शो के ऐसे 3 मुकाबलों से अवगत कराने वाले हैं जो आपको बिल्कुल भी मिस नहीं करने चाहिए।

#1 डैनी किंगड vs शे वेई

डैनी “द किंग” किंगड की सबसे खास बात ये है कि वो मौजूदा समय में ONE के सबसे दिलचस्प एथलीट्स में से एक हैं।

पिछले 2 साल में शायद ही उनका ऐसा कोई मुकाबला रहा है जिसमें उनका शानदार एक्शन ना देखने को मिला हो। कभी-कभी स्क्रैम्ब्लिंग तो कभी वो खड़े रहकर अपनी स्ट्राइक्स से अपने प्रतिद्वंदी को जल्द से जल्द फिनिश करने का प्रयास करते हैं।

फिलीपींस के स्टार की एक कमी ये है कि वो कभी-कभी अटैक करने के लिए डिफेंस नाम के शब्द को भूल ही जाते हैं, लेकिन ये बात फैंस के नजरिए से अच्छी है क्योंकि उनके मैचों में मोमेंटम इधर से उधर जाने में कुछ ही सेकेंड लगते हैं। इसी कारण उनके प्रतिद्वंदी को भी मैच में वापसी करने का मौका मिल जाता है।

“द हंटर” शे वेई उनके लिए परफेक्ट प्रतिद्वंदी नजर आ रहे हैं क्योंकि उन्हें अपनी स्ट्राइकिंग और ग्राउंड गेम दिखाने के लिए किसी मौके की आवश्यकता नहीं है।

चीनी एथलीट ने इस रणनीति के सहारे अपने पिछले 5 प्रतिद्वंदियों को TKO से हराया है और उन्हें भरोसा है कि वो इस संख्या को 5 से 6 करने में सफल रहेंगे। अब सवाल ये है कि क्या वो उस एथलीट की चिन (ठोड़ी) को क्षति पहुंचा सकते हैं जो अपने करियर में कभी नॉकआउट नहीं हुए हैं और उन्हें जबरदस्त अटैक के साथ वापसी करने की जैसे आदत है इसलिए ये एक देखने योग्य मुकाबला साबित होने वाला है।

#2 शोको साटो vs क्वोन वोन इल

2 शानदार स्ट्राइकर्स “प्रीटी बॉय” क्वोन वोन इल और शोको साटो के बीच बेंटमवेट डिविजन का ये मुकाबला होगा।

दक्षिण कोरिया के स्टार के राइट हैंड में गज़ब की ताकत है और अपने प्रतिद्वंदी पर अटैक करने में थोड़ा भी समय नहीं लगाते। उन्होंने एंथनी “द आर्केंजल” एंगलेन को ग्लोबल स्टेज पर 67 सेकेंड में नॉकआउट करते हुए अपनी स्किल्स को दर्शाया था।

24 वर्षीय स्टार ने ये भी दिखाया है कि वो खुद से कहीं अनुभवी एथलीट्स को हराने में सक्षम हैं क्योंकि उन्होंने एरिक “द नेचुरल” केली को मात्र 19 सेकेंड में और “द टर्मिनेटर” सुनौटो को 2 मिनट के भीतर हराते हुए ये दर्शा भी दिया था कि उनका अटैक कितना घातक साबित हो सकता है।

मनीला में भी वो इसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे हैं जहाँ उनके सामने अनुभवी Shooto बेंटमवेट वर्ल्ड चैंपियन साटो हैं जो फिलहाल जबरदस्त फॉर्म में हैं। उनका सर्कल में रिकॉर्ड 34-16-3-1 का है जिनमें 18 नॉकआउट फिनिश शामिल हैं लेकिन इतने अनुभव के बावजूद वो कभी-कभी खुद को क्षति पहुंचा लेते हैं।

उन्हें अपनी स्ट्राइक्स के सहारे पिछले 5 मुकाबलों में स्टॉपेज से जीत मिली है जिनमें मार्क “टायसन” फेयरटेक्स एबेलार्डो और राफेल सिल्वा के खिलाफ स्टॉपेज से आई जीत भी हैं, जो उनकी फिनिशिंग की काबिलियत को दर्शाती है।

क्वोन तेजी से अटैक करने की कोशिश करेंगे लेकिन साटो को इससे कोई परेशानी नहीं है। पिछले 8 सालों में उन्होंने स्टॉपेज से कोई मैच हारा नहीं है इसलिए इस धमाकेदार मुकाबले के लिए आप तैयार रहें।

#3 रोडलैक पीके. साइन्चेमॉयथाईजिम vs क्रिस शॉ

जब भी रोडलैक पीके. साइन्चेमॉयथाईजिम रिंग में उतरते हैं तो आप समझ लें कि कुछ यादगार जरूर होने वाला है।

चाहे वो उस मौके का इंतज़ार कर रहे हों जब उन्हें परफेक्ट टाइमिंग वाली नॉकआउट स्ट्राइक करने का चांस मिले जैसा कि उन्होंने एंड्रू मिलर के खिलाफ किया था या फिर लियाम “हिटमैन” हैरिसन के खिलाफ मैच जैसे कड़े टक्कर वाले मुकाबले की रणनीति अपनाएं। किसी भी समय कुछ भी धमाकेदार हो सकता है जो रोडलैक के प्रतिद्वंदियों के लिए किसी बुरी खबर से कम नहीं है।

हालांकि, ONE Super Series में अपना डेब्यू कर रहे क्रिस शॉ के पास भी काबिलियत है जिससे वो रोडलैक के सामने मुसीबत खड़ी कर सकते हैं। वो बहुत तेजी से मूव करते हैं और यही मूवमेंट उन्हें खतरे से बाहर रख सकती है और उनकी बॉक्सिंग स्किल्स उन्हें अटैक करने में मदद जरूर करने वाली हैं।

अगर रोडलैक पास रहकर मैच लड़ते हैं तो स्कॉटिश स्टार भी ऑल-आउट बैटल से पीछे हटने वालों में से नहीं हैं क्योंकि क्रिस को दुनिया के सबसे बेहतरीन स्ट्राइकर्स के साथ मुकाबला करने में कोई परेशानी नहीं है।

कई टॉप लेवल के एथलीट्स जिनमें एलीट स्तर के थाई एथलीट भी शामिल रहे, सभी ने क्रिस को फिनिश करने की कोशिश की लेकिन उन्हें हर बार संघर्ष ही करना पड़ा है। यदि मॉल ऑफ एशिया एरीना में भी ऐसा ही होता है तो जरूर इन 2 जबरदस्त वॉरियर्स के बीच एक धमाकेदार मुकाबला देखने को मिलेगा।

ये भी पढ़ें: ONE: FIRE AND FURY के स्टार्स के टॉप-5 प्रदर्शन

मनीला | 31 जनवरी | ONE: FIRE & FURY | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं