पूजा
तोमर

"सैक्लोन"

ऊंचाई
155 सेमी
भार सीमा
56.7 के.जी.
आयु
25
टीम
क्रॉसफिट फिटनेस अकादमी
से
भारत
ऊंचाई
155 सेमी
भार सीमा
56.7 के.जी.
आयु
25
टीम
क्रॉसफिट फिटनेस अकादमी
से
भारत

के बारे में

कई बार की इंडियन नेशनल वुशू चैंपियन पूजा तोमर उस समय मानसिक रूप से अस्थिर हो गई थी जब उनके पिता का निधन हो गया था। उस समय वह महज 7 साल की थी। उसके पास स्कूल जाने के लिए भी बहुत कम समय होता था, क्योंकि वह काम में परिवार का हाथ बंटाने के लिए अपने मां व बहनों की मदद करती थी।

बिलों का भुगतान करने में मदद करने के लिए तोमर ने वुशू में प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया। उन्हें उम्मीद थी कि एक दिन वह मार्शल आर्ट के माध्यम से जीविकोपार्जन करने में सक्षम हो जाएगी। वह अविश्वसनीय रूप से प्रतिभाशाली साबित हुई और चार साल तक भारत के राष्ट्रीय वुशु चैंपियन का खिताब जीता। यही नहीं उन्होंने वुशु विश्व चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया। उसने वर्ष 2013 में रिंग में प्रतिस्पर्धा शुरू करने का फैसला किया। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत में बिजली की गति से चले दो मुकाबलों में नॉकआउट जीत हासिल की।

तोमर अन्य राष्ट्रीय एथलीटों के साथ भोपाल में एक छात्रावास में रहती हैं और उन्होंने खुद को पूरी तरह से अपने शिल्प के लिए समर्पित कर दिया है। वह कहती हैं कि भारत में एक महिला एथलीट के रूप में सम्मान अर्जित करना कठिन है, लेकिन उनकी मां ने उन्हें कभी हार न मानने के लिए प्रेरित किया और वैश्विक मंच पर ONE Championship द्वारा उन्हें दिए गए बड़े अवसर के साथ खुद को साबित किया।