समाचार

डे ह्वान किम के खिलाफ नाकआउट की उम्मीद करते हैं युया वकामात्सु

सितम्बर 13, 2019

अपनी आखिरी बाउट में एक बड़ी जीत हासिल करने के बाद यूया “लिटिल पिरान्हा” वकामात्सु अपने आप को ऊंचा साबित करने के लिए एक और नॉक आउट जीत की उम्मीद कर रहे हैं।

जापानी सुपरस्टार का सामना 13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में रयोगोकू कोकूगिकिन स्टेडियम में ONE: सेंचुरी पार्ट I पर “ओटोगी” डे ह्वान किम से होगा जो इतिहास बनाने वाले फ्लाईवेट स्ट्राइकर की बड़ी फाइट होगी।

पिछले महीने 24 वर्षीय पूर्व ONE फ्लाईवेट वर्ल्ड चैंपियन गीजे “ग्रेविटी” यूस्ताक्वियो ने पहले दौर में The Home Of Martial Arts में अपनी पहली जीत दर्ज की और साबित किया कि उनके पास किसी अन्य एथलीट की तरह ही भरपूर कौशल है।

वकामात्सु ने अपने प्रतिद्वंद्वी के हमलों का पूरी तरह से सामना दिया है और फिलीपींस के मनीला में अपने घरेलू मैदान पर “ग्रेविटी” से टकराने के लिए एक सही क्रॉस के साथ अच्छा स्थान हासिल किया है।

उन्होंने कहा कि सभी लड़ते समय में अवसरों के लिए नीचे की ओर आते हैं। यदि वह सतर्क नहीं रहते तो यूस्ताक्वियो उन्हें अपने पंचो और किक से बेहाल कर देते। उन्होंने प्रशिक्षण के दौरान उन खतरनाक स्थितियों में बचने की तैयारी की थी।

उनकी टाइमिंग अच्छी थी और विरोधी के किक को झेलने के बाद उन पर हमले का रास्ता मिल गया था। इसके चलते उन्होंने शानदार तरीके से फिनिश कर दिया। जब आप अपने गृहनगर प्रशंसकों के सामने रिंग में लौटते हैं तो आप “लिटिल पिरान्हा के” हथियारों से भी तेज होने की उम्मीद कर सकते हैं।

ट्राइब टोक्यो एमएमए में रयो चोनन के तहत वह अपने साथियों के साथ घंटों तक अभ्यास करने के अलावा उन्होंने विशेषज्ञ प्रशिक्षकों के साथ अपने कौशल सेट के हर पहलू को ठीक करने के लिए भी अभ्यास किया है।

उन्होंने बताया कि वह सप्ताह में एक बार विश्व चैंपियन मिस्टर [हिदेयुकी] के साथ ट्रेनिंग करने के लिए कादोबी बॉक्सिंग जिम जाते हैं। वह लोटस सेतागया जिम में कोही यासुमी से निजी तौर पर संघर्ष करने का प्रशिक्षण लेते हैं।

उन्हें वन के सबसे धनी दिग्गजों में से एक पर काबू पाने की पूरी कोशिश करनी होगी, जो ऊपर के भार वर्ग में लंबे समय तक सफलता के बाद पहली बार फ्लाईवेट डिवीजन में प्रतिस्पर्धा करेंगे।

बैंटमवेट में किम की जीत में जापानी दिग्गज मसाकाजू इमानारी और पूर्व विश्व चैंपियन केविन बेलिंगन शामिल हैं और वह अपने विशिष्ट हड़ताली कौशल के साथ जाने के लिए अच्छी तरह से वाकिफ हैं।

हालांकि, वकामात्सु ने दक्षिण कोरियाई एथलीट की पुरानी फाइटों को देखकर पूरी तरह से अध्ययन किया है और वह जानते ता है कि तायक्वांडो राष्ट्रीय स्वर्ण पदक विजेता के सबसे खतरनाक हमलों को कैसे संभालना है।

उनके विरोधी के शैली उनकी आखिरी फाइट के विरोधी यूस्ताक्वियो से ज्यादा अलग नहीं है। ऐसे में इस फाइट की योजना बहुत आसान है। वह रिंग में इंतजार करते हैं और काउंटर हमलों का रास्ता खोजते हैं। वह पंच और राइट लो किक पर ध्यान केंद्रित करते है। उन्हें लगता है कि वह उनके हमलों का बराबर जवाब देंगे। वह उनके पंचों से भी बच सकते हैं और अपनी ताकत को फाइट में झौंक सकते हैं। उन्हें नहीं लगता कि वह उनके पास आएंगे वह तो बस उनके आगे बढ़ने का इंतजार करेंगे।

उन्होंने कहा कि यदि ईमानदारी से कहूं तो हम हाथापाई नहीं करेंगे। वह स्क्रैम्बल्स को वापस ले सकते है, लेकिन उन्हें नहीं लगता कि वह ऐसा करेंगे। वह तो स्ट्राइकिंग पर ध्यान केन्दि्रत करेंगे।

Japanese martial artist Yuya Wakamatsu connects with a left cross on Geje Eustaquio

यदि “लिटिल पिरान्हा” ने अपने आगामी प्रतिद्वंद्वी का सही ढंग से अध्ययन किया है तो उन्हें विश्वास है कि उनके हमलों को संभालने के लिए उन्हें बहुत मेहतन करनी होगी।

उन्होंने कहा कि उनके पास बहुत सी रणनीतियां हैं, और वह जानते है कि वह बहुत अधिक हाथ-पैर चलाते हैं। उनका विरोधी पूरी तरह से तैयार, लेकिन वह उससे भी अधिक तैयार हैं और वह केओ के लिए जा रहे हैं।

वह चाहते हैं कि उस दिन उनका विरोधी उन्हें रिंग में आता देखकर सोचे की यह क्या हो रहा है। वह उस गति, शक्ति और तकनीक के स्तर पर दबाव बनाने और उन पर हावी होने के लिए जा रहे हैं। उन्होंने कभी भी इससे बचने का प्रशिक्षण नहीं लिया होगा। उनके पास अपने विरोधी के सभी हमलों का करारा जवाब है।

वकामात्सु ने दो फाइटरों के खिलाफ दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट संगठन में जीवन की कठिन शुरुआत की, जो ONE: सेंचुरी में वेल्टरवेट वर्ल्ड ग्रां प्रिक्स चैम्पियनशिप फ़ाइनल में मुकाबला करेंगे। उनमें डेमेट्रियस “माइटी माउस” जॉनसन और डैनी द किंग “किंगड” है।

हालांकि, टोक्यो का युवा उन दोनों मैचों में प्रतिस्पर्धी रहे और अब वैश्विक मंच पर उनका पहला ’डब्ल्यू’ है। उन्होंने बड़ा लक्ष्य निर्धारित किया है। उनका मानना ​​है कि उनका मिक्स्ड मार्शल आर्ट कौशल एक नए स्तर पर हैं और सीढ़ी पर चढ़ने और मोचन प्राप्त करने का समय सही है।

उन्होंने कहा कि वह डीजे से लड़ने के बाद से अपना विकास नहीं दिखा पा रहे हैं। उन्हें ज्यादा परेशान नहीं किया गया है। उन्हें नीचे भी नहीं गिराया गया है। वह उन पर हवाी हो गए और वह चाहते हैं कि दुनिया जाने कि वह क्या कर सकते हैं। उनकी योजना अब डे ह्वान किम को हराने की है।

टोक्यो | 13 अक्टूबर | एक: CENTURY | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें | टिकट: http://bit.ly/onecentury19

ONE: सेंचुरी इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट शैलियों का प्रदर्शन करेंगे। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप इवेंट आयोजित नहीं किए हैं।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रोयोगोकू कोकूगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्रिक्स चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच लाने के साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन पर दस्तक देगा।