मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

करियर खत्म करने से पहले बेल्ट पाना चाहते हैं युसुप सादुलेव

Dec 27, 2019

युसुप सादुलेव ने चोटों से जूझने के बाद बेंटमवेट डिविजन के शीर्ष दावेदारों में से एक को हराया और उनकी नजरें अपनी चैंपियनशिप पर टिक गई हैं।

34 साल के एथलीट को पिछले महीने चीन के बीजिंग में आयोजित हुए ONE: AGE OF DRAGONS में जापानी एथलीट दाइची ताकेनाका के साथ मुकाबले के दौरान दो फ्रैक्चर का सामना करना पड़ा था। दर्द के बावजूद उन्होंने मैच जारी रखा और एक विभाजित निर्णय द्वारा जीत हासिल की

अभी “माइस्त्रो” अपनी चोटों से ठीक हो रहे हैं लेकिन उसके साथ वो भविष्य की तरफ भी देख रहे हैं। वो अगले साल ONE बेंटमवेट वर्ल्ड चैंपियन बिबियानो फर्नांडीस “द फ़्लैश” को चुनौती देना चाहते हैं।

इस एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में उन्होंने ताकेनाका के साथ मैच को लेकर बात की। उन्होंने बेहद दर्द के साथ प्रतिस्पर्धा करना, यादगार 2019 और अगले साल सर्कल में “द फ्लैश” से मिलने की की इच्छा के बारे में खुलकर बात की।

????‍???? “The Maestro” Yusup Saadulaev edges Daichi Takenaka via split decision!

????‍???? “The Maestro” Yusup Saadulaev edges Daichi Takenaka via split decision!????: How to watch ???? http://bit.ly/ONEAODHOTW????: Book your hotel ???? bit.ly/ONEhotelplanner????: Watch on the ONE Super App ???? bit.ly/ONESuperApp????: Shop official merchandise ???? bit.ly/ONECShop

Posted by ONE Championship on Saturday, 16 November 2019

ONE Championship: आपने पिछले महीने विभाजित फैसले के माध्यम से दाइची ताकेनाका को हराया लेकिन आपका लक्ष्य मैच फिनिश करने का था। मैच के दौरान क्या हुआ था?

युसुप सादुलेव: पहले राउंड के दौरान मैंने अपना हाथ तोड़ दिया और दूसरे के दौरान पैर में चोट लगी। दोनों चोटों ने मुझे बड़े पैमाने पर धीमा कर दिया। पहले एक ने मेरी स्ट्राइकिंग और फिर दूसरे ने मेरी रेसलिंग को प्रभावित किया। जैसा कि आप जानते हैं कि रेसलिंग मेरा मजबूत पक्ष है।

इसके अलावा ये भी नहीं भूलना चाहिए मेरा प्रतिद्वंदी कितना मजबूत था। जब मैं ताकेनाका के लिए तैयार हो रहा था तो मैंने उन्हें एक अनडिफिटेड फाइटर के रूप में माना था। वो बहुत ताकतवर हैं। उन्होंने शीर्ष एथलीटों के खिलाफ जीत हासिल की। ये कभी भी एक आसान मुकाबला नहीं था।

ONE: आपको कब पता चला कि आप घायल हो गए हैं? क्या मैच के दौरान या उसके बाद?

युसुप सादुलेव: मुझे तुरंत ही पता चल गया था कि मेरा हाथ टूट गया है। मैं आवाज सुन सकता था और हड्डियों की एक-दूसरे के खिलाफ खरोंच महसूस कर सकता था। मेरा पैर दूसरे राउंड में सुन्न पड़ गया था। लेकिन मुझे चोट के बारे में तभी पता चला जब मैं इवेंट के बाद अस्पताल पहुंचा और एक्स-रे करवाया।

Russian star Yusup Saadulaev cracks Daichi Takenaka with a hook

ONE: चोट ने आपके प्लान को कैसे प्रभावित किया?

युसुप सादुलेव: मेरा प्लान यही था कि स्टैंड-अप में रहकर उनके साथ प्रतिस्पर्धा करना है। मैं पहले दौर के दौरान अपने विकल्पों का पता लगाना चाहता था। फिर पंचों का प्रहार करता और उन्हें नीचे ले जाता था। पर जब मेरा हाथ टूट गया तो ये योजना धरी की धरी रह गई।

मैंने ज्यादा मूव करने की कोशिश की और पंचों के जोरदार हमलों से प्रतिद्वंदी को हैरत में डाल दिया। हालांकि, मैं शक्ति खो रहा था और वो मुझे पीछे धकेल रहे थे। क्लिंचिंग के दौरान मैंने उन पर घुटनों से वार करने की कोशिश की। मैंने देखा कि इसकी वजह से दाइची ने अपनी सांस खो दी।

मैंने फिर भी उन्हें रिंग में गिराने की कोशिश की लेकिन मैंने देखा कि रिंग में ऐसा करना कठिन है। रस्सियां उस व्यक्ति के लिए बेहतर काम करती हैं जिसे आप नीचे ले जाने की कोशिश करते हैं, जबकि केज में स्थिति उस व्यक्ति के लिए बेहतर होती है जो एक टेकडाउन करना चाहता है।

ONE: आप अपने प्रदर्शन और तैयारी के स्तर को लेकर कैसा महसूस करते हैं?

युसुप सादुलेव: मैं अपने प्रोफेशनल करियर के सर्वश्रेष्ठ दौर में था। मेरी तैयारी किसी से कम नहीं थी क्योंकि मुझे पता था कि मैं ONE में शीर्ष प्रतिभाओं का सामना करने जा रहा हूं। यदि आप चोटों को ध्यान में रखते हैं तो उस लिहाज से मेरा प्रदर्शन बहुत अच्छा था।

मैंने इस मुकाबले में अपना सब कुछ लगा दिया। अपने शरीर से ऊर्जा के हर कतरे को निचोड़ लिया और इसे रिंग में छोड़ दिया। प्रदर्शन बेहतर हो सकता था लेकिन मैं अच्छे टेकडाउन को अंजाम नहीं दे सका और अपने रेसलिंग कौशल का उपयोग कर सका। थोड़ा परेशान हूं कि मैं पहले मुकाबला खत्म नहीं कर सका।

Russian grappler Yusup Saadulaev langs a knee on Japan's Daichi Takenaka

ONE: क्या था, जिसको लेकर आप ताकेनाका से हैरान थे?

युसुप सादुलेव: मैं हैरान था कि उनका सिर कितना मजबूत था। वो मुक्के खा सकते हैं। मैं उस पर पंचों का प्रहार करना चाहता था और उसके सिर पर निशाना लगा रहा था। मैंने हरेक पंच में उन्हें ढेर करने की कोशिश की। लेकिन वो लगातार आगे बढ़ते रहे।

मैं कहूंगा कि उनके पास बहुत धीरज है। वे मजबूत हैं और उनकी किक भी काफी शक्तिशाली हैं, जिन्हें भूलना नहीं चाहिए।

ONE: 2019 को देखते हुए आप इस वर्ष के सर्वश्रेष्ठ पल के बारे में क्या कह सकते हैं?

युसुप सादुलेव: मैं अब बेंंटमवेट में बहुत सहज महसूस करता हूं। गर्व है कि मुझे इस डिविजन के कुछ सर्वश्रेष्ठ एथलीटों का सामना करना पड़ा। मैं इस साल बहुत व्यस्त रहा हूं।

ONE: आप 2020 में खुद को कहां देखते हैं और आपका लक्ष्य क्या है?

युसुप सादुलेव: 2020 में ONE वर्ल्ड चैंपियन बनना चाहता हूं। मुझे आशा है कि जैसे ही ठीक हो जाऊंगा, मुझे ये मौका मिलेगा। अगर मुझे एक और एथलीट से लड़ना है तो उम्मीद है कि वो थान ली के खिलाफ एक रीमैच होगा, वो पिछली बार भाग्यशाली रहे थे। 2020 के लिए मेरी मुख्य इच्छा डिविजन के बिबियानो फर्नांडीस “द फ़्लैश” के खिलाफ मुकाबला करना है।

Yusup Saadulaev defeats Daichi Takenaka

ONE: आपकी राय में, आपके और फर्नांडीस के बीच क्या मैच इतना रोमांचक होगा?

युसुप सादुलेव:  हम टॉप लेवल के ग्रैपलर हैं लेकिन मेरे पिछले दो मुकाबलों से पता चला है कि बिना किसी संदेह के मैं पंचों का प्रहार करने में भी सक्षम हूं।

ये एक शानदार शो होगा क्योंकि मैं अपना करियर खत्म करने के बारे में सोचना शुरू करने से पहले सच में अपनी बेल्ट पाना चाहता हूं। ये अभी या कभी नहीं की तरह है। मैं ऐसे लड़ूंगा जैसे मेरा जीवन दांव पर है।

ये भी पढ़ें: साल 2020 के लिए क्या हैं बिबियानो फर्नांडीस के प्लान?

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में दोपहर 3:30 बजे से देखें