मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

शोको साटो ने पहले राउंड में सबमिशन से जीता मैच

जापान के अनुभवी मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट शोको साटो ने मॉल ऑफ एशिया एरीना में “प्रीटी बॉय” क्वोन वोन इल को हराते हुए अपनी विनिंग स्ट्रीक को 6 मैचों तक पहुंचा दिया है।

31 वर्षीय एथलीट ने ONE: FIRE AND FURY के मेन कार्ड के पहले मुकाबले में रीयर-नेकेड चोक से जीत दर्ज की है।

Shoko Sato ???????? kicks off the ONE: FIRE & FURY main card!

Shoko Sato ???????? kicks off the ONE: FIRE & FURY main card with a ???? FIRST-ROUND RNC ???? against Kwon Won Il! ????????????: How to watch ???? http://bit.ly/ONEFNFWatch????: Watch on the ONE Super App ???? bit.ly/ONESuperApp????: Shop official merchandise ???? bit.ly/ONECShop

Posted by ONE Championship on Friday, January 31, 2020

इस बेंटमवेट मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स मैच के शुरू होते ही दोनों एथलीट स्ट्राइकिंग पर ध्यान दे रहे थे। क्वोन ने अपना ट्रेडमार्क कहे जाने वाला राइट हैंड लगाया, वहीं साटो सूझबूझ से काम ले रहे थे और अपने प्रतिद्वंदी को दमदार लेग किक्स से क्षति पहुंचा रहे थे।

साटो ने लेग्स से स्ट्राइक करना जारी रखा, जिससे दक्षिण कोरियाई मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट को उनके पास आने में मदद ना मिल सके। Shooto बेंटमवेट वर्ल्ड चैंपियन ने इसके बाद क्वोन की तरफ आगे बढ़ते हुए उन पर डबल-लेग टेकडाउन लगाया। “प्रीटी बॉय” ने इस टेकडाउन से निकलने में सफलता पाई और साटो पर राइट हैंड लगाने की कोशिश की।

क्वोन Extreme Combat और Top Gym BF के प्रतिनिधि हैं, उन्होंने जापानी एथलीट को पीछे धकेलना शुरू कर दिया लेकिन साटो के पास इतनी काबिलियत थी कि वो हर समय अपने प्रतिद्वंदी से एक कदम आगे का सोच कर चल रहे थे।

Shoko Sato defeats Kwon Won Il ONE: FIRE & FURY

एक समय ऐसा लगने लगा था कि “प्रीटी बॉय” को बढ़त मिल रही थी लेकिन साटो ने एक और टेकडाउन का प्रयास किया। हालांकि क्वोन ने बड़ी ही बेहतरी से इस टेकडाउन का डिफेंस किया लेकिन आखिर में Sakaguchi Dojo और Fight Base Toritsudai टीम का प्रतिनिधित्व कर रहे साटो ने अपने प्रतिद्वंदी को नीचे गिराने में सफलता पाई, उनकी बैक को निशाना बनाया और फिगर-फोर ग्रिप लगाने की कोशिश की।

24 वर्षीय दक्षिण कोरियाई स्टार ने इस बार भी इस सबमिशन मूव से बाहर निकलने का प्रयास किया लेकिन ये उनके लिए अच्छा साबित नहीं हुआ। खड़े होने के दौरान साटो ने क्वोन की गर्दन को निशाना बनाया और रीयर-नेकेड चोक लगाया। पहले राउंड में 4:05 मिनट ही बीते थे, तभी साटो की ओर से आ रहे दबाव के कारण उन्हें टैप आउट करना पड़ा।

ये जापानी एथलीट की चौथी सबमिशन जीत थी जिससे उनका रिकॉर्ड अब 35-16-3 (1 नो कॉन्टेस्ट) का हो गया है।

ये भी पढ़ें: ONE: FIRE & FURY – रिजल्ट्स और हाइलाइट्स, पैचीओ Vs. सिल्वा

जकार्ता | 7 फरवरी | ONE: WARRIOR’S CODE | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं