ONE Friday Fights 34 में सेकसन, मुआंगथाई, कुलबडम और प्राजनचाई ने दर्ज की बड़ी जीत

Seksan Or Kwanmuang Amir Naseri ONE Friday Fights 34 3

22 सितंबर को एशियाई प्राइमटाइम पर लुम्पिनी बॉक्सिंग स्टेडियम से प्रसारित हुआ इवेंट मार्शल आर्ट्स के लिए धमाकेदार साबित हुआ

ONE Friday Fights 34: Rodtang vs. Superlek के कार्ड में मॉय थाई और MMA से जुड़े कई बड़े नाम शामिल थे। इवेंट में कई यादगार लम्हे भी देखने को मिले।

मेन इवेंट में रोडटंग जित्मुआंगनोन और सुपरलैक कियातमू9 की भिड़ंत से पूर्व यहां जानिए ONE Friday Fights 34 में क्या-क्या हुआ।

सेकसन ने एक्शन से भरपूर मुकाबले में नासेरी को हराया

https://www.instagram.com/p/CxgCVYyOgF1/

को-मेन इवेंट में होमटाउन हीरो सेकसन ओर क्वानमुआंग ने 140-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में अमीर नासेरी को संघर्षपूर्ण मुकाबले में हराकर ONE Friday Fights में अपनी लगातार छठी जीत हासिल की है।

9 मिनट तक चले एक्शन के दौरान 4 बार के मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन ने एल्बोज़ लगाना नहीं छोड़ा।

हालांकि नासेरी ने भी दिलेरी दिखाते हुए कई दमदार स्ट्राइक्स को लैंड कराया, लेकिन “द मैन हू यील्ड्स टू नो वन” ने पीछे हटने का नाम नहीं लिया और खतरनाक एल्बोज़ लगाते हुए अपने प्रतिद्वंदी पर दबाव बनाते रहे।

अंत में तीनों जजों ने सेकसन के पक्ष में फैसला सुनाया, जिससे उनका करियर रिकॉर्ड 199-74 पर पहुंच गया है।

3 राउंड तक चले मैच में मुआंगथाई ने योडलैकपेट को हराया

“एल्बो ज़ोम्बी” मुआंगथाई पीके साइन्चाई और योडलैकपेट “द डेस्ट्रॉयर” ओर अटचारिया ONE से बाहर 2 बार आमने-सामने आ चुके थे और इस बार उनकी भिड़ंत 138-पाउंड कैचवेट मुकाबले में हुई।

पहले राउंड को मुआंगथाई ने कंट्रोल किया, लेकिन “द डेस्ट्रॉयर” ने दूसरे राउंड में वापसी करते हुए अपने प्रतिद्वंदी पर दमदार पंच और एल्बोज़ लगाईं।

“एल्बो ज़ोम्बी” अंतिम राउंड में खून से लथपथ हो चुके थे, लेकिन उन्होंने हार ना मानते हुए दमदार नी स्ट्राइक्स की रणनीति अपनाई। मगर योडलैकपेट ने भी पीछे ना हटते हुए एल्बोज़ से जवाबी हमला किया।

9 मिनट तक उनके बीच कांटेदार टक्कर देखने को मिली, लेकिन मुआंगथाई द्वारा अंतिम क्षणों में किए गए खतरनाक अटैक ने उन्हें सर्वसम्मत निर्णय से जीत दिलाई। अब उनका रिकॉर्ड 204-44 और “द डेस्ट्रॉयर” के खिलाफ 3-0 की बढ़त कायम कर चुके हैं।

कुलबडम के सामने एक राउंड में चित हुए हैरिसन

कुलबडम सोर जोर पिएक उथाई ने स्टेडियम में अपने प्रतिद्वंदी टायसन हैरिसन समेत सब लोगों को दिखाया कि उन्हें “लेफ्ट मीटियोराइट” क्यों कहा जाता है।

24 वर्षीय एथलीट ने बेंटमवेट मॉय थाई बाउट में लेफ्ट हैंड्स और खतरनाक कॉम्बिनेशंस लगाकर ऑस्ट्रेलियाई एथलीट के डिफेंस को चकनाचूर कर दिया था।

पहले राउंड के अंत तक स्पष्ट नजर आने लगा था कि पूर्व लुम्पिनी स्टेडियम मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन की स्ट्राइक्स ने हैरिसन को काफी क्षति पहुंचाई है। उनकी जांच के लिए डॉक्टरों को भी रिंग में आना पड़ा, जिसके बाद “जॉन वेन नोई” फाइट जारी नहीं रख पाए।

पहले राउंड में स्टॉपेज से आई जीत से कुलबडम का रिकॉर्ड 68-18 का हो गया है।

प्राजनचाई ने ONE किकबॉक्सिंग डेब्यू में हमीदी को हराया

स्ट्रॉवेट किकबॉक्सिंग मुकाबले में मौजूदा ONE अंतरिम स्ट्रॉवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन प्राजनचाई पीके साइन्चाई ने 3 बार के ISKA किकबॉक्सिंग वर्ल्ड चैंपियन अकरम हमीदी को हराकर 2-स्पोर्ट वर्ल्ड चैंपियन बनने के सफर की शुरुआत की।

हमीदी ने बिना डरे अनुभवी थाई एथलीट का सामना किया, लेकिन प्राजनचाई की ओर से ज्यादा स्ट्राइक्स लगती देखी गईं। उन्होंने अपने पंच, नी स्ट्राइक्स और किक्स का मिश्रण करते हुए शानदार प्रदर्शन किया।

उन्होंने दूसरे राउंड में अल्जीरियाई एथलीट को नॉकडाउन किया था, जिसने प्राजनचाई को सर्वसम्मत निर्णय से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

इस जीत ने प्राजनचाई के करियर रिकॉर्ड को 341-52 पर पहुंचा दिया है और साथ ही ONE के स्ट्रॉवेट किकबॉक्सिंग डिविजन में अपनी मौजूदगी भी दर्ज करवाई है।

त्रिनदादे ने सिबमुएन को नॉकआउट किया

मिगेल त्रिनदादे ने 147-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में सिबमुएन कोच नाय पर शुरुआत से दबाव बनाना शुरू कर दिया था।

डेब्यू कर रहे पुर्तगाली एथलीट ने पूर्व Rajadamnern Stadium मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियन को बैकफुट पर धकेला और पहले 15 सेकंड के अंदर लेफ्ट हुक-राइट नी कॉम्बिनेशन लगाकर नॉकडाउन भी स्कोर किया।

सिबमुएन दोबारा खड़े हुए और निडर होकर अपने प्रतिद्वंदी को कॉर्नर की ओर धकेला।

त्रिनदादे ने थाई स्ट्राइकर पर एकसाथ कई पंच और नी स्टाइक्स लगाईं और अंत में बॉडी पर लेफ्ट हुक लगाकर उन्हें फिनिश किया। इससे उनका रिकॉर्ड 13-1 का हो गया है।

सुआकिम ने अशौरी को पहले राउंड में नॉकआउट कर चौंकाया

सुआकिम सोर जोर थोंगप्राजिन अपने प्रोमोशनल डेब्यू में सफल नहीं रहे थे, लेकिन इस बार उन्होंने समन अशौरी को नॉकआउट कर अपने इरादे स्पष्ट कर दिए हैं।

PK Saenchai Muaythaigym टीम के प्रतिनिधि ने 140-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में लय प्राप्त करने के लिए समय लिया, लेकिन एक बार मौका मिलते ही उन्होंने पलक झपकते ही फाइट को फिनिश कर दिया था।

सुआकिम बैकफुट पर थे और उन्होंने अशौरी के राइट हैंड से बचते हुए एल्बो लगाकर काउंटर अटैक किया, जिसके प्रभाव से ईरानी एथलीट लड़खड़ाने लगे थे। थाई एथलीट को मैच का परिणाम नजर आने लगा था इसलिए मौका मिलते ही उन्होंने स्ट्रेट-हुक कॉम्बिनेशन लगाकर उन्हें झकझोरा।

इस शानदार जीत ने सुआकिम के रिकॉर्ड को 149-59 पर पहुंचा दिया है।

सोंगचाइनोई ने जोमहोद को दूसरे राउंड में स्टॉपेज से हराया

सोंगचाइनोई कियटसोंग्रिट ने 116-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मैच में जोमहोद ऑटो मॉयथाई को हराकर लगातार तीसरी बार नॉकआउट से जीत हासिल की है।

23 वर्षीय एथलीट की पंचिंग पावर देखने लायक रही, जिसके दम पर उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी के मूव्स को काउंटर किया। सोंगचाइनोई ने दूसरे राउंड में आक्रामक रुख अपनाया, जहां पहले मिनट के अंदर उन्होंने निडर बॉक्सिंग गेम के दम पर 3 नॉकडाउन स्कोर किए।

मुकाबला दूसरे राउंड में 54 सेकंड के समय पर समाप्त हुआ, जिससे थाई स्टार का करियर रिकॉर्ड 54-18 और ONE रिकॉर्ड 4-0 का हो गया है।

वेई ने पेटचार्टचाई को मात दी

“द ग्रेट सेज” वेई ज़िचिन ने 127-पाउंड कैचवेट मॉय थाई मुकाबले में पेटचार्टचाई फाइट गीक मॉयथाई को झकझोरते हुए संघर्षपूर्ण जीत दर्ज की।

वेई ने पहले राउंड में सटीक पंच और नी स्ट्राइक्स लगाईं और लेफ्ट हैंड लगाते हुए पेटचार्टचाई को नॉकडाउन भी किया।

Fight Geek Muaythai टीम के प्रतिनिधि ने दूसरे राउंड में वापसी का प्रयास किया। उन्होंने अंतिम राउंड में चीनी एथलीट को पंच लगाते हुए संभलने का मौका नहीं दिया।

मगर “द ग्रेट सेज” ने भी पीछे ना हटते हुए तीसरे राउंड में खतरनाक एल्बो और नी स्ट्राइक्स लगाईं, जिनका प्रभाव पेटचार्टचाई के शरीर पर साफ नजर आने लगा था। इस शानदार प्रदर्शन ने वेई को सर्वसम्मत निर्णय से जीत दिलाई, जिससे उनका रिकॉर्ड 27-3 का हो गया है।

शिनीचग्टा ने चेन को विभाजित निर्णय से हराया

शिनीचग्टा जोल्टसेट्सेग ने बेंटमवेट MMA मुकाबले की शुरुआत में नॉकडाउन स्कोर किया और दृढ़ता ने उन्हें “द घोस्ट” चेन रुई पर बड़ी जीत दिलाई।

मंगोलियाई स्टार ने पहले राउंड में राइट हैंड लगाकर अपने विरोधी को मैट पर गिराया। इस बीच वो ग्राउंड और स्टैंड-अप गेम में मूव्स के प्रभाव को झेलते हुए भी मैच में बने रहे।

दूसरे और तीसरे राउंड में दोनों एथलीट्स फाइट को फिनिश करने के इरादे से सामने आए, लेकिन कोई भी सटीक स्ट्राइक लगाने में सफल नहीं हो पाया।

15 मिनट के जबरदस्त एक्शन के बाद 3 में से 2 जजों ने शिनीचग्टा के पक्ष में फैसला सुनाया और ये Zorky MMA टीम के प्रतिनिधि के करियर की सातवीं जीत रही।

आदिवांग ने 30 सेकंड से भी कम समय में मैथिस को हराया

लिटो “थंडर किड” आदिवांग ने स्ट्रॉवेट MMA बाउट में एड्रियन “पापुआ बैडबॉय” मैथिस को हराकर इवेंट की शुरुआत शानदार अंदाज में की।

18 महीनों बाद वापसी करने वाले फिलीपीनो स्टार ने अपने गेम को कमजोर नहीं पड़ने दिया। उन्होंने शुरुआत से अपने इंडोनेशियाई प्रतिद्वंदी को राइट हैंड लगाकर मैट पर गिराया।

उसके बाद कई खतरनाक स्ट्राइक्स लगीं और मैच केवल 23 सेकंड बाद ही समाप्त हो चला था।

तकनीकी नॉकआउट से आई इस जीत ने आदिवांग के करियर रिकॉर्ड को 14-5 पर पहुंचा दिया है और एक बार फिर डिविजन के टॉप स्टार बनने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

किकबॉक्सिंग में और

Jonathan Di Bella Danial Williams ONE Fight Night 15 73 scaled
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 142
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 59
Rodtang Jitmuangnon Denis Puric ONE 167 137
Tawanchai PK Saenchai Jo Nattawut ONE 167 78
Mikey Musumeci Gabriel Sousa ONE 167 11
Rodtang Jitmuangnon Edgar Tabares ONE Fight Night 10 36
Johan Ghazali Edgar Tabares ONE Fight Night 17 21 scaled
Superlek Kiatmoo9 Rodtang Jitmuangnon ONE Friday Fights 34 80
Kompet Fairtex Kongchai Chanaidonmueang ONE Friday Fights 58 10
Tawanchai PK Saenchai Superbon Singha Mawynn ONE Friday Fights 46 48 scaled
MasaakiNoiri Champ 1200X800