न्यूज़

योडसंकलाई को हराकर पेटमोराकोट को लैजेंड बनने की उम्मीद

इस साल की शुरुआत में ONE Championship में इतिहास बनाने के बाद पेटमोराकोट पेटयिंडी एकेडमी की नजरें मॉय थाई के चहेते आइकॉन को हराकर अपनी विरासत को और मजबूत करने पर लगी हैं।

शुक्रवार, 31 जुलाई को पेटमोराकोट अपनी नई जीती हुई ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियनशिप का बचाव “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” योडसंकलाई IWE फेयरटेक्स के खिलाफ थाइलैंड के बैंकॉक में होने वाले ONE: NO SURRENDER में करेंगे।

ये पेटयिंडी एकेडमी के प्रतिनिधि का पहला वर्ल्ड टाइटल डिफेंस और उनके करियर में अब तक का सबसे बड़ा मुकाबला होगा।

पेटमोराकोट ने कहा, “आने वाली मॉय थाई बाउट मेरे जीवन का सबसे अहम मैच होगा।”

“योडसंकलाई पहले से दुनिया भर में मशहूर हैं। वो एक बेहतरीन एथलीट और लैजेंड हैं। अगर मैं योडसंकलाई को हरा पाया तो मुझे सब स्वीकार लेंगे और दुनिया भर में लोग जान जाएंगे।”

ONE Featherweight Muay Thai World Champion Petchmorakot Petchyindee Academy

फरवरी में पेटमोराकोट प्रोमोशन के रिकॉर्ड बुक में तब दाखिल हुए, जब उन्होंने पोंगसिरी पीके. साइन्चेमॉयथाईजिम पर सर्वसम्मत निर्णय के जरिए जीत हासिल करके पहली ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड चैंपियनशिप जीती थी।

26 साल के एथलीट को इस बाउट में हाइट और रीच का साफतौर पर फायदा मिलेगा। वो अपनी इन शारीरिक खूबियों को फायदा अपने हमवतन एथलीट को परास्त कर चुके हैं।

शुरुआत में ही अपनी रेंज को पा लेने के बाद पेटमोराकोट ने अपने जैब, लेफ्ट किक और बाद में कठोर नी व एल्बो का इस्तेमाल वर्ल्ड टाइटल जीत हासिल करने में किया था।

उन्हें याद है, “पहले राउंड में हम दोनों एक-दूसरे को भांपते रहे।”

“मैं परखता रहा कि कैसे वो अपने दांव चलाते हैं। उनकी स्किल्स काफी अच्छी थी लेकिन वो काफी छोटी कद के एथलीट थे इसलिए मैं अपने लंबे रेंज के दांव चला सकता था जैसी कि उनके लिए योजना भी बनाई थी। ऐसा करना मेरे लिए फायदेमंद रहा क्योंकि मैं लंबी रेंज के दांव चला सकता था और उससे मैं उस मैच को जीत गया।”



हालांकि, पेटमोराकोट की वर्ल्ड चैंपियनशिप जीत के एक ही महीने बाद ही ONE ने अपने सभी इवेंट्स को COVID-19 महामारी के चलते स्थागित कर दिया था।

इसका मतलब ये हुआ कि टाइटल होल्डर अब दूसरे एथलीट के साथ ट्रेनिंग नहीं कर सकते थे लेकिन इसके बाद भी वो अपने फिटनेस रूटीन बनाए रखने के लिए दृढ़ संकल्पित रहे। अपनी तकनीकों को और धारदार बनाने में लगे रहे।

इन लक्ष्यों को दिमाग में रखते हुए बैंकॉक के निवासी रोजाना 5 किमी की दौड़ लगाते रहे। अपनी वेट ट्रेनिंग करते रहे और यहां तक कि थोड़ा बहुत हेवी बैग वर्क भी करते रहे, ताकि जब बेल्ट को बचाने की बारी आए तो वो तैयार रहें।

ये बुलावा जून के अंत में आया, जब पेटमोराकोट के पास में अपने पहले ONE फेदरवेट मॉय थाई वर्ल्ड टाइटल के डिफेंस का मौका थाइलैंड में सच्चे स्पोर्ट्स लैजेंड के खिलाफ आया और वो इससे ज्यादा खुश नहीं हो सकते थे।

पेटयिंडी एथलीट ने कहा, “मैं योडसंकलाई से मुकाबला करने के लिए काफी उत्सुक और उत्साहित हूं, वो एक लैजेंड हैं, जिन्हें पूरा देश जानता है। मैं आने वाली बाउट के लिए दोगुना कड़ी ट्रेनिंग कर रहा हूं। ये मेरा पहला टाइटल डिफेंस है और मैं अपने देश में मुकाबला करने जा रहा हूं, ताकि लोगों का ये दिखा सकूं कि मैं क्या कर सकता हूं।”

Yodsanklai IWE Fairtex knocks out Luis Regis

“द बॉक्सिंग कंप्यूटर” को पेटमोराकोट अच्छे से जानते हैं।

योडसंकलाई अपनी तेज-तर्रार लेफ्ट किक और ताकतवर बॉक्सिंग के लिए जाने जाते हैं। वो अपने मॉय थाई करियर में कई सारे वर्ल्ड चैंपियनों को हरा चुके हैं।

34 साल के पटाया निवासी पहले ही The Home Of Martial Arts में हैरतअंगेज हाइलाइट रील मोमेंट बना चुके हैं, जिसमें दिसंबर 2018 में लुईस रेजिस के खिलाफ ट्रिपल अपरकट नॉकआउट और मार्च 2019 में एंडी “सावर पावर” सावर के खिलाफ तकनीकी से जीत शामिल हैं।

हालांकि पेटमोराकोट, फेयरटेक्स आइकॉन के शानदार स्किल सेट का सम्मान करते हैं, जबकि उन्हें विश्वास है कि उनका युवा जोश वर्ल्ड टाइटल के मामले में अंतर पैदा कर सकेगा।

उन्होंने योडसंकलाई के बारे में कहा, “उनकी ढलती उम्र ही उनकी कमजोरी है। हो सकता है कि वो चौथे या पांचवें राउंड तक थक जाएं। तब मैं अपना जोश उनके खिलाफ इस्तेमाल करूंगा, उनको थकाता जाऊंगा और फिर हरा दूंगा।”

इन चीजों को दिमाग में रखते हुए पेटमोराकोट की योजना तेजी बनाए रखने की है, जब तक योडसंकलाई थक नहीं जाते और फिर वो उन्हें अपनी जानी-पहचानी स्ट्राइक से हरा देंगे।

उन्होंने कहा, “मैं अपना जाना-पहचाना दांव इस्तेमाल करूंगा, जो मेरी एल्बो और नी हैं। अब क्योंकि ये मॉय थाई का नियम है इसलिए मैं अपनी एल्बो और नी पर बहुत कड़ी मेहनत कर रहा हूं।”

जब सब कुछ कहा और करा जा चुका होगा, तब बैंकॉक निवासी को उम्मीद है कि वो अपनी बेल्ट बरकरार रखेंगे, मॉय थाई के हीरो को नॉक आउट कर देंगे और खुद को इस स्पोर्ट का लैजेंड बना लेंगे।

लेकिन इस तगड़े मुकाबले के बाद उन्हें उम्मीद है कि वो “द बॉक्सिंग कंप्यूटर” के साथ अपना रिश्ता और मजबूत कर लेंगे।

पेटमोराकोट ने कहा, “मैं आने वाली बाउट में अपना सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करूंगा। इस बाउट के बाद भी हमारी दोस्ती जारी रहेगी।”

ये भी पढ़ें: पेटमोराकोट और योडसंकलाई अपने-अपने कैंप में जबरदस्त ट्रेनिंग करते दिखे