न्यूज़

पेचडम पर नॉकआउट वर्ल्ड टाइटल जीत ने दर्शाई एन्नाहाची की प्रतिभा

Aug 20, 2019

ONE: ड्रीम्स ऑफ गोल्ड में “द बेबी शार्क” पेचडम पेचीइंडी के खिलाफ इलियास “ट्वीटी” एन्नाहाची का प्रदर्शन ONE Championship
में इससे ज्यादा बेहतर पदार्पण वाला नहीं हो सकता था।

थाईलैंड के बैंकॉक में गत शुक्रवार, 16 अगस्त को डचमैन ने एक आश्चर्यजनक तीसरे दौर के नॉकआउट के साथ ONE फ्लाईवेट किकबॉक्सिंग विश्व खिताब पर कब्जा कर लिया। उनके उस धमाकेदार प्रदर्शन ने इम्पैक्ट एरिना में अपने प्रतिद्वंद्वी के प्रशंसकों के मुंह पर ताला लगा दिया।

यूट्रेक्ट के योद्घा को सिर्फ उनके समर्थन विरोधी दर्शकों की भीड़ से अधिक संघर्ष करना पड़ा था, क्योंकि उन्होंने The Home Of Martial Arts के सबसे खतरनाक एथलीटों में से एक से मुकाबला किया था।

पेटचडैम ने अपनी पिछली ONE सुपर सीरीज प्रतियोगिताओं में से सभी चार में जीत हासिल की थी। उन सभी उनके ट्रेडमार्क रहे राउंडहाउस किक उनकी जीत की बड़ी वजह रही है।

हालांकि एक हमले के अलावा जो कमी थी उसे ठीक करने के लिए इंजूरी समय में कुछ मिनट की आवश्यकता थी। एन्नाहाची का कहना है कि उन्हें “द बेबी शार्क” के सबसे खतरनाक कौशल से निपटने में ज्यादा परेशानी नहीं हुई क्योंकि उन्होंने अपने खुद के कौशल का उपयोग किया।

Ilias Ennahachi defeats Petchdam Petchyindee Academy via knockout at ONE: DREAMS OF GOLD

एन्नाहाची ने स्वीकार किया कि पेचडम ने उनकी जांघ व कमर के जोड़ पर जोर से हमला किया था और इससे उन्हें बहुत तकलीफ पहुंचाई थी। हालांकि उनकी दूसरी किक ज्यादा ताकतवर नहीं थी। वह उन पर हमला करने से पहले उनकी तकनीक की जांच कर रहे थे। वह सब उनकी योजना का हिस्सा था।

एन्नाहाची ने कहा कि वह पेचडम से भी ज्यादा आसानी से किक मारते हैं। आप देख सकते हैं कि उन्होंने उसे कई बार कैसे मारा था।

पहले दौर में एन्नाहाची अपने किक्स के साथ प्रभावी थे, लेकिन जब उसने अपने मजबूत हाथों से हमला शुरू किया तो वह दूसरे राउंड में हावी हो गए।

उन्होंने पहले एक शक्तिशाली काउंटर हुक के साथ गोल किया, जिसने पेटचडम को आगे बढ़ाया और सिर और शरीर पर ताबड़तोड़ पंचों की बारिश कर आगे बढ़े। उन लोगों ने उसके प्रतिद्वंद्वी को चोट पहुंचाई और उसकी लय को इस बिंदु पर बाधित कर दिया कि वह बाकी प्रतियोगिता के लिए ज्यादा आक्रमण नहीं कर सके।

एसबी जिम के प्रतिनिधि बताते हैं कि उन्होंने अपने तरीके से फाइट लड़ी और वहीं किया जो वह हमेशा करते हैं। उनके कोच ने बताया था कि उन्हें राउंड के बीच अधिक बॉक्स करना चाहिए। [यह एक महत्वपूर्ण मोड़ था] क्योंकि आप देखते हैं कि पेचडम के पास उनका कोई जवाब नहीं था। तीसरे दौर में उन्होंने बेहतर संयोजन के साथ ज्यादा पंच मारे थे।

यह दृष्टिकोण दूसरे श्लोक में भी प्रभावी था, लेकिन तीसरे में यह निर्णायक रहा।

जैसे ही “ट्वीटी” एक मजबूत पंच के साथ आगे बढ़े तो उन्होंने कैनवास पर गिरे पेचडम पर पंचों की बारिश कर दी। हालांकि वह रेफरी के दस गिनने तक खड़े हो गए थे, लेकिन वह लड़खड़ा रहे थे। ऐसे में जीत हासिल करने के लिए वह बहुत आसान लग रहे थे।

इस जीत ने एनाहची को ना केवल अपना सातवां और सबसे प्रतिष्ठित वर्ल्ड टाइटल दिलाया बल्कि यह उनकी 35वीं पेशेवर जीत भी रही। इसी प्रकार इस जीत ने उन्हें फ्लाईवेट पर हरा देने वाले व्यक्ति के रूप में भी चिह्नित किया है।

सिर्फ 23 साल की उम्र में, वह दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट संगठन में एक लंबे और सफल भविष्य की उम्मीद कर रहे है और उन्होंने अपने स्टैक्ड डिवीजन में अधिक मजबूत व कुलश दावेदारों के खिलाफ मुकाबलों का स्वागत किया है।

उन्होंने कहा कि वह ONE Championship का हिस्सा बनने में बहुत गर्व महसूस करते है। वह खुश है कि वह इस चरण में हिस्सा ले सकते हैं। वह इस स्तर पर मौका देने के लिए ONE Championship का धन्यवाद ज्ञापित करते हैं। वह भविष्य में और बेहतर फाइट करने की उम्मीद करते हैं। अभी वह इस जीत का जश्न मना रहे हैं।