न्यूज़

अर्जन भुल्लर का दबाव मौरो सेरिली को छोड़ सकता है पीछे

सितम्बर 25, 2019

अर्जन “सिंह” भुल्लर उस समय पूरी तरह टूट गए थे, जब अगस्त में ONE Championship में उनकी बहुप्रतीक्षित पदार्पण बाउट महज कुछ समय पहले रद्द कर दी गई थी, लेकिन हर निशाना में एक उम्मीद की किरण छिपी होती है।

हालांकि भारतीय सुपरस्टार ने धैर्य बनाए रखा और अब 13 अक्टूबर को वह ONE: CENTURY PART II में मौरो सेरिली “द हैमर” से मुकाबला करने के रिंग में उतरेंगे।

इसका मतलब है कि वह अब तक की सबसे बड़ी मार्शल आर्ट प्रतियोगिता के मुख्य कार्ड पर प्रतिस्पर्धा करेगा और उनके पास उस व्यक्ति को आकार देने का एक सुनहरा अवसर होगा जो उनके पास अगले स्थानों के लिए है।

भुल्लर ने अपना प्रशिक्षण शिविर पूरा कर लिया था और वह फिलीपींस के मनीला में ONE: DAWN OF HEROES पर पहली बार रिंग में उतरने के लिए पूरी तरह से तैयार थे, लेकिन इवेंट की रात से एक दिन पहले उनके इतालवी प्रतिद्वंद्वी बीमार पड़ गए।

हालांकि, बाउट के रद्द होने के बाद निराशाओं में डूबने की जगह 33 वर्षीय बुजुर्ग फाइटर ने अपने आगामी विरोधी के बारे में अधिक जानने तथा अपने कौशल को तेज करने के लिए मुकाबलों के बीच के समय का उपयोग किया।

उन्होंने कहा कि उनके पास जापान के टोक्यो में जीत हासिल करने का एक बेहतर मौका है और इस जीत के साथ वह अपने आगे करियर को सफल बनाने के लिए खुद को स्थापित कर सकेंगे।

उन्होंने प्रशिक्षण और प्रतियोगिता के बीच के समय में किए गए कड़े अभ्यास के बारे में बताया कि आप इस समय का उपयोग बेहतर अभ्यास में कर सकते हैं। जैसा हम पिछले प्रशिक्षण शिवर में कर रहे थे। प्रतियोगिता के बीच मिले समय ने उन्हें उन चीजों का अधिक अभ्यास करने का मौका दिया जो उन्होंने प्रशिक्षण में सीखी थी।

आपके द्वारा किया गया अभ्यास आपको आने वाली बाउट ही नहीं बल्कि भविष्य की बाउटों में भी खासी मदद करता है। वह सेरील्ली से होने वाले मुकाबले को लेकर अपनी तैयारी को और अधिक मजबूत करने पर खासा ध्यान नहीं दे रहे थे, क्योंकि उन्हें लगता है कि उसकी मौजूदा गेम योजना ही उन्हें जीत का सही रास्ता देगी।

इसका मतलब यह नहीं है कि ओलंपिक रेसलर अपने प्रतिद्वंद्वी का सामना करने के बारे में लापरवाह या अति आत्मविश्वास में है। वह जानते हैं कि केज वॉरियर्स हैवीवेट विश्व चैंपियन, जो एलेन “द पैंथर” नगालानी पर शानदार नॉकआउट जीत के बाद रिंग में आ रहे हैं।



सेरील्ली के पास बहुत ताकत है। उनकी 13 में से 9 जीत तो कम समय में आई है, लेकिन पंजाब के फाइटर ने उन्हें अपने ट्रैक पर रोकने का एक तरीका देखा है।

भुल्लर ने प्रतिद्वंद्वी के बारे में कहा कि वह बहुत आक्रामक है और आगे बढ़ना पसंद करते हैं। इसके अलावा उनके पास मिक्स्ड मार्शल आर्ट का बहुत अधिक अनुभव है। उन्हें लगता है कि हमलो की समय वह जो रास्ता छोड़ते हैं, वहीं उन्हें टेकडाउन का मौका दे सकते हैं।

वह कभी भी खुद को धक्का नहीं मारते हैं। ऐसे में उनकी योजना उनके ऊपर रहना और दबाव डालने की होगी। उन्हें लगता है कि उन्हें बस अपने विरोधी को अपनी पीठ पर उठाने की जरूरत है और उन्हें बाउट में इसका मौका मिल सकता है।

उन्होंने कहा कि जब आप लोगों को असुविधाजनक परिस्थितियों में डालते हैं, तो वह जल्दबाजी में हमले करने की कोशिश करते हैं और इसी में वह गलती कर बैठते हैं। उस दौरान आपकों को उसे चित्त करने के लिए अच्छे मौके मिलने की उम्मीद रहती है।

एक जीत भुल्लर को वन हैवीवेट विश्व चैम्पियनशिप के लिए चुनौती देने के लिए पटरी पर ले आएगी और टोक्यो में कार्ड पर उसकी नई स्थिति का मतलब है कि उसके पास उस आदमी को स्काउट करने का एक अनूठा अवसर होगा जिसका वह अगली बाउट में सामना करना चाहते है।

भुल्लर, डिवीजन के शहंशाह ब्रैंडन “द ट्रूथ” वेरा से कुछ ही घंटे पहले प्रतिस्पर्धा करेंगे, जो मुख्य कार्यक्रम में ONE लाइट हेवीवेट वर्ल्ड टाइटल के लिए आंग ला “द बर्मीज़ पायथन” एन सांग को चुनौती देंगे।

“सिंह” का मानना ​​है कि वह एक जीत के साथ नंबर एक दावेदार होंगे। ऐसे में वह उस फाइटर को देखने के लिए उत्सुक है जो एक्शन में उनका अगला प्रतिद्वंद्वी हो सकता है।

उन्होंने कहा कि, यह एक ही कार्ड [ब्रैंडन वेरा के रूप में] पर रोमांचक है। वह अपनी फाइट के बाद अपने आगे वाली फाइट पर होमवर्क करेंगे। अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए वह फाइट उनके लिए एक प्रेरणा के रूप में काम कर सकती है।

एक जीत विश्व टाइटल शॉट की स्थापना करती है, लेकिन इसमें से कुछ भी नहीं होगा, यदि वह उस बाउट में जीत हासिल नहीं करते हैं, जिसके लिए वह जा रहे हैं। हालांकि वह बाउट के बारे में ज्यादा नहीं सोच रहे हैं और प्रतिस्पर्धा के लिए बेहद उत्साहित हैं।

टोक्यो | 13 अक्टूबर | ONE: CENTURY | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें | टिकट: https://onechampionship.zaiko.io/e/onecentury

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट शैलियों का प्रदर्शन करेंगे। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप इवेंट आयोजित नहीं किए हैं।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रोयोगोकू कोकूगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्रिक्स चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच लाने के साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन पर दस्तक देगा।