विशेष कहानियाँ

ऐसा रहा रोमन क्रीकलिआ का यूक्रेन से वैश्विक स्तर तक का सफर

नवम्बर 16, 2019

रोमन क्रीकलिआ के पास बेहतरीन किकबॉक्सर बनने के लिए सभी आवश्यक कौशल मौजूद है, लेकिन वह कभी भी सही रवैये के बिना विश्व चैंपियन नहीं बन सकते थे।

अपने खेल के लिए यूक्रेन निवासी के समर्पण ने उन्हें सफलता की तलाश में दुनिया की यात्रा करने के लिए छोटे शहर की जीवनशैली से बचने में मदद की और अब उनके पास खेल में सबसे बड़े पुरस्कार का दावा करने का मौका है।

इस शनिवार यानी 16 नवंबर को 28 वर्षीय जब ONE: AGE OF DRAGONS के सह-मुख्य इवेंट में ONE लाइट हेवीवेट वर्ल्ड टाइटल के लिए तारिक खबाबेज “द टैंक” का सामना करेंगे तो वह अपने सभी साथियों में सबसे ऊपर स्थापित हो सकते हैं।

चीन के बीजिंग में रिंग में उतरने से पहले क्रीकलिआ ने खुलासा किया कि उन्होंने कैसे The Home Of Martial Arts में इतिहास बनाने के लिए अपने भौतिक उपहारों का फायदा उठाया।

बचपन का जुनून

क्रीकलिआ का जन्म पूर्वी यूक्रेन के क्रास्नागोराड में हुआ था। 1990 का दशक देश में अशांति का था और उनके छोटे से शहर में बहुत कुछ नहीं चल रहा था, लेकिन उनके पास एक खुशहाल और लड़कपन वाला बचपन था।

उन्होंने कहा कि “लोग ज्यादा खर्च नहीं कर सकते थे, लेकिन ज्यादातर लोगों के लिए ऐसा नहीं था। इसलिए यह स्थिति उन्हें सामान्य नहीं लग रही थी। हम अपना अधिकांश खाली समय बाहर सड़कों पर लड़कों के साथ घूमने-फिरने में बिताते थे। यह मेरे स्कूल समय की जीवन शैली थी।”

छोटी ही उम्र से उनके पास मार्शल आर्ट आ गया था। उन्होंने 6 साल की उम्र में कराटे शुरू किया जब उनके पिता ने फैसला किया कि उनके बेटे को मुसीबत से बाहर रखने के लिए बड़ोविक मार्शल आर्ट्स क्लब सबसे अच्छी जगह होगी। क्रीकलिआ ने स्वीकार किया कि वह बचपन में बड़े ही शरारती थे।

उन्होंने कहा कि “मैं शरारती था, इसलिए मेरे माता-पिता ने मुझे अनुशासित करने के लिए एक अच्छी जगह के रूप में इस स्कूल का चयन किया। यह एक व्यस्त क्लब था, जहां मैंने कई दोस्त बनाए और मुझे वाइब से प्यार था।”

उनके कोच वैलेंटाइन कोझुश्को उनके संरक्षक बन गए और अपने पिता के साथ युवा क्रीकलिआ को उन मूल्यों को सिखाने में मदद की जिसने एक एथलीट के रूप में उनके विकास की नींव रखी।

उन्होंने कहा कि “मेरी सफलता का राज अनुशासन और समर्पण का एक संयोजन है। मेरे माता-पिता ने मुझे अच्छे गुण दिए थे। मैं लंबा और मजबूत था, लेकिन मेरे पिताजी और मेरे कोच ने यह सुनिश्चित किया कि मैं कड़ी मेहनत करूं। वह चाहते थे कि मैं जिम और मार्शल आर्ट के लोकाचार का सम्मान करूं।”

अगला चरण

Roman Kryklia at the ONE AGE OF DRAGONS Open Workout in China

2008 में क्रीकलिआ उत्तर-पूर्व के दूसरे सबसे बड़े देश के शहर खार्किव में चले गए। वह खार्किव नेशनल इंस्टीट्यूट पहुंचे, जहां वह भौतिकी और खगोल विज्ञान का अध्ययन करना चाहते थे। इसके अलावा उन्होंने एक नया जिम भी ज्वॉइन कर लिया, जो उनके मार्शल आर्ट कौशल को अगले स्तर तक ले गया।

यूक्रेन निवासी ने बताय कि “यह मेरे परिवार के लिए एक अच्छा कदम था। ईमानदारी से कहूं तो मेरी जो महत्वाकांक्षा थी, उन्हें पूरा करने के लिए क्रास्नोग्राड ने काफी मदद की और उसी के दम पर मैं आगे बढ़ता चला गया।“

“मैं मैक्सिमस क्लब में शामिल हो गया और मैक्सिम कियो और विक्टर डेमचेंको के तहत प्रशिक्षण शुरू कर दिया। मैक्सिमस विश्व स्तरीय प्रतिभाओं से भरा था। पहले साल के बाद, मैंने अपने प्रदर्शनों की सूची में किकबॉक्सिंग और मॉय थाई को भी अपने कौशल में शामिल कर लिया और फिर प्रो में जाने के बारे में सोचना शुरू कर दिया।”

क्रीकलिआ वर्ष 2008 में राष्ट्रीय युवा किकबॉक्सिंग चैंपियन बन गए और 2010 में शौकिया थाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में रजत पदक जीत लिया, लेकिन उनकी यह सफलता पढ़ाई के रूप में भारी कीमत चुकाने पर आई थी।

उन्होंने कहा कि “मैंने बॉक्सिंग और पढ़ाई दोनों करने की कोशिश की, लेकिन ये दोनों लंबे समय तक साथ नहीं चल सके। जल्द ही मैंने अपना अधिकांश समय जिम में बिताना शुरू कर दिया और पढ़ाई से दूर हो गया।”

“दो साल की परेशानी के बाद मैं खार्किव नेशनल ऑटोमोबाइल और हाईवे विश्वविद्यालय में चला गया। वहां उन्हें खेल में अच्छे परिणाम देने के लिए मेरी जरूरत थी और बदले में उन्होंने मुझे परीक्षा पास करने में मदद की। डीन ने महसूस किया कि मैं एक बेहतरीन खिलाड़ी हूं।”

व्यवस्था ने सभी के लिए काम किया क्योंकि उन्होंने एक मोटर वाहन इंजीनियर के रूप में डिप्लोमा अर्जित किया और विश्वविद्यालय लीग में अपने स्कूल को शीर्ष पर रखने में मदद की।

व्यावसायिक सफलता

Roman Kryklia ahows his skills at the ONE AGE OF DRAGONS Open Workout

युवा और शौकिया रैंकों में अपनी सफलता के बाद क्रीकलिआ ने 2011 में अपने पेशेवर करियर की शुरुआत की। उनके कोच उनकी शुरुआती प्रगति से प्रभावित हुए और उनके लिए अपने जीवन का अगला बड़ा कदम उठाने का मार्ग प्रशस्त किया।

28 वर्षीय एथलीट ने बताया कि “मैक्सिम ने मेरे झगड़े के वीडियो एंड्रे ग्रिडिन को दिखाए – जो दुनिया के हमारे हिस्से में सबसे प्रसिद्ध कोच है। वह एक महान स्कूल का प्रमुख है, लेकिन वह बहुत ही चयनात्मक है। मैं रोमांचित था जब मैक्सिम ने मुझे बताया कि मुझे ऑडिशन देने के लिए बेलारूस के मिन्स्क जाना है।”

ग्रिडिन ने तुरंत युवा हेवीवेट में क्षमता देखी और उसे अपने सानिध्य में ले लिया। वर्ष 2013 में क्रीकलिआ मिन्स्क, बेलारूस चले गए और आधिकारिक रूप से चिनूक मार्शल आर्ट्स क्लब में पूर्णकालिक सदस्य के रूप से शामिल हो गए। वहां उन्होंने अपनी ट्रेडमार्क तकनीकी शैली का विकास किया।

उनके कोच “बुद्धिमान मुक्केबाजी” में विश्वास करते हैं जो त्रुटिहीन तकनीक और समय का प्रदर्शन करते हुए न्यूनतम नुकसान उठाने को प्राथमिकता देते हैं। क्रिएकलिया ने 44-7 रिकॉर्ड बनाया है और केएलएफ, ए 1, वाको प्रो, और एफईए ग्रां प्री वर्ल्ड टाइटल सहित कई पुरस्कार जीते हैं।

ONE Championship

क्रीकलिआ की सफलता ने उन्हें दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट संगठन में पहुंचा दिया और उनकी शुरुआत के लिए इससे बड़ा अवसर नहीं हो सकता है। यदि वह कैडिलैक एरिना में जीत के लिए अपना हाथ उठाते हैं तो वह पहला ही ONE लाइट हैवीवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड टाइटल जीतकर इतिहास बना देंगे।

उन्होंने कहा कि “किकबॉक्सिंग में आप कई खिताब और प्रशंसा हासिल कर सकते हैं, लेकिन फिलहाल ONE सुपर सीरीज का खिताब किसी भी किकबॉक्सर के लिए सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार है। यदि मैं 16 दिसंबर को बीजिंग में जीतता हूं, तो यह मेरे करियर का शिखर होगा।”

यह भी पढ़ें: रोमन क्रीकलिआ का ONE: AGE OF DRAGONS के सह मुख्य आयोजन में बदला लेने का लक्ष्य

बीजिंग | 16 नवंबर | AGAG OF DRAGONS | टीवी: वैश्विक प्रसारण के लिए स्थानीय लिस्टिंग की जाँच करें