Kickboxing

जियोर्जियो पेट्रोसियन ने 2019 की कामयाबी और 2020 के लिए अपने प्लान के बारे में बात की

Dec 22, 2019

जियोर्जियो पेट्रोसियन “द डॉक्टर” के लिए ये साल काफी अच्छा गुजरा है और फिलहाल उनकी फॉर्म को देखते हुए ऐसा कहना गलत नहीं होगा कि वो किसी से रोके रुकने वाले हैं।

???? THE GREATEST OF ALL TIME ????

???? THE GREATEST OF ALL TIME ????Giorgio Petrosyan defeats Samy Sana via unanimous decision to claim the ONE Featherweight Kickboxing World Grand Prix Championship and US$1 million! ????????: Check local listings for global broadcast details????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp????: Shop Official Merchandise ???? http://bit.ly/ONECShop

Posted by ONE Championship on Sunday, 13 October 2019

अर्मेनियन-इटेलियन मूल के जियोर्जियो एलीट स्तर के प्रतिद्वंदियों के खिलाफ लगातार 3 जीत दर्ज कर चुके हैं और इसी दौरान वो ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियन भी बने, जिसके साथ 1 मिलियन यूएस डॉलर्स का प्राइज़ भी मिला था।

34 साल के जियोर्जियो ने कहा है, “ये मेरे लिए दिलचस्प सफर रहा है और साल 2019 मेरे करियर के सबसे महत्वपूर्ण सालों में से एक रहा।”

“साल की शुरुआत में मैंने दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण टूर्नामेंट को जीतने का लक्ष्य तैयार किया था और इसमें सफल भी साबित हुआ।

“सभी मुकाबले मेरे लिए काफी कड़े रहे लेकिन आखिर में इन सभी में जीत हासिल कर काफी अच्छा महसूस कर रहा हूँ।”



पेट्रोसियन ने The Home Of Martial Arts में अपने सफर की शुरुआत मई में की थी, जहाँ उनका सिंगापुर में हुए क्वार्टरफाइनल में पेटमोराकोट पेटयिंडी के साथ मैच नो-कॉन्टेस्ट के रूप में समाप्त हुआ।

जुलाई में कुआलालंपुर में आयोजित हुए इवेंट में एक बार फिर ये दोनों आमने-सामने आए और इस बार पेट्रोसियन को सर्वसम्मत निर्णय से जीत मिली और टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश किया। सेमीफाइनल में उनका सामना जो नाटावट “स्मोकिन” से होना था।

एक महीने बाद ही “द डॉक्टर” को फिर से रिंग में उतरना पड़ा और इस बार उन्होंने पहले ही राउंड में नाटावट को हराकर काफी सुर्खियाँ बटोरीं और इससे उनके फैंस की संख्या में भी इजाफा हुआ।

उन्होंने जबरदस्त तरीके से नाटावट को लेफ्ट-क्रॉस लगाते हुए पहले ही राउंड में नॉकआउट कर दिया था और ONE फेदरवेट किकबॉक्सिंग वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप के फाइनल में प्रवेश किया। और ONE: CENTURY PART II के लिए सैमी सना “AK 47” के साथ फाइनल मुकाबले में जगह बनाई।

RIGHT ON THE ????

RIGHT ON THE ???? Giorgio Petrosyan takes out Smokin' Jo Nattawut with a stunning ONE-PUNCH KNOCKOUT to book his spot in the US$ 1 million ONE Featherweight Kickboxing World Grand Prix Championship Final! ????????????: Check local listings for global broadcast details????: Watch on the ONE Super App ???? http://bit.ly/ONESuperApp

Posted by ONE Championship on Friday, 16 August 2019

सना उस समय जबरदस्त फॉर्म में थे और लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर फाइनल में पहुंचे थे लेकिन पेट्रोसियन ने दर्शाया कि आखिर उन्हें “द डॉक्टर” क्यों कहा जाता है। उन्होंने ना केवल सिल्वर बेल्ट अपने नाम की बल्कि 1 मिलियन यूएस डॉलर्स का प्राइज़ भी जीता।

पेट्रोसियन के इतने बड़े स्टार बनने के पीछे उनके प्रतिद्वंदियों के टैलेंट का भी बहुत बड़ा योगदान रहा।

उन्होंने कहा, “यह सीज़न काफी मुश्किलों भरा रहा, जहाँ शुरुआत से लेकर अंत तक बड़े मुकाबले मेरा इंतज़ार कर रहे थे। पेटमोराकोट, नाटावट और सना के साथ मैच अपने आप में बहुत बड़ी बात रही। अगर इनमें से मुझे अपना यादगार लम्हा चुनना हो तो मैं नाटावट को नॉकआउट करने वाले लम्हे का चुनाव करूंगा।”

“टूर्नामेंट का फॉर्मेट काफी चुनौतीपूर्ण रहा है, आप ट्रेनिंग में थोड़ी भी ढील नहीं दे सकते और प्रतिदिन ट्रेनिंग करना बहुत जरूरी है। यदि आपको किसी मुकाबले में जीत भी मिलती है तो आपको तुरंत अपने अगले प्रतिद्वंदी के बारे में सोचना होता है। यह काफी मुश्किलों भरा दौर रहा लेकिन आखिर में जीतकर काफी अच्छा महसूस हो रहा है।

“वर्ल्ड ग्रां प्री टाइटल जीतने के बाद थोड़ा भावुक भी हो गया था। जब उन्होंने मेरा हाथ ऊपर उठाया तो मेरे दिमाग में कई चीजें घूम रही थीं। किकबॉक्सिंग का बड़ा स्टार बनने के बचपन के सपने से लेकर यहाँ तक पहुंचने के लिए कितने त्याग करने पड़े हैं। मैंने अब खुद को एक बेहतर एथलीट साबित करने में सफलता पाई है।”

Italian kickboxer Giorgio Petrosyan takes out France's Samy Sana in October 2019

टूर्नामेंट में जीत हासिल कर वो मौजूदा दौर के सबसे बेस्ट किकबॉक्सिंग एथलीट्स में अपना नाम दर्ज करवाने में सफल रहे हैं।

“द डॉक्टर” अभी भी अपनी स्किल्स में सुधार कर अपने करियर में एक कदम और आगे बढ़ने के बारे में सोच रहे हैं।

“मैं अभी से अपनी अगली चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूँ। मैंने कभी अपने लिए लंबे समय के लिए टारगेट तैयार नहीं किए, फिलहाल लक्ष्य केवल अपने डिविजन का बेस्ट एथलीट बने रहने का है। मुझे इस बात से कोई समस्या नहीं है कि आने वाले समय में मुझे किसका सामना करना है क्योंकि मैं हर चुनौती के लिए तैयार रहने की कोशिश करता हूँ।”

“हमेशा कुछ नया सीखकर आगे बढ़ने की चाह रखने वाले ही महान बनते हैं। मैं खुद के टैलेंट पर कोई पूर्णविराम नहीं लगाना चाहता, हमेशा कुछ नया सीखने का प्रयास करता रहूंगा, जिम में नए प्रयोग करता रहूंगा जो मेरी बॉडी और फिटनेस के लिए सही हैं।”

Italy's Giorgio Petrosyan connects with a jab on Jo Nattawut in Bangkok

दुनिया के बेस्ट एथलीट्स का सामना करने और अपनी स्किल्स में सुधार करने से अलग “द डॉक्टर” अगले 12 महीने के लिए एक नया लक्ष्य तैयार कर चुके हैं। उनका लक्ष्य है कि वो किसी तरह ONE चैंपियनशिप को आगे ले जाने में भी अहम भूमिका निभाएं।

पेट्रोसियन इटली के हीरो हैं और अगर ONE चैंपियनशिप इटली की ओर अपना रुख करती है तो इससे ज्यादा खुशी की बात उनके लिए कोई नहीं होगी।

“जाहिर तौर पर इटली में ONE चैंपियनशिप को ले जाना मेरा सपना है। लाइव मुकाबले और जिस तरह के एथलीट ONE चैंपियनशिप तैयार करती है, उससे आश्वस्त हूँ कि इटली के लोगों को यह जरूर पसंद आएगा।

“नया साल नई चुनौतियां साथ लेकर आ रहा है, मैं नए और चुनौतीपूर्ण सीज़न के लिए पूरी तरह तैयार हूँ।

“मेरी तरफ से सभी को क्रिसमस की ढ़ेरों शुभकामनाएं और नया साल मुबारक हो और आशा करता हूँ कि 2020 पहले से भी अधिक दिलचस्प सीज़न साबित होगा।”

ये भी पढ़ें: साल 2019 में आखिरी 3 महीने के ONE Super Series के टॉप-5 प्रदर्शन

ONE Championship के साल 2020 के पहले लाइव इवेंट ONE: A NEW TOMORROW के लिए हो जाइए तैयार!

बैंकॉक | 10 जनवरी | टिकेट्सClick here  |  TV: भारत में दोपहर 3:30 बजे से देखें