Mixed Martial Arts

जकार्ता में जल्दी मुकाबला समाप्त करना चाहते हैं एको रोनी सपुत्र

अब एको रोनी सपुत्र अपने मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स करियर में पहली जीत दर्ज करने के बाद ONE: WARRIOR’S CODE में अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे।

शुक्रवार, 7 फरवरी को कई बार के इंडोनेशियाई रेसलिंग चैंपियन का सामना जकार्ता में कंबोडिया के खॉन सिचान से होने वाला है।

जब सपुत्र पिछले साल सर्कल में उतरे थे तो उनका पूरा ध्यान किसी भी तरह जीत दर्ज करने पर था लेकिन इस बार उन्हें उम्मीद है कि इस्तोरा सेनयन एरीना में वो शानदार प्रदर्शन करने में सफल रहेंगे।

Indonesian wrestling star Eko Roni Saputra lunges forward with a cross on Niko Soe.

उन्होंने कहा, “मैं अपने प्रदर्शन पर फ़ोकस करना चाहता हूँ जिससे मुझे अच्छी शुरुआत मिल सके।”

“मैं पहले स्थिति को समझने की कोशिश करूंगा लेकिन अगर मुमकिन रहा तो मैं जल्द से जल्द जीत हासिल करने की कोशिश करूंगा। मैं अपने फैंस को निराश नहीं देखना चाहता।”

Evolve टीम के साथ सिंगापुर में सपुत्र अक्टूबर से लगातार कड़ी मेहनत कर रहे हैं जिससे वो ब्राजीलियन जिउ-जित्सु और बॉक्सिंग स्किल्स में सुधार कर सकें और ऑल राउंड मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट बनें। जिस तरह से वो आगे बढ़ रहे हैं उससे उनका खुद पर भरोसा बढ़ा है लेकिन वो अपने प्रतिद्वंदी की स्किल्स को कम आंकने की भूल नहीं कर सकते।

कुन खमेर में सिचान के नाम 50 जीत हैं और रिस्की उमर के खिलाफ सर्वसम्मत निर्णय से जीत हासिल कर उन्होंने दिखाया था कि वो क्या करने में सक्षम हैं। उनके अगले प्रतिद्वंदी खड़े रहकर अटैक करने की कोशिश करेंगे और उन्होंने अपने गेम प्लान को किसी से छुपाया नहीं है।

सपुत्र ने बताया, “उनकी स्ट्राइकिंग अच्छी है और मुझे उनकी एल्बोज़ का पहले से अनुमान लगाकर रखना होगा क्योंकि यदि मुझे एल्बो लगी तो ये जरूर मेरे लिए खतरनाक साबित होगा। मैं नहीं चाहता कि इस कारण रेफरी या डॉक्टर को मैच रोकना पड़े।”

“मैं टेकडाउन करने पर ज्यादा ध्यान दे रहा हूँ और मुझे लगता है कि ग्राउंड गेम से ही मैं मैच पर पकड़ बना सकता हूँ। मुझे संभलकर रहना होगा क्योंकि उन्हें पहले से पता होगा कि मैं रेसलिंग बैकग्राउंड से आती हूँ इसलिए मुझे उनकी नी का भी अच्छे से अनुमान लगाना होगा।”



सपुत्र ने चौंकन्ना रहने की योजना बनाई है लेकिन वो बहुत जल्दी अपने गेम में बदलाव भी कर लेते हैं।

उन्होंने आगे कहा, “मैं उन्हें ग्राउंड पर लाने की पूरी कोशिश करूंगा और प्रयास करूंगा कि मैच को फिनिश कर सकूं। चाहे वो सबमिशन की बात तो या फिर ग्राउंड एंड पाउंड की, ये सभी चीजें उस समय की परिस्थितियों पर निर्भर करती हैं लेकिन मैंने ट्रेनिंग में बहुत चीजें सीखी हैं।”

“सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि मुझे ग्राउंड गेम के जरिए दबाव बनाए रखना होगा क्योंकि एक बार अगर वो निकलने में सफल रहे तो मेरे लिए दूसरा मौका बनाना बहुत मुश्किल हो जाएगा और ये बात उन्हें पहले से पता होगी।

“ये स्ट्राइकर और ग्रैपलर के बीच एक क्लासिक मैच होने वाला है। वो जरूर मेरे टेकडाउन के प्रयासों से बचने की कोशिश करेंगे तो मैं उनकी स्ट्राइक्स से। मैं उन्हें कम नहीं आंकना चाहता क्योंकि मुकाबला एक सेकेंड में इधर से उधर जा सकता है।”

पिछला मैच जिस अंदाज में समाप्त हुआ था उसके कारण 28 वर्षीय एथलीट इस मैच में फिनिश को लेकर इतना सोच रहे हैं।

Eko Roni Saputra at ONE DAWN OF VALOR

सपुत्र को पिछले मैच में जकार्ता के लोगों का पूरा सपोर्ट मिला था लेकिन उन्हें अपनी स्किल्स को दिखाने का मौका ही नहीं मिल पाया क्योंकि मुकाबला चोट के कारण समाप्त हुआ था।

हालांकि उन्हें जीत से जरूर अच्छा महसूस हुआ होगा, वो इस बार ऐसा प्रदर्शन करना चाहते हैं जिससे इंडोनेशियाई लोगों को उन पर गर्व हो और इस तरह के प्रदर्शन से सभी चौंक उठें।

28 वर्षीय स्टार ने कहा, “मुझे घरेलू फैंस लगातार चीयर कर रहे थे और इससे मैं बहुत प्रोत्साहित महसूस कर रहा था। एक रेसलर होने के चलते मैंने कई अन्य देशों में मैच लड़े हैं लेकिन इस तरह का समर्थन मेरे लिए एक नया अनुभव था। मैं बहुत प्रोत्साहित महसूस कर रहा था।”

“इससे बेहतर प्रोत्साहन शायद मुझे नहीं मिल सकता था क्योंकि अपने देश के लोगों के सामने खुद को साबित करने का ये बेहतरीन मौका था। मैं अपना बेस्ट प्रदर्शन कर ये दिखाना चाहता हूँ कि मैंने खुद में कितना सुधार किया है। इस कारण अगले मैच में मुझे उम्मीद होगी कि मैं अपना बेस्ट प्रदर्शन कर सकूं।”

ये भी पढ़ें: जकार्ता में पेटमोराकोट को हराकर एक बार फिर उलटफेर के लिए तैयार हैं जमाल युसुपोव

मनीला | 31 जनवरी | ONE: FIRE & FURY | टिकेट्सयहां क्लिक करें  

*ONE Championship की ऑफिशियल मर्चेंडाइज़ के लिए यहां हमारी शॉप पर आएं