विशेष कहानियाँ

होनोरियो बानारियो ने मार्शल आर्ट्स के लिए क्यों छोड़ दिया बचपन का सपनाा

अक्टूबर 9, 2019

होनोरियो बनारियो “द रॉक” एक सपने को जी रहे हैं। 30 वर्षीय पूर्व ONE फेदरवेट वर्ल्ड चैंपियन फिलीपींस के सबसे लोकप्रिय मार्शल आर्ट्स जिम में प्रशिक्षण ले रहे हैं। वो रविवार, 13 अक्टूबर को ONE: CENTURY PART II में दिग्गज शिन्या एओकी “टोबिकन जुडान” का सामना करने के लिए तैयार हैं।

भले ही आज वो दुनिया के सबसे बड़े मार्शल आर्ट संगठन में एक स्टार हैं लेकिन “द रॉक” ने कभी नहीं सोचा था कि वह एक पेशेवर एथलीट बनेंगे। वास्तव में उनका बचपन का सपना बहुत अलग था। बेंगुएट मूल निवासी ने बताया कि “बचपन में मुझे पुलिस अधिकारी बहुत पसंद थे क्योंकि वे बहुत सम्मानजनक होते थे। मैं भी देश की सेवा करना चाहता था। इसलिए पुलिस अधिकारी बनना मेरा मुख्य लक्ष्य था।”

बानारियो अपने देश से नशीली दवाओं और हिंसा को खत्म करना चाहता था। इस बात को ध्यान में रखते हुए “द रॉक” ने कॉर्डिलेरा करियर डेवलपमेंट कॉलेज में क्रिमिनोलॉजी का अध्ययन किया और बचपन के सपने को एक वास्तविकता में बदलने की तरफ कदम बढ़ाया।

वे बताते हैं कि “पुलिस अधिकारियों पर भ्रष्ट होने या अपनी ताकत का इस्तेमाल कर लोगों को परेशान करने के भी आरोप लगते थे। जो कम पढ़े-लिखे थे वो खराब छवि के कारण पुलिस अधिकारियों से डरते थे। मैं पुलिस की इस छवि को बदलना चाहता था। आज पुलिस अधिकारियों को अनुशासित बनाया जा रहा है। भ्रष्ट और गलत अधिकारियों को उनके वरिष्ठ अधिकारियों और सरकार द्वारा दंडित किया जा रहा है। मुझे लगता है कि यह कदम सही दिशा में जा रहा है।”

2009 में अपराध विज्ञान में स्नातक करने और पुलिस अकादमी बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद बानारियो अपने सपने के पूरा करने के कुछ ही कदम दूर था। लेकिन जल्द ही उनकी राह में रोड़े आ गए। फिलिपिनो अपने कॉलेज के वुशू कार्यक्रम में एक शीर्ष एथलीट थे। वह राष्ट्रीय जूनियर वुशू टीम में भी शामिल हुए, जिसे मार्क सांगियाओ द्वारा प्रशिक्षित किया गया था।

Honorio "The Rock" Banario looks to land his strikes at ONE: DAWN OF HEROES

जल्द ही उन्होंने बागुइओ सिटी में संगियाओ की टीम लाकी जिम में प्रशिक्षण लिया और फरवरी 2010 में अपनी मिक्स्ड मार्शल आर्ट की शुरुआत की। बनारियो के पास प्रतियोगिता के लिए एक स्वाभाविक योग्यता थी। बस उन्हें अपने लक्ष्य के बारे में दोबारा से विचार करने की जरूरत थी।

उन्हाेंने कहा कि “एक पारंपरिक परिवार में आपसे अपेक्षा की जाती है कि आप जो अध्ययन करते हैं उसी में करियर चुनें। हालांकि अगर हम दूसरे किसी और के बारे में सोचते हैं तो हमारे पास करियर के बहुत सारे विकल्प हो सकते हैं। मैं यह दिखाना चाहता था कि एक पुलिस अधिकारी बनना ही एकमात्र रास्ता नहीं है।”



“द रॉक” ने बहुत गहराई से विचार किया तो उन्हें जल्द ही खुद के लिए मार्शल कलाकार बनने का बुलावा महसूस हुआ जो दूसरे विकल्प की तुलना में ज्यादा मजबूत था। उन्होंने इसे ना केवल अपने परिवार के लिए कुछ साबित करने के अलावा एक नई राह पर आगे बढ़ने के लिए एक चुनौती के रूप में लिया।

वह आगे बताते हैं कि “मार्शल आर्ट्स वह रास्ता है जिसे मैंने चुना है। भले ही यह मुश्किल हो लेकिन मैं इसे करना चाहता था। मैं इस खेल से प्यार करता हूं, और यह वह खेल है जिसने मुझे देश में सम्मान दिलाने में मदद की है। इसलिए मैं इसे खेलना बंद नहीं करना चाहता।”

“मेरा मानना ​​है कि बहुत सारे लोग एक पुलिस अधिकारी बन सकते हैं, लेकिन बहुत से लोग विश्व चैंपियन नहीं बन सकते हैं। यह एक ऐसा रास्ता है जिसे कुछ लोग ही चुनते हैं। कम ही लोग होते हैं जो इस जगह तक पहुंचने में सक्षम होते हैं जो खेल के उच्चतम स्तर पर प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं।”

Philippine martial artist Honorio Banario unleashes ground and pound

बनारियो ने भले ही अपने करियर की राह को बदल दिया हो लेकिन उन्होंने कभी उन लक्ष्यों को नहीं छोड़ा, जिन्हें वे मूल रूप से हासिल करना चाहते थे। ONE Championship में एक मिक्स्ड मार्शल कलाकार के रूप में वो अभी भी फिलीपींस और अपने वतन की सेवा करने की अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने में सक्षम है।

वो बताते हैं कि “कुछ युवा आज मार्शल आर्टिस्टों को अपने आदर्श के रूप में देखते हैं। ठीक उसी तरह जैसे मैंने बचपन में पुलिस अधिकारियों को देखा। मैं मार्शल आर्ट के गुणों का अभ्यास करके एक योग्य रोल मॉडल बनने की पूरी कोशिश करता हूं। मुझे यह भी लगता है कि मैं अभी भी खेल के माध्यम से देश का प्रतिनिधित्व करने में सक्षम हूं। एक तरह से मैं देश की सेवा कर रहा हूं।”

“जिस तरह से पुलिस अधिकारी सड़कों पर लोगों की रक्षा करके सेवा करते हैं। हम मार्शल आर्टिस्ट के रूप में वैश्विक मंच पर देशवासियों का प्रतिनिधित्व करके देश की सेवा करते हैं और दिखाते हैं कि फिलिपिनो क्या कर सकते हैं।”

“द रॉक” वैश्विक मंच टोक्यो, जापान के रयोगोकू कोकुगिकन में ONE: CENTURY PART II में लाइटवेट मुकाबले में एओकी का सामना कर एक बार फिर अपने देश का प्रतिनिधित्व करेंगे।

जापानी मार्शल आर्ट आदर्श के साथ कांटे की टक्कर देना एक तरह की चुनौती है जो बनारियो को उनके द्वारा चुने गए रास्ते में एक चुनौती है। वह कल्पना करने की बजाय पूरी दृढ़ता से आगे बढ़ना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि ” मुझे इसे करियर के रूप में चुनने का कोई पछतावा नहीं है। मैं मार्शल आर्ट्स में एक लंबा और शानदार करियर बनाने के लिए बेहतर करना चाहता हूं।”

ये भी पढ़ेंः शिन्या ओकी को चौंकाने के लिए होनोरियो बनारियो की कुछ बड़ा करने की योजना

टोक्यो| CENTURY | ONE Championship का 100वां लाइव इवेंट| टिकट खरीदने के लिए: यहां क्लिक करें

  • यूएसए में PART I 12 अक्टूबर को 8 ईएसटी पर और PART II 13 अक्टूबर को सुबह 4 बजे ईएसटी पर देखें
  • भारत में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 5:30 बजे IST और PART II 1:30 बजे IST पर देखें
  • जापान में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 9 बजे JST और PART II को शाम 5 बजे JST में देखें
  • इंडोनेशिया में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 7 बजे WIB और PART II 3pm WIB पर देखें
  • सिंगापुर में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे एसजीटी और PART II 4 बजे एसजीटी पर देखें
  • फिलीपिंस में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे पीएचटी और PART II 4 बजे पीएचटी पर देखें

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट्स प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट्स का प्रदर्शर करेंग। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप के आयोजनों को बढ़ावा नहीं दिया।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रयोगोकु कोकुगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्री चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच के साथ-साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन तलाश करेगा।