विशेष कहानियाँ

मिलिट्री की वजह से ब्रेंडन वेरा को वर्ल्ड चैंपियन बनने में मदद मिली

अक्टूबर 6, 2019

ब्रेंडन “द ट्रुथ” वेरा मौजूदा समय के ONE हेवीवेट वर्ल्ड चैंपियन हैं, अगर वो अमेरिकन एयर फोर्स का हिस्सा ना बने होते तो शायद कभी इस टाइटल को नहीं जीत पाते।

फिलीपीनो-अमेरिकन मूल के वेरा ONE: CENTURY PART II में लाइट हेवीवेट चैंपियनशिप के लिए दो डिविजन के ONE वर्ल्ड चैंपियन आंग ला न संग “द बर्मीज़ पाइथन” को चैलेंज करेंगे। ब्रेंडन मार्शल आर्ट्स की दुनिया में अपनी कामयाबी के लिए मिलिट्री को श्रेय देते हैं।

41 साल के वेरा ने कहा, “देखिए, अब मैं अपने जीवन यापन के लिए क्या करता हूं – मैं एक वर्ल्ड चैंपियन हूं।”

“जरा सोचिए कि इस मुकाम तक पहुंचने के लिए कितनी एनर्जी और ताकत लगी होगी। अगर मैंने खुद को सही दिशा में पुश नहीं किया होता, तो किसी भी गलत काम में पड़ गया होता।”

वेरा वर्जीनिया के नोरफॉक में एक फिलीपीनो परिवार में पले-बढ़े। नोरफॉक में दुनिया का सबसे बड़ा नेवी कॉम्पलेक्स है। मिलिट्री लाइफस्टाइल वहां के लोगों की जिंदगी का खास हिस्सा बन गया, जिसका ब्रेंडन पर भी खासा प्रभाव पड़ा।

जब “द ट्रुथ” ने ओल्ड डोमिनियन यूनिवर्सिटी छोड़ने का फैसला किया, तो उन्होंने अपने बचपन के पैशन को ध्यान में रखते हुए यूएस एयर फोर्स में जाने का निर्णय लिया।

उन्होंने बताया, “मुझे लग रहा था कि मैं कॉलेज में अपना समय खराब कर रहा था। मेरे पास स्कॉलरशिप थी, लेकिन मैंने सोच लिया था कि वो मेरे लिए नहीं थी।”

“वहां रहकर किसी आम जॉब को करने की बजाय मैंने मिलिट्री में जाने का फैसला किया। मैं बचपन से ही मिलिट्री का बड़ा फैन रहा हूं। मुझे एयर शो और नेवी के शो में जाना बहुत पसंद था। इस वजह से मिलिट्री में भर्ती होना चाहता था। और देखना चाहता था कि मैं कितनी दुनिया देख सकता हूं।”

brandon vera one heavyweight world champion

अमेरिकन एयर फोर्स का हिस्सा होते हुए वेरा की जिंदगी में कई शानदार अनुभव आए। उन्हें कोलोराडो के ओलंपिक ट्रेनिंग सेंटर में फुल टाइम ट्रेनिंग करने का मौका भी मिला।

साल 1999 में लगी गंभीर चोट की वजह से उन्हें मेडिकली डिस्चार्ज किया गया। इस चोट ने उन्हें कॉम्बैट स्पोर्ट्स की तरफ जाने के लिए प्रेरित किया।

एक आम नागरिक के रूप में शुरुआती लाइफ आसान नहीं रही, लेकिन सर्विस में रहने की वजह से उन्हें मार्शल आर्ट्स में बढ़ने में मदद मिली, जहां कामयाबी सिर्फ कड़ी मेहनत के दम पर ही मिलती है।

हेवीवेट चैंपियन ने मिलिट्री के बाद टीमवर्क और आपसी विश्वास को मिस किया, लेकिन जिम में साथियों के बीच उन्हें ये हासिल हुआ। यहां उन्हें मिलिट्री में मिली वैल्यू काम आई।



वो कहते हैं, “मिलिट्री की वजह से मेरी जिंदगी और ट्रेनिंग में अनुशासन आया।”

“जब मैं अनुशासन की बात करता हूं तो मेरा कहना है कि जब हम किसी काम को कर रहे हैं, जो हमें ही करना है। चाहे खुद को ट्रेनिंग के लिए ज्यादा पुश करना हो या फिर चॉकलेट जैसी चीज़ ना खाना क्योंकि वो वजन बढ़ा रही है। मुझे पता है कि मेरा क्या काम है। मैं जानता हूं कि क्या दांव पर लगा है और उसके लिए क्या करने की जरूरत है। खुद को खुशकिस्मत मानता हूं कि मैंने ये सब छोटी उम्र में ही सीख लिया।”

“इस तरह का अनुशासन मिलिट्री की वजह से मिला। मैं जिम्मेदार आदमी की तरह वही कर रहा हूं, जो कि मुझे करने की जरूरत है। दुनिया के काफी सारे लोग इस चीज़ को मिस करते हैं।”

brandon vera with one heavyweight championship belt

“द ट्रुथ” को लगता है कि यही आदतें उन्हें 13 अक्टूबर को टोक्यो में आंग ला न संग के खिलाफ वर्ल्ड टाइटल बाउट की तैयारी में मदद करेंगी।

मिलिट्री में होने की वजह से उन्होंने एक और महत्वपूर्ण चीज़ सीखी, जो कि लोगों को मदद करना और उन्हें बचाना है। वेरा अभी अपने पूर्वजों की धरती फिलीपींस में रह रहे हैं। यूएस एयर फोर्स में बिताया गया समय लोगों के प्रति उनकी ड्यूटी का एहसास कराता है।

उन्होंने लोगों की सेवा की और अब वो ऐसी चीज़ के लिए कम्पीट कर रहे हैं, जो कि उनकी निजी जिंदगी से भी बड़ी है।

वेरा ने जोर देते हुए कहा, “ये हमसे बढ़कर है। मैं अब मिलिट्री में नहीं हूं। लेकिन मार्शल आर्ट्स और दूसरा वर्ल्ड टाइटल जीतना सिर्फ मेरे लिए नहीं है। मैं जिंदगी के इस खेल में एक परफॉर्मर हूं। मैं बस ये सुनिश्चित करना चाहता हूं कि जो कुछ भी कर रहा हूं, उसमें सबकी भलाई हो।”

ये भी पढ़ें: ब्रेंडन वेरा को ONE: सेंचुरी में फिनिश के अलावा कुछ भी स्वीकार नहीं

ONE: CENTURY | ONE Championship का 100 वां लाइव इवेंट | टिकट खरीदने के लिए यहां क्लिक करें

  • यूएसए में PART I 12 अक्टूबर को 8 ईएसटी पर और PART II 13 अक्टूबर को सुबह 4 बजे ईएसटी पर देखें
  • भारत में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 5:30 बजे IST और PART II 1:30 बजे IST पर देखें
  • जापान में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 9 बजे JST और PART II को शाम 5 बजे JST में देखें
  • इंडोनेशिया में PART I को 13 अक्टूबर को सुबह 7 बजे WIB और PART II 3pm WIB पर देखें
  • सिंगापुर में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे एसजीटी और PART II 4 बजे एसजीटी पर देखें
  • फिलीपिंस में PART 1 13 अक्टूबर को सुबह 8 बजे पीएचटी और PART II 4 बजे पीएचटी पर देखें

ONE: CENTURY इतिहास की सबसे बड़ी विश्व चैम्पियनशिप मार्शल आर्ट प्रतियोगिता है जिसमें 28 विश्व चैंपियनशिप विभिन्न मार्शल आर्ट शैलियों का प्रदर्शन करेंगे। इतिहास में किसी भी संगठन ने कभी भी एक ही दिन में दो पूर्ण पैमाने पर विश्व चैम्पियनशिप इवेंट आयोजित नहीं किए हैं।

13 अक्टूबर को जापान के टोक्यो में प्रसिद्ध रोयोगोकू कोकूगिकन में कई वर्ल्ड टाइटल मुकाबलों, वर्ल्ड ग्रां प्रिक्स चैंपियनशिप फाइनल की एक तिकड़ी और कई वर्ल्ड चैंपियन बनाम वर्ल्ड चैंपियन मैच लाने के साथ The Home Of Martial Arts नई जमीन पर दस्तक देगा।