मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स

प्रो रेसलिंग के बहुत बड़े फैन हैं अर्जन भुल्लर

अर्जन “सिंह” भुल्लर की वर्ल्ड-क्लास फ्रीस्टाइल रेसलिंग ने उन्हें दुनिया के टॉप हेवीवेट मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट बनने में मदद की है और उन्हें केवल सर्कल से ही नहीं बल्कि रेसलिंग रिंग से भी खासा लगाव है।

कनाडाई-भारतीय सुपरस्टार जो इस साल ब्रेंडन “द ट्रुथ” वेरा को ONE हेवीवेट वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए चैलेंज करने वाले हैं, वो बचपन से ही प्रोफेशनल रेसलिंग के बहुत बड़े फैन रहे हैं।

भुल्लर ने हाल ही में अपने जुनून, अपने जीवन और उन मौजूदा स्टार्स के बारे में भी बताया जो उन्हें सबसे अधिक पसंद हैं और साथ ही ये भी बताया कि क्यों उन्हें ऑल एलीट रेसलिंग (AEW) से इतना लगाव है।

बचपन से बहुत बड़े फैन रहे हैं

34 साल के हो चुके भुल्लर बचपन से ही प्रो रेसलिंग सुपरस्टार्स की एथलेटिक क्षमता के बड़े फैन रहे हैं।

American Kickboxing Academy के स्टार ने कहा, “मैं इसका बहुत बड़ा फैन रहा हूं।”

“हमारे पास ऐसे तकिये थे जिनपर माचोमैन और अल्टीमेट वॉरियर की प्रतिमा छपी होती थी और अभी भी वो हमारे पास हैं। मेरे भाई काले बैग में नकली सांप रखकर इस तरह मेरी तरफ आते थे जैसे वो जेक ‘द स्नेक’ रॉबर्ट्स हों। ऐसी चीजों को करते हुए ही हम बड़े हुए हैं। वो उस समय के सबसे बड़े सुपरस्टार्स हुआ करते थे और भला कौन उनकी नकल नहीं करना चाहता होगा।”

हालांकि, कंपनी में उन दिनों और भी बड़े सुपरस्टार्स हुआ करते थे लेकिन कनाडा में जीवन व्यतीत करने के कारण उनके लिए अपने फेवरेट रेसलर का चुनाव करना बहुत आसान है। संयोग से “सिंह” और उनके रेसलिंग आइडल के बीच कई समानताएं भी हैं।

उन्होंने कहा, “बिना कोई संदेह मेरे फेवरेट रेसलर ब्रेट हार्ट ही रहे हैं। आप ऐसे महान परफॉर्मर को कैसे नज़रअंदाज़ कर सकते हैं। वो कनाडाई हीरो रहे हैं।”

“उनका पूरा परिवार प्रो रेसलिंग से जुड़ा हुआ था, इसलिए मुझे भी उनसे काफी लगाव होने लगा था। उनके जिम “The Dungeon” की ही भांति हमारे घर में भी एक वैसा ही जिम हुआ करता था।”

भुल्लर ने यहां तक कि उस रेसलिंग टूर्नामेंट के बारे में भी बताया जो हार्ट फैमिली से संबंधित था।

भुल्लर ने बताया, “उन्होंने उसे स्टू हार्ट इंविटेशनल नाम दिया था। इस टूर्नामेंट का नाम ब्रेट के पिता के नाम पर रखा गया था और मेरे उस मैच के दौरान वो जिंदा थे।”



ऑल एलीट रेसलिंग (AEW) है पसंद

हालांकि, WWE पिछले कई दशकों से प्रो रेसलिंग इंडस्ट्री के टॉप पर रही है लेकिन 2019 में उसे एक बहुत बड़ा झटका लगा जब AEW की इंडस्ट्री में एंट्री हुई।

शिकागो में हुए एक इंडिपेंडेंट रेसलिंग शो को कोडी रोड्स और द यंग बक्स ने काफी सफल बनाया था और इसी के बाद AEW की स्थापना हुई। शो को इतनी सफलता मिली कि आने वाले महीनों में उनके द्वारा खुद की रेसलिंग कंपनी की स्थापना की खबरों ने तूल पकड़ना शुरू कर दिया था।

ऐसा करने में उन्हें अमेरिकी बिजनेसमैन शाहिद खान और उनके बेटे टोनी खान का साथ मिला, जो AEW के प्रेसिडेंट और सीईओ हैं। कुछ ही समय बाद AEW ने प्रो रेसलिंग इंडस्ट्री में WWE के बाद दूसरी बड़ी रेसलिंग कंपनी का तमगा हासिल कर लिया। भुल्लर ने टोनी खान की तारीफ की कि किस तरह उन्होंने कंपनी के सफल होने में अहम योगदान दिया।

हेवीवेट स्टार ने कहा, “वो सराहना के योग्य हैं क्योंकि WCW के बाद ऐसी कोई रेसलिंग कंपनी नहीं रही जिसने WWE को इतनी कड़ी टक्कर दी हो।”

“वो अच्छी चीजें कर रहे हैं और मुझे लगता है कि इसमें सबसे बड़ा योगदान टोनी खान का रहा। वो अच्छा काम कर रहे हैं, वो अभी युवा हैं जैसे अपने दिनों में विंस मैकमैहन हुआ करते थे। वो निरंतर नए-नए आइडिया सामने लेकर आ रहे हैं और चीजों को दूसरों से अलग तरीके से करना जानते हैं। चीजें ज्यादा स्क्रिप्टेड भी नहीं लगतीं और ना ही वो ऐसा करने की कोशिश करते हैं जैसे हॉलीवुड में एकदम परफेक्ट चीजों को करने पर फोकस किया जाता है।

“उन्होंने क्रिएटिव टीम को आजादी दी हुई है। WWE से उलट सुपरस्टार्स अक्सर खुद के आइडिया सामने लेकर आते रहते हैं। मैं WWE को नीचा नहीं दिखाना चाहता लेकिन मुझे AEW का प्रोडक्ट अभी तक बहुत पसंद आया है। वो नई और दिलचस्प चीजें करने की कोशिश कर रहे हैं और ज्यादा से ज्यादा लोग उनके साथ जुड़ रहे हैं, उसके पीछे भी ये ही कारण हैं।”

मौजूदा समय में बेबीफेस सुपरस्टार्स की बात की जाए तो भुल्लर को AEW के कैनी ओमेगा सबसे अधिक पसंद हैं।

मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स सुपरस्टार ने कहा, “वो इससे पहले इंडिपेंडेंट सर्किट की दुनिया में बहुत बड़ा नाम हुआ करते थे। उन्होंने WWE के साथ ना जाने का फैसला लिया और वो काफी टैलंटेड भी हैं। जब से मैंने उन्हें देखना शुरू किया है तभी से मैं उनका बहुत बड़ा फैन रहा हूं और मुझे लगता है कि वो बहुत बड़े फ्यूचर स्टार हैं।”

आगे का लक्ष्यArjan Bhullar defeats Mauro Cerilli at ONE CENTURY

23 मई को AEW ने फ्लोरिडा में Double Or Nothing पे-पर-व्यू का आयोजन किया था, जो भुल्लर को काफी पसंद आया। संयोग से मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स लैजेंड विटोर “द फिनोम” बेल्फोर्ट भी उस इवेंट में रिंगसाइड मौजूद रहे।

भुल्लर ने कहा, “उन्होंने शानदार इवेंट का आयोजन किया और वहां विटोर भी मौजूद रहे। माइक टायसन ने नई चैंपियनशिप बेल्ट का अनावरण भी किया। इस दौरान ONE के चेयरमैन और सीईओ चाट्री का भी नाम मैंने सुना।”

COVID-19 महामारी के चलते Double Or Nothing बिना लाइव क्राउड के आयोजित हुआ था। कोरोनावायरस के इस दौर में वो ही नहीं बल्कि मार्शल आर्ट्स कंपनियां और प्रोफेशनल रेसलिंग कंपनियों समेत सभी स्पोर्ट्स इवेंट्स खाली एरीना में हो रहे हैं।

उन्होंने कहा, “ये एक कठिन दौर है और क्राउड के ना होने से इवेंट को देखने का मेरा नजरिया बदला-बदला सा नजर आया था। क्राउड ही प्रोफेशनल रेसलिंग इंडस्ट्री का बिजनेस के लिए सबसे बड़ा हथियार है।”

“कठिन परिस्थितियों के बाद भी उन्होंने अपना बेस्ट देने की कोशिश की और किसी तरह इस महामारी के दौरान भी शोज़ का आयोजन कर पा रहे हैं। Double Or Nothing इसका सबसे बड़ा उदाहरण साबित हुआ।

“स्टेडियम में शो का आयोजन एक अच्छा फैसला रहा, ये एक ऐसी चीज रही जो फैंस को पिछले कई सालों में देखने को नहीं मिली है और कॉम्पिटिशन का लेवल ऐसे ही तो बढ़ता है। टायसन की मौजूदगी ने भी शो में चार चांद लगाए और सभी मायनों में ये एक अच्छा शो साबित हुआ।”

इस सबके बाद फिलहाल भुल्लर, वेरा को हराने की रणनीति तैयार कर रहे हैं और उन्हें उम्मीद है कि एक दिन वो प्रो रेसलिंग रिंग में भी फाइट करते हुए नजर आएंगे।

उन्होंने कहा, “सच कहूं तो वर्ल्ड चैंपियन बनने के बाद मैं प्रो रेसलिंग में भी हाथ आजमाना चाहता हूं। मैं सच में प्रो रेसलिंग का आज भी बहुत बड़ा फैन हूं।”

ये भी पढ़ें: अर्जन भुल्लर ने परफेक्ट तरीके से पूरा किया #WipeItDown चैलेंज